You are on page 1of 59

परीक्षा नोिटस सं. 2/2018-सीडीएस-(I) िदनांक : 08.11.

2017

(आवेदन भरने की अंितम तारीख 04.12.2017)

सि मिलत रक्षा सेवा परीक्षा (I), 2018

[एसएससी मिहला (गैर-तकनीकी) कोसर् सिहत]

(आयोग की वेबसाइट www.upsc.gov.in)

मह वपण
ू र्
1. परीक्षा के िलए उ मीदवार अपनी पात्रता सिु नि चत कर ल :
परीक्षा के िलए आवेदन करने वाले उ मीदवार को सिु नि चत करना चािहए िक वे परीक्षा म प्रवेश हे तु
सभी पात्रता शत को पूरा करते ह। परीक्षा के सभी तर पर उनका प्रवेश पूणत
र् : अनंितम होगा बशत
िक वे िनधार्िरत पात्रता शत को परू ा करते ह । उममीदवार
् को मात्र प्रवेश पत्र जारी िकए जाने का अथर्
यह नहीं होगा िक उनकी उममीदवारी
् आयोग वारा अंितम प से सिु नि चत कर दी गई है ।
उ मीदवार वारा साक्षा कार/ यिक्त व परीक्षण म अहर्ता प्रापत
् करने के बाद ही मल
ू प्रमाण पत्र के
संदभर् म पात्रता शत का सतयापन
् िकया जाता है ।
2. आवेदन कैसे कर :
उ मीदवार वेबसाइट www.upsconline.nic.in का प्रयोग करके ऑनलाइन ही आवेदन कर।
ऑनलाइन आवेदन प्रपत्र भरने के िलए िवसत
् त
ृ अनद
ु े श उपयक
ुर् ् त वेबसाइट पर उपलबध
् ह। अनद
ु ेश
संक्षेप म पिरिश ट-II म िदए गए ह ।
3. आवेदन भरने की अंितम तारीख :
ऑनलाइन आवेदन प्रपत्र 04 िदस बर, 2017 सांय 6:00 बजे तक भरे जा सकते ह ।
4. परीक्षा आरं भ होने के तीन सपताह
् पूवर् पात्र उ मीदवार को ई-प्रवेश पत्र जारी िकए जाएंगे। ई-
प्रवेश पत्र संघ लोक सेवा आयोग की वेबसाइट www.upsc.gov.in पर उपल ध होगा िजसे
उ मीदवार वारा डाउनलोड िकया जा सकता है । डाक वारा कोई प्रवेश पत्र नहीं भेजा जाएगा।
ऑनलाइन आवेदन प्रपत्र भरते समय सभी आवेदक को वैध और सिक्रय ई-मेल आईडी प्रसत
् ुत
करना अपेिक्षत है क् य िक आयोग उनसे संपकर् करने के िलए इलेक्ट्रािनक माधयम
् का इसते
् माल
करे गा।

 
5. गलत उ तर के िलये दं ड :
अभयथीर्
् नोट कर ल िक व तुिन ठ प्रकार के प्रशन
् पत्र म उ मीदवार वारा िदए गए गलत उ तर
के िलए दं ड (नेगेिटव मािकर्ंग) िदया जाएगा।
् पत्रक) म िलखने और िचि हत करने हे तु उममीदवार
6. ओएमआर पत्रक (उततर ् केवल काले रं ग के
बाल पेन का इसते
् माल कर। िकसी अनय
् रं ग के पेन का इसते
् माल विजर्त है , पिसल अथवा सयाही

वाले पेन का इसते
् माल न कर। उममीदवार
् नोट कर िक ओएमआर पत्रक म िववरण कूटबद्ध
करने/भरने म िकसी प्रकार की चूक/त्रिु ट/िवसंगित, िवशेषकर अनुक्रमांक तथा परीक्षण पुि तका
ंृ ला कोड के संदभर् म, होने पर उततर
ख ् पत्रक असवीक
् ृ त िकया जाएगा। उममीदवार
् को यह भी
सलाह दी जाती है िक वे नोिटस के पिरिशषट-III
् म िनिहत ‘िवशेष अनद
ु े श ’ को सावधानीपूवक
र् पढ़
ल।
7. उ मीदवार के मागर्दशर्न हे तु सुिवधा काउ टर :
उ मीदवार अपने आवेदन प्रपत्र, उ मीदवारी आिद से संबंिधत िकसी प्रकार के
मागर्दशर्न/सूचना/ प टीकरण के िलए कायर्िदवस म 10.00 बजे और 5.00 बजे के मधय
् तक
आयोग पिरसर के गेट ‘सी’ के पास संघ लोक सेवा आयोग के सुिवधा काउं टर पर यिक्तगत प से
अथवा दरू भाष सं. 011-23385271/011-23381125/011-23098543 पर संपकर् कर सकते ह।
8. मोबाइल फोन प्रितबंिधत:
(क) जहां परीक्षा आयोिजत की जा रही है , उस पिरसर के अंदर मोबाइल फोन, पेजसर्, बल
् ूटूथ अथवा
अ य संचार यंत्र की अनुमित नहीं है । इन अनद
ु े श का कोई अितलंघन होने पर भिव य म आयोिजत
की जाने वाली परीक्षाओं म प्रितबंध सिहत अनश
ु ासिनक कारर्वाई की जाएगी।
(ख) उ मीदवार को उनके िहत म सलाह दी जाती है िक वे परीक्षा थल पर मोबाइल फोन/पेजसर्,
बल
् ट
ू ू थ अथवा कीमती/मल
ू यवान
् वसत
् ुओं सिहत उक् त प्रितबंिधत वसत
् ुएं साथ नहीं लाएं, क्य िक
उनकी सरु क्षा सिु नि चत नहीं की जा सकती है । इस संबंध म हुए िकसी प्रकार के नक
ु सान के िलए
आयोग िजममे ् वार नहीं होगा।
उममीदवार
् को केवल ऑनलाइन मोड से आवेदन करने की ज रत है । िकसी दस
ू रे
मोड वारा आवेदन करने की अनम
ु ित नहीं है ।
IIII

“सरकार ऐसे कायर्बल के िलए प्रयतनशील


् है िजसम पु ष तथा मिहला उममीदवार
् की संखया
् म
संतुलन बना रहे तथा मिहला उममीदवार
् को आवेदन करने के िलए प्रोतसािहत
् िकया जाता है ।”

 
फा.सं. 8/4/2017 प.1(ख) संघ लोक सेवा आयोग वारा िनमनिलिखत
् कोस म प्रवेश हे तु 04 फ़रवरी,
2018 को समिमिलत
् रक्षा सेवा परीक्षा आयोिजत की जाएगी।
कोसर् का नाम तथा िरिक्तय की संभािवत संख्या

(1) भारतीय सैिनक अकादमी, दे हरादन


ू , जनवरी, 2019 100
म प्रारं भ होने वाला 146 वां कोसर्
[एनसीसी ‘सी’ (सेना कंध) प्रमाण-पत्र प्रा त
उ मीदवार के िलए आरिक्षत 13 िरिक्तयां सि मिलत ह।]

(2) भारतीय नौसेना अकादमी, इझीमाला, जनवरी, 2019 45


म प्रारं भ होने वाला कायर्पालक कोसर् (सामा य सेवा)
[एनसीसी ‘सी’ प्रमाण-पत्र धारक (नौसेना कंध)
के िलए 6 आरिक्षत िरिक्तयां शािमल ह।]
(3) वायु सेना अकादमी, है दराबाद, फ़रवरी, 2019 32
म प्रारं भ होने वाले उड़ान पूवर् प्रिशक्षण कोसर्
अथार्त नं. 205 एफ(पी) कोसर्
(4) अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी, चे नई 109 वां 225
एसएससी (पु ष) कोसर् (एनटी)
(अप्रैल 2019 म आरं भ) (िजसम 50 िरिक्तयां, एनसीसी
धारक हे तु एनसीसी िवशेष प्रवेश के िलए िनधार्िरत ह)
(5) अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी, चे नई 23 वां 12
एसएससी मिहला (गैर तकनीकी) कोसर्
(अप्रैल 2019 म आरं भ)
िट पणी : (i) आयोग यिद चाहे तो उपयक्
ुर् त परीक्षा की तारीख म पिरवतर्न कर सकता है ।

िट पणी : (ii) उपरोक्त िरिक्तयां अनम


ु ािनत ह तथा सेवा मुख्यालय वारा िकसी भी समय
बदली जा सकती ह।

यान द : (I)(क) उ मीदवार से यह भी अपेक्षा की जाती है िक वह आवेदन प्रपत्र


से संबंिधत कॉलम म यह प ट उ लेख कर िक वह सेवाओं को अपने वरीयता क्रम म
िकस-िकस पर िवचार िकए जाने के इ छुक ह, उ ह यह भी परामशर् िदया जाता है िक वह
नीचे पैरा (ख) एवं (ग) म बताई गई शत के अनस
ु ार िजतनी वरीयता के इ छुक ह उन
सभी का उ लेख कर, तािक योग्यताक्रम म उनके रक को दे खते हुए िनयिु क्त करते समय
उनकी वरीयताओं पर यथोिचत िवचार िकया जा सके।

 
चिूं क मिहला अ यथीर् केवल ओ.टी.ए. के िलए पात्र ह, उ ह केवल ओ.टी.ए. को ही अपनी
प्रथम तथा एकमात्र वरीयता दे नी चािहए ।

(ख) (i) यिद कोई पु ष उ मीदवार केवल अ पकािलक सेवा कमीशन (सेना) के िलए आवेदन
कर रहा है तो उसे अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी को ही अपने िवक प के प म िनिदर् ट
करना चािहए। तथािप अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी के अ पकािलक सेवा कमीशन पा यक्रम
के साथ-साथ भारतीय सैिनक अकादमी तथा वायु सेना अकादमी के िलए थायी कमीशन
पा यक्रम के प्रितयोगी पु ष उ मीदवार को अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी को अपने अंितम
िवक प के प म िनिदर् ट करना चािहए अ यथा उ मीदवार वारा उ च वरीयता िदए जाने
पर भी अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी को अंितम िवकलप् माना जाएगा।

(ख) (ii) चिूं क मिहला अ यथीर् केवल ओ.टी.ए. म अ पकािलक सेवा कमीशन (एस.एस.सी.)
के िलए ही पात्र है । उ ह ओ.टी.ए. के िलए ही अपनी वरीयता दे नी चािहए।

(ग) वायु सेना अकादमी म प्रवेश के इ छुक उ मीदवार, एएफए को ही अपना प्रथम िवक प
दशार्एं क्य िक िकसी एक वायु सेना चयन बोडर् (एएफएसबी) म उनका क यूटर पायलट
चयन प्रणाली (सीपीएसएस) तथा/अथवा पायलट ए टी यूड बैटरी टे ट तथा के द्रीय
सं थापना/उड़ान िचिक सा सं थान म वायु सेना िचिक सा परीक्षण आयोिजत िकया जाएगा।
वायु सेना अकादमी को िवतीय/तत
ृ ीय आिद िवक प दशार्ए जाने की ि थित म उसे अमा य
समझा जाएगा।

(घ) उ मीदवार को यह यान रखना चािहए िक नीचे यान द: (II) म बताई गई


पिरि थितय के अितिरक्त उ ह केवल उन कोस म िनयिु क्त के िलए िवचार िकया जाएगा
िजसके िलए उसने अपनी वरीयता िलखी होगी और अ य िकसी कोसर् (कोस ) के िलए नहीं।

(ड.) िकसी भी उ मीदवार को अपने आवेदन प्रपत्र म पहले से िनिदर् ट वरीयताओं को


बढ़ाने/पिरवतर्न करने के बारे म कोई अनरु ोध आयोग वारा वीकार नहीं िकया जाएगा। एक
ू री वरीयता पर भी तभी िवचार
बार दी गयी वरीयता म पिरवतर्न नहीं करने िदया जाएगा। दस
िकया जाएगा जब सेना मख्
ु यालय वारा उ मीदवार को पहली वरीयता नहीं दी गयी हो। जब
उ मीदवार को पहली वरीयता दी गयी हो तथा उ मीदवार ने उसे लेने से इंकार कर िदया हो
तो िनयिमत कमीशन प्रदान करने हे तु अ य वरीयताओं के िलए उसकी उ मीदवारी र हो
जाएगी।

यान द : (II) भारतीय सैिनक अकादमी/भारतीय नौसेना अकादमी/वायु सेना अकादमी कोस
के बचे हुए उ मीदवार अथार्त इस परीक्षा के अंितम पिरणाम के आधार पर थाई कमीशन

 
प्रा त करने के िलए संघ लोक सेवा आयोग वारा िजनकी िसफािरश की गयी है लेिकन
िज ह िक हीं कारण से इन कोस म शािमल नहीं िकया जा सकता है यिद वे बाद म
अ पकालीन सेवा कमीशन कोसर् के िलए िवचार िकए जाने के इ छुक ह तो वे िन निलिखत
शत के अधीन अ पकालीन सेवा कमीशन प्रदान करने के िलए िवचार योग्य हो सकते ह,
चाहे उ ह ने अपने आवेदन प्रपत्र म इस कोसर् के िलए अपनी वरीयता नहीं बताई है :

(i) यिद अ पकालीन सेवा कमीशन कोसर् के िलए प्रितयोगी सभी उ मीदवार को लेने के
बाद भी कमी है और

(ii) जो उ मीदवार अ पकालीन सेवा कमीशन हे तु वरीयता यक्त न करने पर भी


प्रिशक्षण के िलए भेजे जाते ह उ ह वरीयता सच
ू ी के क्रम म उस अंितम उ मीदवार के बाद
रखा जाएगा िजसने इस कोसर् के िलए अपना िवक प िदया हुआ था क्य िक ये उ मीदवार
उस कोसर् म प्रवेश पा सकगे िजसके िलए वे यक्त वरीयता के अनुसार हकदार नहीं ह।

(iii) वायु सेना को अपने प्रथम तथा एकमात्र िवक प के प म चन


ु ने वाले ऐसे
उ मीदवार, जो क यट
ू र पायलट चयन प्रणाली (सीपीएसएस) तथा/अथवा पायलट ए टी यूड
बैटरी टे ट म िवफल रहते ह उ ह एसएससी (ओटीए) प्रदान करने हे तु िवचाराथर् शेष
उ मीदवार को ेणी म नहीं रखा जाएगा। यिद ऐसे उ मीदवार एसएससी (ओटीए) हे तु
िवचार िकए जाने के इ छुक ह तो वे ओटीए के िलए भी अपना िवक प द।

िट पणी - (I) : एनसीसी [सेना कंध/वायु सेना कंध (विर ठ प्रभाग) नौसेना कंध] के
‘सी’ प्रमाण-पत्र प्रा त उ मीदवार अ पकािलक सेवा कमीशन कोस की िरिक्तय के िलए भी
प्रितयोिगता म बैठ सकते ह। चिंू क उनके िलए इस कोसर् म कोई आरक्षण नहीं है , अत: इस
कोसर् म िरिक्तय को भरने के िलए उ ह सामा य उ मीदवार की तरह ही समझा जाएगा।
िजन उ मीदवार को अभी एनसीसी म ‘सी’ प्रमाण-पत्र (सेना कंध/वायु सेना कंध का
विर ठ प्रभाग/ नौसेना कंध) की परीक्षा उ तीणर् करनी है , िकंतु अ यथा वे आरिक्षत
िरिक्तय के िलए प्रितयोिगता म बैठने के िलए पात्र ह , तो वे भी आवेदन कर सकते ह।
िक तु उ ह एनसीसी ‘सी’ प्रमाण-पत्र (सेना कंध/वायु सेना कंध का विर ठ प्रभाग/ नौसेना
कंध) की परीक्षा उ तीणर् करने का प्रमाण प्र तुत करना होगा जो िक आईएमए/एसएससी
प्रथम िवक प वाले उ मीदवार के मामले म रक्षा मंत्रालय का एकीकृत मुखयालय/महािनदे
् शक
भतीर् (भतीर् ए) सीडीएसई ए ट्री, (एसएससी पु ष उ मीदवार और एसएससी मिहला एंट्री,
मिहला उ मीदवार के िलए) वे ट लॉक – III, आरके परु म, नई िद ली- 110066 तथा
ु यालय रक्षा मंत्रालय (नौसेना)/डीएमपीआर, (ओआई एंड आर अनभ
एकीकृत मख् ु ाग) कमरा नं.
204, सी िवंग, सेना भवन, नई िद ली-110011 को और वायु सेना के प्रथम िवक प वाले

 
उ मीदवार के मामले म पीओ 3 (ए)/वायस
ु ेना मुख्यालय, जे लाक, कमरा नं. 17, वायु
भवन के सामने, मोती लाल नेह मागर्, नई िद ली-110106 को 13 नव बर, 2018 तक
पहुंच जाएं। आरिक्षत िरिक्तय के िलए प्रितयोिगता की पात्रता हे तु उ मीदवार ने रा ट्रीय कोर
म जो सेवा की हो वह सीिनयर िडवीजन सेना कंध म दो शैक्षिणक वष से कम न हो और
सीिनयर िडवीजन और वायु सेना/नौसेना कंध म 3 शैक्षिणक वष से कम न हो और आयोग
के कायार्लय म आवेदन की प्राि त की अंितम तारीख को उसे रा ट्रीय कैडेट कोर से मुक्त
हुए भारतीय सैिनक अकादमी/भारतीय नौसेना अकादमी/वायु सेना अकादमी कोसर् के िलए 24
मास से अिधक न हुए ह ।

िट पणी – (II) : भारतीय सैिनक अकादमी कोसर्/वायु सेना अकादमी/भारतीय नौसेना अकादमी
कोसर् म एनसीसी (सेना कंध/सीिनयर िडवीजन वायु सेना कंध/नौसेना कंध) के ‘सी’
प्रमाण-पत्र धारी उ मीदवार के िलए आरिक्षत िरिक्तय को भरने के िलए परीक्षा पिरणाम के
आधार पर अहर्ता प्रा त इन उ मीदवार को पयार् त संख्या म न िमलने के कारण न भरी
गयी आरिक्षत िरिक्तय को अनारिक्षत समझा जाएगा और उ ह सामा य उ मीदवार से भरा
जाएगा। आयोग वारा आयोिजत होने वाली िलिखत परीक्षा तथा उसके बाद सेवा चयन बोडर्
वारा िलिखत परीक्षा म योग्यता प्रा त उ मीदवार के िलए आयोिजत बौिद्धक और यिक्त व
परीक्षण के आधार पर उपयक्
ुर् त कोस म प्रवेश िदया जाएगा।

(क) परीक्षा की योजना सतर


् और पा यिववरण, (ख) आवेदन प्रपत्र भरने हे तु उममीदवार
् के िलए
अनद
ु े श , (ग) वसत
् ुपरक परीक्षण हे तु उममीदवार
् के िलए िवशेष अनद
ु े श, (घ) समिमिलत
् रक्षा
सेवा परीक्षा के िलए उममीदवार
् के शारीिरक मानक संबंधी िदशा-िनदश तथा (ड.) भारतीय सैिनक
अकादमी, भारतीय नौसेना अकादमी, वायु सेना अकादमी और अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी म प्रवेश
पाने वाले उममीदवार
् ् सच
की सेवा आिद की संिक्षपत ू ना क्रमश: पिरिशषट् - I, II, III, IV, और V
म िवसतार
् से समझाए गए ह।

2. परीक्षा के द्र: परीक्षा िन निलिखत के द्र पर आयोिजत की जाएगी :

अगरतला गंगटोक पणजी (गोवा)

अहमदाबाद है दराबाद पटना

ऐज़ल इंफाल पोटर् लेयर

इलाहाबाद ईटानगर रायपुर

बगलू जयपुर रांची

 
बरे ली ज मू संबलपुर

भोपाल जोरहाट िशलांग

चंडीगढ़ कोि च िशमला

चे नई कोिहमा ीनगर

कटक कोलकाता ित वनंतपरु म

दे हरादन
ू लखनऊ ित पित

िद ली मदरु ै उदयपुर

धारवाड़ मब
ुं ई िवशाखापट्टनम

िदसपुर नागपुर

आवेदक यह नोट कर िक चे नई, िद ली, िदसपुर, कोलकाता और नागपुर के द्र के िसवाय


प्र येक के द्र पर आबंिटत उ मीदवार की संख्या की अिधकतम सीमा िनधार्िरत होगी। के द्र
के आबंटन ‘पहले आवेदन करो, पहले आबंटन पाओ’ पर आधािरत होगा तथा यिद िकसी
िवशेष के द्र की क्षमता पूरी हो जाती है तब वहां िकसी आवेदन को कोई के द्र आबंिटत नहीं
िकया जाएगा। िजन आवेदक को िनधार्िरत अिधकतम सीमा की वजह से अपनी पसंद का
के द्र नहीं िमलता है तब उ ह शेष के द्र म से एक के द्र का चयन करना होगा। अतएव
आवेदक को सलाह दी जाती है िक वे शीघ्र आवेदन कर िजससे उ ह अपनी पसंद का के द्र
िमले।

यान द : उपयक्
ुर् त प्रावधान के बावजूद ि थित के अनस
ु ार आयोग के पास अपने
िववेकानस
ु ार के द्र म पिरवतर्न करने का अिधकार सरु िक्षत है । िजन उ मीदवार को उक्त
परीक्षा म प्रवेश दे िदया जाता है उ ह समय-सारणी तथा परीक्षा थल ( थल ) की जानकारी
दे दी जाएगी। उ मीदवार को यान रखना चािहए िक के द्र म पिरवतर्न से स बद्ध अनरु ोध
को वीकार नहीं िकया जाएगा।

नोट : उ मीदवार को अपने ऑनलाइन आवेदन प्रपत्र म परीक्षा के िलए पसंद के के द्र भरते
समय सावधानीपव
ू क
र् िनणर्य लेना चािहए। यिद कोई उ मीदवार अपने प्रवेश प्रमाण पत्र म
आयोग वारा दशार्ए गए के द्र/प्र न पत्र के अलावा िकसी अ य के द्र पर/प्र न पत्र म परीक्षा
म बैठता है तो ऐसे उ मीदवार की उ तर पिु तकाओं का मू यांकन नहीं िकया जाएगा और
उसकी उ मीदवारी र की जा सकती है ।

 
3. पात्रता की शत:
(क) रा ट्रीयता : उ मीदवार अिववािहत होना चािहए या तो
1. भारत का नागिरक हो, या

2. नेपाल की प्रजा हो, या

3. भट
ू ान की प्रजा हो, या

4. ित बती शरणाथीर्, जो थायी प से रहने के इरादे से पहली जनवरी, 1962


से पहले आ गया हो या
5. भारतीय मूल का यिक्त जो भारत म थायी प से रहने के उ े य से
पािक तान, बमार्, ीलंका, पूवीर् अफ्रीकी दे श ू ांडा तथा
जैसे कीिनया, यग
तंजािनया संयुक्त गणरा य, जाि बया, मालावी, जैरे तथा इिथयोिपया या
िवयतनाम से प्रवजर्न करके आया हो।
परं तु उपयक्
ुर् त वगर् 2, 3, 4 और 5 के अंतगर्त आने वाला उ मीदवार ऐसा यिक्त हो
िजसको भारत सरकार ने पात्रता प्रमाणपत्र प्रदान िकया हो ।

लेिकन नेपाल के गोरखा उ मीदवार के िलए यह पात्रता प्रमाणपत्र आव यक नहीं होगा ।

िजस उ मीदवार के िलए पात्रता प्रमाणपत्र आव यक है उसे उक्त परीक्षा म इस शतर्पर


अनंितम प से प्रवेश िदया जा सकता है , िक सरकार वारा उसे आव यक प्रमाणपत्र संघ
लोक सेवा आयोग वारा पिरणाम की घोषणा से पहले दे िदया जाए।

(ख) आयु-सीमाएं, िलंग और वैवािहक ि थित:-

(1) भारतीय सैिनक अकादमी के िलए : केवल ऐसे अिववािहत पु ष उ मीदवार ही पात्र ह
िजनका ज म 02 जनवरी, 1995 से पहले का तथा 01 जनवरी, 2000 के बाद का न हो।

(2) भारतीय नौसेना अकादमी के िलए : केवल ऐसे अिववािहत पु ष उ मीदवार ही पात्र ह
िजनका ज म 02 जनवरी, 1995 से पहले का तथा 01 जनवरी, 2000 के बाद न हो।

(3) वायु सेना अकादमी के िलए :

केवल वे उ मीदवार पात्र ह जो 01 जनवरी, 2019 से 20 से 24 वषर् के ह अथार्त उनका


ज म 02 जनवरी, 1995 से पहले और 01 जनवरी 1999 के बाद का नहीं होना चािहए
(डीजीसीए (भारत) वारा जारी वैध एवं वतर्मान वािणि यक पायलेट लाइसस धारक के िलए

 
अिधकतम आयु सीमा 26 वषर् तक िशिथलनीय है अथार्त ् उ मीदवार का ज म 02 जनवरी,
1993 से पहले और 01 जनवरी 1999 के बाद का नहीं होना चािहए।

नोट: 25 वषर् की आयु से कम के उ मीदवार अिववािहत होने चािहए। प्रिशक्षण के दौरान


ु ित नहीं दी जाएगी। 25 वषर् की आयु से अिधक वाले िववािहत उ मीदवार
िववाह की अनम
आवेदन करने के पात्र ह पर तु प्रिशक्षण अविध के दौरान उ ह न ही िववािहत अिधकािरय
हे तु िनधार्िरत आवास िदया जाएगा और न ही वे पिरवार के साथ बाहर रह सकते ह।

(4) अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी के िलए (पु ष के िलए एसएससी कोसर्): केवल ऐसे
अिववािहत पु ष उ मीदवार ही पात्र ह, िजनका ज म 02 जनवरी 1994 से पहले का तथा
01 जनवरी, 2000 के बाद का न हो।

(5) अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी के िलए (मिहलाओं के िलए एसएससी गैर-तकनीकी कोसर्):
अिववािहत मिहलाएं, संतानहीन िवधवाएं िज ह ने पुनिवर्वाह न िकया हो, तथा संतानिवहीन
तलाकशुदा मिहलाएं िज ह ने पुनिवर्वाह न िकया हो, (तलाक के कागजात होने पर) पात्र ह।
इनका ज म 02 जनवरी, 1994 से पहले का तथा 01 जनवरी, 2000 के बाद न हुआ हो।

नोट : तलाकशुदा/िवधरु पु ष उ मीदवार आईएमए/आईएनए/एएफए कोस म प्रवेश के िलए


अिववािहत पु ष नहीं माने जाएंगे और तदनस
ु ार वे इन कोस के िलए पात्र नहीं ह।

आयोग ज म की वह ितिथ वीकार करता है जो मैिट्रकुलेशन या मा यिमक िव यालय


छोड़ने के प्रमाण पत्र या िकसी भारतीय िव विव यालय वारा मैिट्रकुलेशन के समकक्ष माने
गए प्रमाण पत्र या िकसी िव विव यालय वारा अनुरिक्षत मैिट्रकुलेट के रिज टर म दजर् की
गई हो और यह उद्धरण िव विव यालय के समिु चत प्रािधकारी वारा प्रमािणत हो या हायर
सेकडरी या समकक्ष परीक्षा के प्रमाण पत्र म दजर् हो। ये प्रमाण पत्र परीक्षा के िलिखत भाग
के पिरणाम घोिषत हो जाने के बाद ही प्र तुत िकए जाने अपेिक्षत ह।

आयु के संबंध म अ य द तावेज जैसे ज म कंु डली, शपथ पत्र, नगर िनगम से संबंधी
उद्धरण, सेवा अिभलेख तथा अ य ऐसे ही प्रमाण पत्र वीकार नहीं िकए जाएंगे।

‘अनद
ु े श के इस भाग म आए हुए मैिट्रकुलेशन/उ चतर मा यिमक परीक्षा प्रमाण-पत्र’ वाक्यांश
के अंतगर्त उपयक्
ुर् त वैकि पक प्रमाण पत्र सि मिलत ह। कभी-कभी मैिट्रकुलेशन/उ चतर
मा यिमक परीक्षा प्रमाण-पत्र म ज म की तारीख नहीं होती या आयु के केवल पूरे वषर् या
वषर् और महीने ही िदए होते ह। ऐसे मामल म उ मीदवार को मैिट्रकुलेशन/उ चतर
ु मािणत/प्रमािणत प्रितिलिप के अितिरक्त उस सं थान
मा यिमक परीक्षा प्रमाण-पत्र की अनप्र
के है ड मा टर/िप्रंिसपल से िलए गए प्रमाण पत्र की अनप्र
ु मािणत/प्रमािणत प्रितिलिप भेजनी

 
चािहए, जहां से उसने मैिट्रकुलेशन/उ चतर मा यिमक परीक्षा उ तीणर् की हो। इस प्रमाण पत्र
म उस सं था के दािखला रिज टर म दजर् की गई उसकी ज म की तारीख या वा तिवक
आयु िलखी होनी चािहए।

िट पणी - 1 : उ मीदवार यह यान रख िक आयोग उ मीदवार की ज म की उसी तारीख


को वीकार करे गा जो िक आवेदन प्रपत्र प्र तत
ु करने की तारीख को मैिट्रकुलेशन/उ चतर
मा यिमक परीक्षा प्रमाण पत्र या समकक्ष प्रमाण पत्र म दजर् है और इसके बाद उसम
पिरवतर्न के िकसी अनुरोध पर न तो िवचार िकया जाएगा और न ही उसे वीकार िकया
जाएगा।

िट पणी - 2 : उ मीदवार यह भी नोट कर ल िक उनके वारा िकसी परीक्षा म प्रवेश के


िलए ज म की तारीख एक बार घोिषत कर दे ने और आयोग वारा उसे अपने अिभलेख म
दजर् कर लेने के बाद उसम पिरवतर्न या बाद की िकसी अ य परीक्षा म िकसी भी आधार पर
पिरवतर्न करने की अनम
ु ित नहीं दी जाएगी।

िट पणी - 3 : उ मीदवार को इस परीक्षा के िलए ज म ितिथ भरते समय उिचत सावधानी


बरतनी चािहए। यिद बाद की िकसी अव था म, जांच के दौरान उनके वारा भरी गई ज म
ितिथ यिद उनके मैिट्रक या समकक्ष परीक्षा के प्रमाण पत्र म दी गई ज म ितिथ से कोई
िभ नता पाई गई तो आयोग वारा उनके िव द्ध अनश
ु ासना मक कारर् वाई की जाएगी।

(ग) शैिक्षक योग्यताएं :

(1) भारतीय सैिनक अकादमी और अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी के िलए : िकसी


मा यताप्रा त िव विव यालय की िडग्री या समकक्ष योग्यता।

(2) भारतीय नौसेना अकादमी के िलए : िकसी मा यताप्रा त िव विव यालय/सं था से


इंजीिनयरी म िडग्री।

(3) वायु सेना अकादमी के िलए : िकसी मा यताप्रा त िव विव यालय की िडग्री (10+2 तर
तक भौितकी एवं गिणत िवषय सिहत) अथवा इंजीिनयरी म नातक।

थल सेना/नौसेना/वायु सेना की पहली वरीयता वाले नातक को ग्रेजुएशन के प्रमाण के प


म नातक/अनंितम प्रमाण पत्र सेवा चयन बोडर् वारा िलए जाने वाले साक्षा कार के िदन
सेवा चयन बोडर् के द्र पर प्र तुत करने ह गे ।

10 

 
जो उ मीदवार अंितम वषर्/सेमे टर िडग्री पा यक्रम की पढ़ाई कर रहे ह और उ ह अंितम वषर्
की िडग्री परीक्षा उ तीणर् करना अभी शेष है, वे भी आवेदन कर सकते ह बशत आवेदन प्रपत्र
प्र तत
ु करते समय तक उ मीदवार के पास अंितम सेमे टर/वषर् िजनके िलए पिरणाम घोिषत
िकए गए ह, हे तु कोई मौजूदा बैकलॉग नहीं होना चािहए और उ ह कोसर् के प्रारं भ होने के
समय िडग्री परीक्षा उ तीणर् करने का प्रमाण पत्र प्र तत
ु करना अपेिक्षत होगा जो एकीकृत,
मख्
ु यालय रक्षा मंत्रालय (सेना) मुख्यालय, सीडीएसई एंट्री, पि चमी लॉक – III आर के पुरम,
नई िद ली- 110066 तथा नौसेना के प्रथम िवक प वाले उ मीदवार के मामले म एकीकृत
ु यालय, रक्षा मंत्रालय (नौसेना) डीएमपीआर, (ओआई एंड आर अनुभाग) कमरा नं. 204,सी
मख्
िवंग, सेना भवन, नई िद ली-110011 को और वायु सेना के प्रथम िवक प वाले उ मीदवार
के मामले म पीओ3 (ए)/वायु सेना मुख्यालय, जे लाक, कमरा नं. 17, वायु भवन के
सामने, मोती लाल नेह मागर्, नई िद ली-110 106 को िन निलिखत तारीख तक पहुंच
जाए, िजसके न पहुंचने पर उनकी उ मीदवारी र हो जाएगी।
(1) भारतीय सै य अकादमी (आईएमए) म प्रवेश हे तु 01 जनवरी, 2019 को या उससे
पहले, भारतीय नौसेना अकादमी म प्रवेश हे तु 01 जनवरी, 2019 को या उससे पहले तथा
वायु सेना अकादमी म प्रवेश हे तु 13 नव बर, 2018 को या उससे पहले।
(2) अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी, चे नई म प्रवेश के िलए 01 अप्रैल 2019 तक या उससे
पहले ।
िजन उ मीदवार के पास यावसाियक और तकनीकी योग्यताएं ह जो सरकार वारा
यावसाियक और तकनीकी िडग्री के समकक्ष मा यता प्रा त हो वे भी परीक्षा के िलए पात्र
ह गे ।

अपवाद की पिरि थितय म आयोग िकसी ऐसे उ मीदवार को इस िनयम म िनधार्िरत


योग्यताओं से यक्
ु त न होने पर भी शैिक्षक प से योग्य मान सकता है , िजसके पास ऐसी
योग्यताएं ह िजनका तर आयोग के िवचार म, इस परीक्षा म प्रवेश पाने योग्य हो।

िट पणी 1: िजन उ मीदवार को अभी उनकी िडग्री परीक्षा पास करनी शेष हो, उ ह तभी पात्र माना
जाएगा जब वे िडग्री परीक्षा के अंितम वषर् म अ ययनरत ह । िजन उ मीदवार वारा िडग्री परीक्षा के
अंितम वषर् म अभी अहर्ता प्रा त की जानी शेष है और उ ह संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा म बैठने
की अनुमित प्रदान की गई है ; उ ह यान म रखना चािहए िक यह उ ह दी गई एक िविश ट छूट है ।
उनके िलए िनधार्िरत ितिथ तक, उनके वारा िडग्री परीक्षा पास िकए जाने का प्रमाण प्र तत
ु िकया
जाना अिनवायर् है तथा इस ितिथ को आगे बढ़ाने के िकसी भी अनुरोध को इस आधार पर, िक मल
ू भूत
पात्रता िव विव यालय परीक्षा दे र से संचािलत की गई; परीक्षा पिरणाम की घोषणा म िवलंब हुआ;
अथवा िकसी भी अ य आधार पर वीकार नहीं िकया जाएगा। िडग्री/सेमे टर पा यक्रम के अंितम वषर्
म अ ययनरत उ मीदवार को एसएसबी  साक्षा कार के समय िव विव यालय अथवा कॉलेज वारा
11 

 
जारी एक प्रमाण पत्र प्र तुत करना होगा िक वे िनधार्िरत ितिथ तक नातक िडग्री/ परीक्षा पास कर
िलए जाने का प्रमाण प्र तत
ु कर दगे, िजसम िवफल रहने पर उनकी उ मीदवारी र कर दी जाएगी।  

िट पणी-2 : जो उ मीदवार रक्षा मंत्रालय वारा रक्षा सेवाओं म िकसी प्रकार के कमशीन से
अपविजर्त ह, वे इस परीक्षा म प्रवेश के पात्र नहीं ह गे। अगर प्रवेश दे िदया गया तो भी
उनके उ मीदवारी र कर दी जाएगी।

िट पणी-3: उड़ान सीखने म असफलता के कारण वायु सेना के िजन उ मीदवार को उड़ान
प्रिशक्षण से िनलंिबत िकया जा रहा हो उ ह भारतीय वायस
ु ेना की नौ पिरवहन शाखा म
शािमल िकया जाएगा । लेिकन यह िरिक्तय की उपल धता तथा उि लिखत गुणा मक
ज रत के अ यधीन होगा । ( नातक 60 प्रितशत अंक सिहत)

(घ) शारीिरक मानक:

सि मिलत रक्षा सेवा परीक्षा - (I), 2018 म प्रवेश के िलए उ मीदवार को पिरिश ट-IV म
िदए गए शारीिरक मानक के िलए िदशा-िनदश के अनु प शारीिरक प से व थ होना
चािहए ।

4. शु क :

उ मीदवार को . 200/- (केवल दो सौ पए) फीस के प म (सभी मिहला/अ.जा./अ.ज.जा.


उ मीदवार को छोड़कर िज ह कोई शु क नहीं दे ना होगा) या तो टे ट बक ऑफ इंिडया की
िकसी भी शाखा म नकद जमा करके या टे ट बक ऑफ इंिडया/ टे ट बक ऑफ बीकानेर एंड
जयपुर/ टे ट बक ऑफ है दराबाद/ टे ट बक ऑफ मैसूर/ टे ट बक ऑफ पिटयाला/ टे ट बक ऑफ
त्रावणकोर की नेट बिकंग सेवा का उपयोग करके या वीजा/मा टर क्रेिडट/डेिबट काडर् का
उपयोग करके भग
ु तान करना होगा।
िट पणी-1 : जो उ मीदवार भग
ु तान के िलए नकद भग
ु तान प्रणाली का चयन करते ह वे
िस टम वारा सिृ जत (जनरे ट) पे-इन-ि लप को मिु द्रत कर और अगले कायर्िदवस को
भारतीय टे ट बक (एसबीआई) की शाखा के काउं टर पर शु क जमा करवाएं। “नकद भग
ु तान
प्रणाली” का िवक प अंितम ितिथ से एक िदन पहले, अथार्त ् िदनांक 03.12.2017 को राित्र
11:59 बजे िनि क्रय हो जाएगा। तथािप, जो उ मीदवार अपने पे-इन-ि लप का सज
ृ न
(जनरे शन) इसके िनि क्रय होने से पहले कर लेते ह, वे अंितम ितिथ को बक के कायर् समय
के दौरान एसबीआई की शाखा म काउं टर पर नकद भग
ु तान कर सकते ह। वे उ मीदवार जो
वैध पे-इन-ि लप होने के बावजद
ू िकसी भी कारणवश अंितम ितिथ को बक के कायर् समय
के दौरान एसबीआई की शाखा म नकद भुगतान करने म असमथर् रहते ह तो उनके पास

12 

 
कोई अ य ऑफलाइन िवक प उपल ध नहीं होगा लेिकन वे अंितम ितिथ अथार्त
04.12.2017 को सांय 6:00 बजे तक ऑनलाइन डेिबट/क्रेिडट काडर् अथवा इंटरनेट बिकंग
भग
ु तान के िवक प का चयन कर सकते ह।

िट पणी-2 : उ मीदवार को नोट करना चािहए िक शु क का भुगतान ऊपर िनधार्िरत मा यम


से ही िकया जा सकता है । िकसी अ य मा यम से शु क का भग
ु तान न तो वैध है न
वीकायर् है । िनधार्िरत मा यम/शु क रिहत आवेदन (शु क के भुगतान से छूट प्रा त आवेदन
को छोड़कर) एकदम अ वीकृत कर िदए जाएंगे।

िट पणी-3 : एक बार शु क अदा िकए जाने पर वापस करने के िकसी अनरु ोध पर िवचार
नहीं िकया जा सकता है और न ही िकसी दस
ू री परीक्षा या चयन के िलए आरिक्षत रखा जा
सकता है ।

िट पणी-4 : िजन आवेदक के मामले म बक से भुगतान संबंधी िववरण प्रा त नहीं हुए ह
उ ह अवा तिवक भगु तान मामला समझा जाएगा और उनके आवेदन पत्र तुरंत अ वीकृत कर
िदए जाएंगे। ऐसे सभी आवेदक की सूची ऑनलाइन आवेदन पत्र प्र तुत करने के अंितम िदन
के बाद दो स ताह के भीतर आयोग की वेबसाइट पर उपल ध करा दी जाएगी। आवेदक को
अपने शु क भुगतान का प्रमाण ऐसी सूचना की तारीख से दस िदन के भीतर द ती अथवा
पीड पो ट के जिरए आयोग को भेजना होगा। द तावेज के प म प्रमाण प्रा त होने पर,
शु क भुगतान के वा तिवक मामल पर िवचार िकया जाएगा और उनके आवेदन पत्र वीकार
कर िलए जाएंगे, बशत वे पात्र ह ।

सभी मिहला उ मीदवार और अनुसूिचत जाितय /अनस


ु िू चत जनजाितय के उ मीदवार को
शु क नहीं दे ना होगा। तथािप, अ य िपछड़ी ेिणय के उ मीदवार को शु क म कोई छूट
नहीं है तथा उ ह िनधार्िरत पण
ू र् शु क का भुगतान करना होगा।

(5) आवेदन कैसे कर :

उ मीदवार को www.upsconline.nic.in िलंक का प्रयोग करते हुए ऑनलाइन आवेदन करना


होगा। ऑनलाइन आवेदन भरने के िलए िव तत ृ अनद ु े श उपयक्
ुर् त वेबसाइट पर उपल ध ह।

आवेदक को केवल एक ही आवेदन पत्र प्र तुत करने का परामशर् िदया जाता है । तथािप,
िकसी अपिरहायर् पिरि थितवश यिद वह एक से अिधक आवेदन पत्र प्र तुत करता/करती है ,
वह यह सुिनि चत कर ल िक उ च आरआईडी वाला आवेदन पत्र हर तरह अथार्त ् आवेदक
का िववरण, परीक्षा के द्र, फोटो, ह ताक्षर, शु क आिद से पण
ू र् है । एक से अिधक आवेदन
पत्र भेजने वाले उ मीदवार ये नोट कर ल िक केवल उ च आरआईडी (रिज ट्रे शन आईडी)
13 

 
वाले आवेदन पत्र ही आयोग वारा वीकार िकए जाएंगे और एक आरआईडी के िलए अदा
िकए गए शु क का समायोजन िक सी अ य आरआईडी के िलए नहीं िकया जाएगा।

सभी उ मीदवार को चाहे वे सश त्र बल, सरकारी वािम व वाले औ योिगक उपक्रम अथवा
इसी प्रकार के अ य संगठन म अथवा िनजी रोजगार सिहत सरकारी सेवा म कायर्रत ह ,
अपने आवेदन आयोग को ऑनलाइन प्र तुत करने ह गे।

कृपया यान द-I तथािप पहले से ही सरकारी सेवा कर रहे यिक्तय , चाहे वे थायी या
अ थायी क्षमता म ह अथवा अिनयत या दै िनक वेतन ेणी के अितिरक्त कायर् प्रभार (वकर्
चा डर्) कमर्चारी के प म अथवा लोक उ यम म ह , को अपने कायार्लय/िवभाग के अ यक्ष
को िलिखत प म सिू चत करना होगा िक उ ह ने परीक्षा के िलए आवेदन िकया है ।

कृपया यान द-II सश त्र बल म कायर्रत उ मीदवार को अपने कमान अिधकारी को


िलिखत प म सिू चत करना होगा िक उ ह ने इस परीक्षा के िलए आवेदन िकया है । उ ह
इस संदभर् म सेवा चयन बोडर् म साक्षा कार के समय अनापि त प्रमाण पत्र भी जमा करवाना
है ।

उ मीदवार यह नोट कर ल िक आयोग को उ मीदवार के िनयोक्ता से उनके आवेदन


करने/परीक्षा म बैठने की अनम
ु ित रोकने संबंधी सच
ू ना प्रा त होने पर उनके आवेदन र िकए
जा सकते ह/उ मीदवारी िनर त की जा सकती है ।

ुर् त पैरा 4 के
िट पणी : िजन आवेदन प्रपत्र के साथ िनधार्िरत शु क संलग्न नहीं होगा (उपयक्
अंतगर्त शु क माफी के दावे को छोड़कर) या जो अधरू े भरे हुए ह गे, उनको एकदम अ वीकृत
कर िदया जाएगा। िकसी भी अव था म अ वीकृित के संबंध म अ यावेदन या पत्र- यवहार
को वीकार नहीं िकया जाएगा। उ मीदवार को अपने आवेदन प्रपत्र के साथ आयु तथा
शैक्षिणक योग्यता, अनुसूिचत जाित, अनस
ु िू चत जनजाित, अ य िपछड़ी ेिणयां और शु क म
ु नहीं करना होगा। परीक्षा के िलए आवेदन करने वाले
छूट आिद का प्रमाण पत्र प्र तत
उ मीदवार को यह सिु नि चत कर लेना चािहए िक वे परीक्षा म प्रवेश के िलए पात्रता की
सभी शत को पूरा करते ह। आयोग ने िजस परीक्षा म उ ह प्रवेश िदया है , उसके प्र येक
तर, अथार्त ् िलिखत परीक्षा और साक्षा कार परीक्षण तर पर उनका प्रवेश पण
ू त
र् : अनंितम
होगा बशत िक वे िनधार्िरत पात्रता शत को पूरा करते ह । यिद िलिखत परीक्षा या
साक्षा कार परीक्षण से पूवर् या बाद म िकसी समय स यापन करने पर यह पाया जाता है िक
वे िकसी पात्रता शतर् को पूरा नहीं करते ह तो आयोग वारा परीक्षा के िलए उनकी
उ मीदवारी र कर दी जाएगी।

14 

 
उ मीदवार को सलाह दी जाती है िक वे परीक्षा के िलिखत भाग के पिरणाम घोिषत
हो जाने के शीघ्र बाद, िजसके मई, 2018 माह म घोिषत िकए जाने की संभावना है , सेना
मख्
ु यालय/नौसेना मुख्यालय/वायु सेना मुख्यालय, जैसा मामला हो, को प्र तत
ु करने के िलए
िन निलिखत प्रमाण पत्र को उनकी वयं स यािपत प्रितय सिहत तैयार रख।

(1) ज म की तारीख दशार्ते हुए मैिट्रक/उ चतर मा यिमक िव यालय प्रमाण पत्र अथवा
इसके समकक्ष।

(2) िडग्री/अनंितम िडग्री प्रमाण पत्र/अंक सच


ू ी िजसम प ट प से यह दशार्या गया हो
िक िडग्री परीक्षा उ तीणर् कर ली है और िडग्री पाने के पात्र ह।

प्रथमत: सेवा चयन बोडर् म साक्षा कार के िलए पात्र सभी अहर्क उ मीदवार सेवा चयन बोडर्
के चयन के द्र म साक्षा कार के िलए जाते समय अपने साथ मैिट्रक/हायर सैकड्री कूल
प्रमाण पत्र सिहत िडग्री/प्रोिवजनल िडग्री प्रमाण पत्र/अंक सूची मल
ू प म अपने साथ लेकर
जाएंगे। वे उ मीदवार िज ह ने अभी तक िडग्री की अंितम वषर् की परीक्षा पास नहीं की है ,
उ ह कॉलेज/ सं था के प्रधानाचायर् से इस आशय का मल
ू प्रमाण पत्र साथ लेकर आना
चािहए िक उ मीदवार िडग्री की अंितम वषर् की परीक्षा म प्रिव ट हो चक
ु ा/रहा है । जो
उ मीदवार सेवा चयन के द्र पर उपयक्
ुर् त प्रमाण पत्र अपने साथ नहीं लाते ह, उ ह सेवा
चयन बोडर् के साक्षा कार म उपि थत नहीं होने िदया जाएगा। चयन के द्र पर उपयक्
ुर् त मूल
प्रमाण पत्र को प्र तत
ु न करने के बारे म कोई छूट प्रदान नहीं दी जाती है तथा जो
ुर् त प्रमाणपत्र म से कोई मूल प्रमाण पत्र साथ नहीं लाते ह तो उ ह सेवा
उ मीदवार उपयक्
चयन बोडर् परीक्षण तथा साक्षा कार म उपि थत होने की अनम
ु ित नहीं दी जाएगी तथा उनके
खचर् पर उनके घर वािपस भेज िदया जाएगा ।

यिद उनका कोई भी दावा अस य पाया जाता है तो उनके िव द्ध आयोग वारा िन निलिखत
उपबंध के साथ अनश
ु ासना मक कारर् वाई की जा सकती है । जो उ मीदवार आयोग वारा
िन नांिकत कदाचार का दोषी घोिषत होता है या हो चक
ु ा है :
(i) िकसी प्रकार से अपनी उ मीदवारी का समथर्न प्रा त करना, या

(ii) िकसी यिक्त के थान पर वयं प्र तत


ु होना, या

(iii) अपने थान पर िकसी दस


ू रे यिक्त को प्र तुत करना, या

(iv) जाली प्रलेख या फेर-बदल िकए गए प्रलेख प्र तुत करना, या

(v) अशुद्ध या अस य वक्त य दे ना या मह वपूणर् सूचना को िछपा कर रखना, या

15 

 
(vi) परीक्षा के िलए अपनी उ मीदवारी के संबंध म िकसी अिनयिमत या अनिु चत
लाभ उठाने का प्रयास करना, या
(vii) परीक्षा के समय अनिु चत तरीके अपनाना, या

(viii) उ तर पुि तकाओं पर असंगत बात िलखना जो अ लील भाषा या अभद्र आशय
की ह , या
(ix) परीक्षा भवन म और िकसी प्रकार का द ु यर्वहार करना, या

(x) परीक्षा चलाने के िलए आयोग वारा िनयक्


ु त कमर्चािरय को परे शान करना या
अ य प्रकार की शारीिरक क्षित पहुंचाना, या
(xi) परीक्षा के दौरान मोबाइल/फोन/पेजर/ लट ू ूथ या िकसी अ य प्रकार का
इलेक्ट्रािनक उपकरण या यंत्र अथवा संचार यंत्र के प म प्रयोग िकए जा सकने
वाला कोई अ य उपकरण प्रयोग करते हुए या अपने पास रखे पाया गया हो,
या
(xii) उ मीदवार को परीक्षा दे ने की अनम
ु ित दे ते हुए प्रेिषत प्रवेश प्रमाण-पत्र के साथ
जारी िकसी अनद
ु े श का उ लंघन करना, या
(xiii) ऊपर खंड म उि लिखत सभी या िकसी कदाचार को करने की कोिशश करना
या करने के िलए उकसाना,
ू न) चलाया जा सकता है
तो उन पर आपरािधक अिभयोग (िक्रिमनल प्रोसीक्यश
और उनके साथ ही उसे :
(क) आयोग वारा उस परीक्षा से िजसका वह उ मीदवार है, बैठने के िलए
अयोग्य ठहराया जा सकता है अथवा
(ख) उसे अ थाई प से अथवा एक िवशेष अविध के िलए:

(1) आयोग वारा ली जाने वाली िकसी भी परीक्षा अथवा चयन के


िलए।
(2) के द्र सरकार वारा उसके अधीन िकसी भी नौकरी से वािरत िकया
जा सकता है , और
(ग) अगर वह सरकार के अधीन पहले से ही सेवा म है तो उसके िव द्ध
उपयक्
ु त िनयम के अधीन अनश
ु ासना मक कायर्वाही की जा सकती है ।
िकंतु शतर् यह है िक इस िनयम के अधीन कोई शाि त तब तक नहीं दी जाएगी
जब तक :
(i) उ मीदवार को इस संबंध म िलिखत अ यावेदन, जो वह दे ना चाहे ,
प्र तत
ु करने का अवसर न िदया गया हो, और
(ii) उ मीदवार वारा अनम
ु त समय म प्र तुत अ यावेदन, यिद कोई हो, पर
िवचार न कर िलया गया हो।

16 

 
6. आवेदन प्रपत्र भरने की अंितम तारीख:

ऑनलाइन आवेदन 04, िदस बर, 2017 सांय 6:00 बजे तक भरे जा सकते ह ।

7. आयोग/सेना/नौसेना/वायु सेना मुखयालय


् के साथ पत्र-वयवहार
् :

िन निलिखत मामल को छोड़कर आयोग अ य िकसी भी मामले म उ मीदवार के साथ पत्र-


यवहार नहीं करे गा।

(i) पात्र उ मीदवार को परीक्षा प्रारं भ होने के तीन स ताह पूवर् ई-प्रवेश पत्र जारी िकया जाएगा।
ई-प्रवेश पत्र आयोग की वेबसाइट www.upsc.gov.in पर उपल ध कराया जाएगा िजसे
उ मीदवार डाउनलोड कर सकते ह। डाक वारा कोई प्रवेश पत्र नहीं भेजा जाएगा। ई-प्रवेश
पत्र डाउनलोड करने के िलए उममीदवार
् ् ूणर् िववरण अथार्त ्
के पास उसके महतवप
आरआईडी तथा जनम ् ितिथ अथवा अनक्र
ु मांक (यिद प्रापत
् हुआ हो) तथा जनम
् ितिथ
अथवा नाम, िपता का नाम तथा जनम
् ितिथ उपलबध ् होने चािहए।
(ii) यिद िकसी उ मीदवार को परीक्षा प्रारं भ होने से एक सपताह
् पूवर् तक ई-प्रवेश पत्र अथवा
उसकी उ मीदवारी से संबद्ध कोई सच
ू ना न िमले तो उसे आयोग से त काल संपकर् करना
चािहए। इस संबंध म जानकारी आयोग पिरसर म ि थत सुिवधा काउं टर पर यिक्तगत
प से अथवा दरू भाष संख्या : 011-23385271/011-23381125/011-23098543 से
भी प्रापत
् की जा सकती है । यिद उ मीदवार से ई-प्रवेश प्रमाण पत्र प्रापत
् न होने के संबंध
म कोई सच
ू ना आयोग कायार्लय म परीक्षा प्रारं भ होने से कम से कम एक सपताह
् पूवर् तक
प्रापत
् नहीं होती है तो इसके िलए उममीदवार
् ई-प्रवेश पत्र प्रापत
् न होने के िलए वह वयं
ही िज मेदार होगा।
सामा यत: िकसी भी उ मीदवार को परीक्षा म ई-प्रवेश पत्र के िबना बैठने की अनम
ु ित नहीं
दी जाएगी। ई-प्रवेश पत्र प्रापत
् होने पर इसकी सावधानीपूवक
र् जांच कर ल तथा िकसी
प्रकार की असंगित/त्रिु ट होने पर आयोग को तुरंत इसकी जानकारी द।
िविभनन
् पा यक्रम के िलए उममीदवार
् को आयु और शैिक्षक योगयता
् के अनस
ु ार उनकी
पात्रता तथा उनके वारा दशार्ई गई वरीयता के अनस
ु ार ही प्रवेश िदया जाएगा।
उ मीदवार धयान
् रख िक परीक्षा म प्रवेश आवेदन प्रपत्र पर उनके वारा दी गई सूचना के
आधार पर पूणत
र् : अनंितम होगा। यह संघ लोक सेवा आयोग वारा सभी पात्रता की शत
के सतयापन
् के अधयधीन
् होगा।
(iii) उममीदवार
् के आवेदन प्रपत्र की सवीकायर्
् ता तथा उक् त परीक्षा म प्रवेश का पात्र है या नहीं
है इस बारे म आयोग का िनणर्य अंितम होगा।
(iv) उममीदवार
् धयान
् रख िक ई-प्रवेश पत्र म कहीं-कहीं नाम तकनीकी कारण से संिक्षपत
् प
म िलखे जा सकते ह।

17 

 
(v) उममीदवार
् को यह सिु नि चत अवशय
् कर लेना चािहए िक आवेदन म उनके वारा दी गई
ई-मेल आईडी मानय
् और सिक्रय हो।

महतवप
् ूणर् : आयोग/ सेना मुखयालय
् से पत्र वयवहार
् करते समय िनमनिलिखत
् िववरण अवशय

होना चािहए।
1. परीक्षा का नाम और वषर्।

2. रिज ट्रे शन आईडी (आरआईडी)

3. अनक्र
ु मांक (यिद िमला हो)।

4. उ मीदवार का नाम (पूरा और साफ िलखा हुआ)।

5. पत्र वयवहार
् का पूरा पता, टे लीफोन नंबर सिहत, यिद कोई हो, जैसा आवेदन प्रपत्र म
िदया है ।

िवशेष धयान
् :

(1) िजन पत्र म ऊपर का बयौरा


् नहीं होगा, हो सकता है , उन पर कोई कारर् वाई न हो।

(2) यिद िकसी परीक्षा समापित


् के बाद िकसी उममीदवार
् का पत्र/पत्रािद प्रापत
् होता है िजसम उसका
पूरा नाम और अनक्र
ु मांक नहीं िदया गया है तो उस पर धयान
् नहीं िदया जाएगा और उस पर कोई
कारर्वाई नहीं की जाएगी।

(3) सेवा चयन बोडर् के साक्षातकार


् के िलए आयोग वारा अनश
ु ंिसत उममीदवार
् के अगर परीक्षा के
िलए आवेदन करने के बाद अपना पता बदल िलया हो तो उनको चािहए िक परीक्षा के िलिखत भाग के
पिरणाम घोिषत हो जाते ही अपना नया पता, िबना िटकट लगे िलफाफे पर िलखकर, भारतीय सैिनक
अकादमी/अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी को अपनी पहली वरीयता दे ने वाले उममीदवार
् को रक्षा
मंत्रालय का एकीकृत मख
ु यालय/महािनदे
् शक भतीर् (भतीर् ए) सीडीएसई, एंट्री सेक्शन पु ष
उममीदवार
् के िलए वेसट् बलॉक
् – 3, िवंग-1, रामकृषणप
् रु म, नई िदलली-
् 110066 को और नौसेना
को प्रथम वरीयता दे ने वाले उममीदवार
् को एकीकृत मख
ु यालय,
् रक्षा मंत्रालय (नौसेना), डीएमपीआर,
(ओआई एंड आर अनभ
ु ाग) कमरा नं. 204, सी िवंग, सेना भवन, नई िदलली-110011
् तथा वायु सेना
को प्रथम वरीयता दे ने वाले उममीदवार
् को पीओ-3 (ए), वायस
ु ेना मख
ु यालय,
् ‘जे’ बलाक,
् कमरा नं.
17, वायु भवन के सामने, मोती लाल नेह मागर्, नई िदलली-110
् 106 के पते पर सिू चत कर दे ना
चािहए। जो उममीदवार
् इन अनद
ु े श का पालन नहीं करे गा वह सेवा चयन बोडर् के साक्षातकार
् के िलए
समन पत्र न िमलने पर अपने मामले म िवचार िकए जाने के दावे से वंिचत हो जाएगा। केनद्र् का
आबंटन एसएसबी साक्षातकार
् की तारीख योगयताक्रम
् सच
ू ी, जवाइन
् करने के िलए अनद
ु े श संबंधी
सभी प्रशन
् और चयन प्रिक्रया से संबद्ध िकसी अनय
् प्रकार की संगत जानकारी के िलए कृपया

18 

 
वेबसाइट www.joinindianarmy.nic.in दे ख अथवा सभी कायर्िदवस म 14:00 बजे से 17:00 बजे के
बीच दरू भाष सं. (011)-26173215 और फैक् स सं. 011-26196205 पर भतीर् िनदे शालय से संपकर् कर
और वायु सेना को प्रथम वरीयता दे ने वाले उममीदवार
् के िलए पीओ-3(ए)/वायस
ु ेना मख
ु यालय,
् ‘जे’
बलाक,
् कमरा नं. 17, वायु भवन के सामने, मोती लाल नेह मागर्, नई िदलली-110
् 106 तथा नौसेना
को प्रथम वरीयता दे ने वाले उममीदवार
् ु यालय
को एकीकृत मख ् रक्षा मंत्रालय (नौसेना), डीएमपीआर,
(ओआई एंड आर अनभ
ु ाग) कमरा नं. 204, सी िवंग, सेना भवन, नई िदलली-110011
् के पते पर
िलखना चािहए।
उममीदवार
् को साक्षातकार
् के िलए भेजे गए समन पत्र वारा सिू चत तारीख को सेवा चयन
बोडर् के समक्ष साक्षातकार
् हे तु िरपोटर् करना है । साक्षातकार
् को सथिगत
् करने से संबद्ध अनरु ोध पर
केवल यथाथर् पिरसिथितय
् म और प्रशासिनक सिु वधा को धयान
् म रखकर ही िवचार िकया जाएगा
िजसके िलए िनणार्यक प्रािधकरण सेना मख
ु यालय/वाय
् ु सेना मख
ु यालय/नौसे
् ना मख
ु यालय
् होगा। ऐसे
अनरु ोध उस चयन केनद्र/से
् वा चयन बोडर्, जहां से साक्षातकार
् प्रसताव
् प्रापत
् होता है , को भेजे जाने
चािहए। नौसेना के उममीदवार
् पिरणाम के प्रकाशन के तीन सपताह
् के बाद अपना बुलावा पत्र नौसेना
की वेबसाइट www.nausena-bharti.nic.in से डाउनलोड कर सकते ह, या officer-navy”nic.in पर
ई मेल भेज।

िवशेष धयान
् द : यिद िकसी उममीदवार
् को भारतीय सैिनक अकादमी हे तु अग त, 2018 के चौथे
ह ते तक और अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी हे तु नव बर, 2018 के चौथे ह ते तक सेवा चयन बोडर् के
िलए साक्षातकार
् पत्र प्रापत
् नहीं होता है तो उसे सेना मख
ु यालय
् / भतीर् सीडीएसई एंट्री / एसएससी
मिहला एंट्री अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी, वेसट् बलॉक
् ् रु म, नई िदलली–110066
– III रामकृषणप ् को
साक्षातकार
् पत्र न िमलने के बारे म िलखना चािहए अथवा दरू भाष संखया
् 26173215 पर संपकर् करना
चािहए । नौसेना/ वायु सेना को प्रथम वरीयता दे ने वाले उममीदवार
् वारा इसी प्रकार के प्रशन
् के
मामले म उनह् नौसेना मख
ु यालय/वाय
् स
ु ेना मख
ु यालय
् को िलखना चािहए जैसा िक िवशेष धयान
् द-
(III) म उलिलिखत
् है । (अग त, 2018 के चौथे सपताह
् तक पत्र न िमलने की सिथित
् म)

8. िलिखत परीक्षा के पिरणाम की घोषणा, योगयता


् प्रापत
् उममीदवार
् का साक्षातकार,
् अंितम
पिरणाम की घोषणा और अंितम प से योगय
् पाये गये उममीदवार
् का प्रिशक्षण कोसर् म प्रवेश :
संघ लोक सेवा आयोग अपने िववेक से िलिखत परीक्षा के िलए िनधार्िरत नय
् न
ू तम अंक प्रापत

करने वाले उममीदवार
् की एक सूची तैयार करे गा। जो उममीदवार
् िलिखत परीक्षा के आधार पर सफल
घोिषत िकए जाते ह उनह् संबंिधत सेवा मख
ु यालय
् वारा उनकी वरीयता के आधार पर सेवा बोडर् म
बुिद्ध और वयक्
् िततव् परीक्षण के िलए भेजा जाता है । िलिखत परीक्षा म अहर्क हुए उममीदवार
् को
सवयं
् को भतीर् िनदे शालय की वेबसाइट www.joinindianarmy.nic.in पर पंजीकृत करना होगा
तािक उनह् एसएसबी साक्षातकार
् के िलए आमंत्रण पत्र प्रापत
् हो सके। भतीर् महािनदे शालय की
वेबसाइट अथार्त ् www.joinindianarmy.nic.in पर पंजीकृत ईमेल आईडी और संघ लोक सेवा आयोग
को प्रदान की गई आईडी एक ही होनी चािहए और उममीदवार
् की अपनी होनी चािहए। सेवा चयन बोडर्
19 

 
वारा आयोिजत परीक्षण के पिरणाम सभी पा यक्रम के िलए उिचत प से रहगे (अथार्त ् भारतीय
सैिनक अकादमी) (डीई) पा यक्रम, दे हरादन
ू , भारतीय नौसेना अकादमी इझीमाला पा यक्रम, वायु
सेना अकादमी (उड़ान पव
ू )र् पा यक्रम है दराबाद तथा अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी, चेननई
् पर
एसएससी (एनटी पा यक्रम) िजनके िलए उममीदवार
् ने िलिखत परीक्षा पास की है । चाहे उसे
आयोिजत करने वाला सेवा मख
ु यालय
् कोई भी हो।

सेवा चयन बोडर् म मनोवैज्ञािनक अिभ िच परीक्षण और बुिद्ध परीक्षण पर आधािरत


िवसतरीय
् चयन प्रिक्रया आरं भ की है । सभी उममीदवार
् को चयन केनद्र् पर िरपोटर् करने के पहले
िदन ही पहले सतर
् का परीक्षण पास कर लेते ह, उनह् िवतीय सतर/शे
् ष परीक्षण म प्रवेश िदया
जाएगा तथा वे सभी उममीदवार
् जो पहला सतर
् पास करने म असफल रहते ह उनह् वापस भेज िदया
जाएगा। िवतीय सतर
् के सफल उममीदवार
् को िनमनिलिखत
् की एक-एक फोटो प्रित प्रसत
् ुत करनी
होगी :-

(i) जनमितिथ
् के समथर्न म मैिट्रकुलेशन पास प्रमाण पत्र या समकक्ष।

(ii) शैिक्षक योगयता


् के समथर्न म सभी वष /सेिमसटर
् के अंक पत्रक सिहत बैचलर
िडग्री/अनंितम िडग्री
उममीदवार
् सेवा चयन बोडर् के सामने हािजर होकर अपने ही जोिखम पर वहां के परीक्षण म
शािमल ह गे और सेवा चयन बोडर् म उनका जो परीक्षण होता है उसके दौरान या उसके फलसव् प
अगर उनको कोई चोट पहुंचती है तो उसके िलए सरकार की ओर से कोई क्षितपिू तर् और सहायता पाने
के वह हकदार नहीं ह गे। वह िकसी वयक्
् ित की लापरवाही से हो या दस ू रे िकसी कारण से हो।
उममीदवार
् ् प्रपत्र म इस आशय के एक प्रमाण पत्रपर हसताक्षर
को आवेदन प्रपत्र के साथ संलगन ्
करने ह गे। सवीक
् ृ ित हे तु उममीदवार
् को (i) िलिखत परीक्षा तथा (ii) सेवा चयन बोडर् के परीक्षण म
अलग-अलग नय
् न ् करने ह गे जो क्रमश: आयोग तथा सेवा चयन बोडर् वारा
ू तम अहर्क अंक प्रापत
उनके िनणर्य के अनस
ु ार िनशिचत
् िकए जाएंगे। िलिखत परीक्षा तथा सेवा चयन बोडर् के परीक्षण म
प्रापत
् कुल अंक के आधार पर उममीदवार
् को योगयताक्रम
् म रखा जाएगा। अलग-अलग
उममीदवार
् को परीक्षा के पिरणाम िकस प म िकस प्रकार सिू चत िकए जाएं इस बात का िनणर्य
आयोग अपने आप करे गा और पिरणाम के संबंध म सफल होने मात्र से ही भारतीय सैिनक अकादमी,
भारतीय नौसेना अकादमी, वायु सेना अकादमी या अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी म, जैसी सिथित
् हो,
प्रवेश का कोई अिधकार नहीं िमलेगा। अंितम चयन शारीिरक क्षमता और अनय
् सभी बात म
उपयक ् िरक् ितय की संखया
ु ् तता के अितिरक् त उपलबध ् को षिट
् से रखते हुए योगयता
् के क्रम म
िकया जाएगा।

िटपपणी
् : वायु सेना तथा नौसेना उड़ान (एिवयेशन) के प्रतये
् क उममीदवार
् का पायलट
एपटी ू टे सट् केवल एक बार होता है । अत:, उममीदवार
् यट ् वारा प्रथम परीक्षण (सीपीएसएस
तथा/अथवा पीएबीटी) म प्रापत
् िकया ग्रेड ही भिवषय
् म वायु सेना चयन बोडर् के समक्ष होने वाले
20 

 
प्रतये
् क साक्षातकार
् के समय लागू होगा । भारतीय नौसेना चयन बोडर्/कंपय
् ट
ू र पायलट चयन प्रणाली
(सीपीएसएस) तथा/अथवा पायलट एपटी
् यट
ू बैटरी टे सट् म पहले िवफल रहे उममीदवार
् तथा
आदतन चशमा
् पहनने वाले उममीदवार
् वायु सेना हे तु पात्र नहीं ह ।

वायु सेना के िलए एक से अिधक माधयम


् से आवेदन करने वाले उममीदवार
् का वायु सेना
चयन बोडर् के समक्ष परीक्षण/साक्षातकार:-

एफ (पी) पा यक्रम म प्रवेश के तीन माधयम


् ह, अथार्त ् समिमिलत
् रक्षा सेवा परीक्षा
(सीडीएसई)/एनसीसी/एयरमेन। वायु सेना के िलए एक से अिधक माधयम
् से आवेदन करने वाले
उममीदवार
् का, वायु सेना हे तु वायु सेना चयन बोडर् के समक्ष परीक्षण/साक्षातकार
् केवल एक बार
होगा। एनसीसी अथवा एयरमेन के प म कंपय
् ट
ू र पायलट चयन प्रणाली (सीपीएसएस) तथा/अथवा
पायलट एपटी ू बैटरी टे सट् म िवफल रहने वाले समान उममीदवार
् यट ् को सेना/नौसेना/ओटीए हे तु
ओएलक् यू परीक्षण के िलए पुन: तभी बुलाया जाएगा यिद उनह् ने समिमिलत
् रक्षा सेवा परीक्षा के
माधयम
् से आवेदन िकया हो। आईएमए (डीई) पा यक्रम तथा/अथवा नौसेना (एसई) पा यक्रम
तथा/अथवा वायु सेना अकादमी पा यक्रम के िलए िलिखत परीक्षा म अहर्क हुए उममीदवार
् को, भले
ही वे एसएससी पा यक्रम के िलए भी सफल हुए ह अथवा नहीं, अग त से िसतंबर, 2018 तक
आयोिजत होने वाले एसएसबी परीक्षण के िलए सच
ू ीबद्ध िकया जाएगा और केवल एसएससी पा यक्रम
के िलए सफल होने वाले उममीदवार
् को अक्तूबर से िदस बर, 2018 तक आयोिजत होने वाले
एसएसबी परीक्षण के िलए सच
ू ीबद्ध िकया जाएगा।

21 

 
9. प्रिशक्षण कोसर् म प्रवेश के िलए िनरहर्ताएं :

जो उममीदवार
् राषट्रीय
् रक्षा अकादमी, भारतीय सैिनक अकादमी, वायस
ु ेना अकादमी, भारतीय
् से पहले प्रवेश पा चुके ह पर अनश
नौसेना अकादमी और अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी, चेननई ु ासिनक
आधार पर वहां से िनकाल िदए गए ह, उनको भारतीय सैिनक अकादमी, भारतीय नौसेना अकादमी,
वायस
ु ेना अकादमी या थल सेना अकादमी से अलपकालीन
् सेवा कमीशन म प्रवेश दे ने की बात पर
िवचार नहीं िकया जाएगा।

िजन उममीदवार
् को एक अिधकारी से अपेिक्षत लक्षण के अभाव के कारण पहले भारतीय सैिनक
अकादमी से वापस िकया गया हो उनको भारतीय सैिनक अकादमी म प्रवेश नहीं िदया जाएगा।

िजन उममीदवार
् को सपे् शल एंट्री नेवल कैडे स के प म चन
ु िलया गया हो पर बाद म एक अिधकारी
म अपेिक्षत लक्षण के अभाव के कारण राषट्रीय
् रक्षा अकादमी या नौ सेना प्रितषठान
् से वापस िकया
हो वे भारतीय नौ सेना म प्रवेश के पात्र नहीं ह गे।

िजन उममीदवार
् को एक अिधकारी म अपेिक्षत लक्षण के अभाव के कारण भारतीय सैिनक
अकादमी, अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी, एनसीसी तथा सनातक
् कोसर् से वापस िलया गया हो, उनके
बारे म थल सेना म अलपकालीन
् सेवा कमीशन दे ने की बात पर िवचार नहीं िकया जाएगा। िजन
उममीदवार
् को एक अिधकारी से अपेिक्षत लक्षण के अभाव के कारण एनसीसी तथा सनातक
् कोसर् से
पहले वापस िकया गया हो, उनको भारतीय सैिनक अकादमी म प्रवेश नहीं िदया जाएगा।

10. भारतीय सैिनक अकादमी या भारतीय नौसेना अकादमी या वायु सेना अकादमी म प्रिशक्षण के
समय िववाह पर प्रितबंध :

भारतीय सैिनक अकादमी या भारतीय नौसेना अकादमी या वायु सेना अकादमी के कोसर् के
उममीदवार
् को या मिहला उममीदवार
् को जो अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी म भतीर् होते ह इस बात
का पिरवचन दे ना है िक जब तक उसका सारा प्रिशक्षण पूरा नहीं होगा तब तक वे शादी नहीं करगे। जो
उममीदवार
् अपने आवेदन की तारीख के बाद शादी कर लेते ह उनको प्रिशक्षण के िलए चन
ु ा नहीं
जाएगा चाहे वह इस परीक्षा म या अगली परीक्षा म भले ही सफल ह । जो उममीदवार
् प्रिशक्षण काल म
ही शादी कर लेगा उसे वापस भेज िदया जाएगा और उस पर सरकार ने जो पैसा खचर् िकया वह सब
उससे वसल
ू िकया जाएगा।

उममीदवार
् को यह वचन दे ना होगा िक वे प्रिशक्षण पूरा होने तक िववाह नहीं करगे। यिद कोई
उममीदवार
् यिद अपने वारा आवेदन करने की तारीख के बाद िववाह कर लेता है तो वह प्रिशक्षण का
पात्र नहीं होगा, भले ही वह िलिखत परीक्षा अथवा सेवा चयन बोडर् के साक्षातकार
् अथवा िचिकतसा

22 

 
परीक्षा म सफल रहा हो। जो उममीदवार
् अपनी प्रिशक्षण अविध के दौरान िववाह करगे उनह् िनमक
ुर् ् त
कर िदया जाएगा और उनह,
् सरकार वारा उन पर वयय
् समसत
् रािश लौटानी होगी।

11. भारतीय सैिनक अकादमी या भारतीय नौसेना अकादमी या वायु सेना अकादमी म प्रिशक्षण के
समय अनय
् प्रितबंध :
भारतीय सैिनक अकादमी या भारतीय नौसेना अकादमी या वायु सेना अकादमी म प्रवेश प्रापत
् करने
के बाद उममीदवार
् ू रे कमीशन के िलए िवचार योगय
िकसी दस ् नहीं ह गे। भारतीय सैिनक अकादमी या
भारतीय नौसेना अकादमी या वायु सेना अकादमी म प्रिशक्षण के िलए अंितम प से उनका चयन हो
जाने के बाद उनको और िकसी भी साक्षातकार
् या परीक्षा म उपसिथत
् होने की अनम
ु ित नहीं दी
जाएगी।

12. उममीदवार
् को अपना आवेदन प्रपत्र प्रसत
् ुत कर दे ने के बाद उममीदवारी
् वािपस लेने से संबद्ध
उसके िकसी भी अनरु ोध को िकसी भी पिरसिथित
् म सवीकार
् नहीं िकया जाएगा।

(ओम प्रकाश)
अवर सिचव
संघ लोक सेवा आयोग

23 

 
पिरिशषट-I

(परीक्षा की योजना, सतर
् और पा य िववरण)

(क) परीक्षा की योजना :

1. प्रितयोिगता परीक्षा म िनमनिलिखत


् समिमिलत
् होगा :
(क) नीचे के पैरा 2 म िनिदर् षट् रीित से िलिखत परीक्षा
(ख) उन उममीदवार
् का बौिद्धक और वयक्
् िततव् परीक्षण (इस पिरिशषट् के भाग-ख के अनस
ु ार)
के िलए साक्षातकार
् िजनह् िकसी भी एक सिवर्सेज सेलेक्शन सटर म साक्षातकार
् के िलए बुलाया
जाएगा।
2. िलिखत परीक्षा के िवषय, उनके िलए िदए जाने वाला समय तथा प्रतये
् क िवषय के िलए
अिधकतम अंक िनमनिलिखत
् ह गे :
(क) भारतीय सैिनक अकादमी, भारतीय नौसेना अकादमी और वायु सेना अकादमी म प्रवेश के
िलए
िवषय अविध अिधकतम अंक

1. अंग्रेजी 2 घंटे 100

2. सामानय
् ज्ञान 2 घंटे 100

3. प्रारं िभक गिणत 2 घंटे 100

(ख) अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी म प्रवेश के िलए

िवषय अविध अिधकतम अंक

1. अंग्रेजी 2 घंटे 100

2. सामानय
् ज्ञान 2 घंटे 100

िलिखत परीक्षा और साक्षातकार


् के िलए जो अिधकतम अंक िनयत िकए गए ह, वे प्रतये
् क िवषय के
िलए समान ह गे अथार्त भारतीय सैिनक अकादमी, भारतीय नौसेना अकादमी, वायु सेना अकादमी
और अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी म भतीर् के िलए िलिखत परीक्षा और साक्षातकार
् के िलए अिधकतम
अंक क्रमश: 300, 300, 300 और 200 ह गे।

3. सभी िवषय के प्रशनपत्र


् केवल वसत
् ुपरक प्रकार के ह गे। सामानय
् ज्ञान तथा प्रारं िभक गिणत के
प्रशन
् पत्र (परीक्षण पुसितकाएं
् ) िहंदी के साथ-साथ अंग्रेजी म, िवभाषी प म तैयार िकए जाएंगे।

24 

 
4. प्रशन
् पत्र म जहां भी आवशयक
् होगा केवल तोल और माप की मीटरी पद्धित से संबंिधत प्रशन
् को
ही पूछा जाएगा।

5. उममीदवार
् को प्रशन
् पत्र के उततर
् अपने हाथ से िलखने चािहए। िकसी भी दशा म उनह् प्रशन
् के
उततर
् िलखने के िलए िलखने वाले की सहायता सल
ु भ नहीं की जाएगी।

6. परीक्षा के एक या सभी िवषय के अहर्क अंक का िनधार्रण आयोग के िववेक पर है ।

7. उममीदवारे
् ां को वसत
् ुपरक प्रशन
् पत्र (परीक्षण पुसितकाओं
् ् दे ने के िलए केलकुलेटर का
) के उततर
प्रयोग करने की अनम
ु ित नहीं है , अत: वे उसे परीक्षा भवन म न लाएं।

(ख) परीक्षा का सतर


् और पा यक्रम िववरण :

सतर

प्रारं िभक गिणत के प्रशन


् पत्र का सतर
् मैिट्रकुलेशन परीक्षा का होगा, अनय
् िवषय म प्रशन
् पत्र का
सतर
् लगभग वही होगा िजसकी िकसी भारतीय िवशविव
् यालय के सनातक
् से अपेक्षा की जा सकती
है ।
पा य िववरण
अंग्रेजी (कोड सं. 01)

प्रशन
् पत्र इस प्रकार का होगा िक िजससे उममीदवार
् की अंग्रेजी और अंग्रेजी के शबद् के बोध की
परीक्षा ली जा सके।

सामानय
् ज्ञान (कोड सं. 02)

सामानय
् ज्ञान तथा साथ म समसामियक घटनाओं और िदन प्रितिदन दे खे और अनभ
ु व िकए जाने
वाले इसी तरह के मामले के वैज्ञािनक पक्ष की जानकारी िजसकी िकसी ऐसे िशिक्षत वयक्
् ित से अपेक्षा
की जा सकती है िजसने िकसी वैज्ञािनक िवषय का िवशेष अधययन
् न िकया हो। प्रशन
् पत्र म भारत के
इितहास और भग
ू ोल से संबंिधत ऐसे प्रशन
् भी ह गे िजनका उततर
् उममीदवार
् को उन िवषय का
िवशेष अधययन
् िकये िबना दे ना चािहए।
प्रारं िभक गिणत (कोड सं. 03)
अंकगिणत

संखया
् पद्धितयां : घनपूण,र् संखयाएं
् , पूणार्ंक, पिरमेय और वासतिवक
् संिक्रयाएं, मल
ू संिक्रयाएं – जोड़,
ू , दशमल िभनन।
घटाना, गुणन और िवभाजन, वगर्मल ्

25 

 
एिकक िविध: समय तथा दरू ी, समय तथा कायर्, प्रितशतता, साधारण तथा चक्रविृ द्ध बयाज
् म
अनप्र
ु येाग, लाभ और हािन, अनप
ु ात और समानप
ु ात िववरण।

प्रारं िभक संखया


् िसद्धांत : िवभाजन की कलन िविध, अभाजय
् और भाजय
् संखयाएं
् , 2,3,4,5,9 और
11 वारा िवभाजयता
् के परीक्षण अपवतर्य
् और गुणनखंड/गुणनखंडन प्रमेय/महततम
् समापवतर्य

और लघत
ु तम
् समापवतर्य,
् यिू क्लड की कलन िविध।

आधार 10 तक लघुगुणक, लघग


ु ुणक के िनयम, लघु-गुणकीय सारिणय का प्रयोग।

बीजगिणत

आधारभतू संिक्रयाएं: साधारण गुणनखंड, शेषफल प्रमेय, बहुपद का महतम, समापवतर्क और


लघत
ु तम
् समापवतर्य् िसद्धांत, िवघ समीकरण का हल, इसके मूल और गुणक के बीच संबंध
(केवल वासतिवक
् मल
ू पर िवचार िकया जाए) दो अज्ञात रािशय के यग
ु पद रै िखक समीकरण,
् षण और ग्राफ संबंधी हल, दो चर म यग
िवशले ु पद रै िखक अिसिमकाएं और उनके हल, प्रायोिगक
प्रशन
् िजनसे दो चर म दो यग
ु पद, रै िखक समीकरण या अिसिमकाएं बनती ह या एक चर म िवघात,
समीकरण तथा हल समुचचय
् भाषा तथा समुचचय
् अंकन पद्धित, पिरमेय वयं
् जक तथा प्रितबंध
ततसमक
् घातांक िनयम।
ित्रकोणिमित
जया
् X, कोिटजया
् X, सपशर्
् रे खा X, जब 00 ≤ X ≤ 900 कोिटजया,
् सपशर्
् रे खा X का मान
जबिक X 00, 300, 450, 600 और 900 सरल ित्रकोणिमतीय सारणय का प्रयोग, ऊंचाइय और दिू रय
के सरल कोण।
जयािमित

रे खा और कोण, समतल और समतल आकृित: िनमनिलिखत


् पर प्रमेय: (1) िकसी िबंद ु पर कोण के
गुणधमर्, (2) समांतर रे खाएं, (3) िकसी ित्रभुज की भुजाएं और कोण, (4) ित्रभज
ु की सवार्ंगसमता, (5)
ु (6) माधियकाओं
सम प ित्रभज ् और शीषर् लमब् का संगमन, (7) समानानतर
् चतुभज
ुर् , आयात और
वगर् के कोण , भज
ु ाओं के िवकलप् के गुणधमर्, (8) वत
ृ त ् रे खा तथा
् और उनके गुणधमर् िजसम, सपशर्
अिभलंब भी शािमल ह, (9) सथािनल
् संयक।

िवसतार
् कलन

वग , आयत , समानांतर चतुभज


ुर् , ित्रभज
ु और वत
ृ त
् के क्षेत्रफल, जो इन आकृितय म िवभािजत की
जा सकती ह। (क्षेत्र वही) घनाभ का पष
ृ ठीय
् क्षेत्रफल तथा आयतन, लमब,
् वत
ृ ीय शंकुओं और बेलन
का पाशर्व् पठाय तथा आयतन/गोलक का पष
ृ ठीय
् क्षेत्रफल तथा आयतन।
सांखियकी

26 

 
सांखियकी
् तथय ् का संग्रह तथा सारणीयन, आरे खी िन पण, बारमबारता, ् बहुभुज आयत, िचत्र
शलाका चाटर् , पाई चाटर् आिद केनद्रीय
् प्रवत
ृ ित
् के माप रे खाओं के बीच कोण।

् िततव् परीक्षण
बुिद्ध तथा वयक्

सेवा चयन बोडर् (एसएसबी) प्रिक्रया के अंतगर्त चयन प्रिक्रया के दो चरण होते ह – चरण-I तथा चरण-
II । चरण- II म केवल उनहीं
् उममीदवार
् को समिमिलत
् ु ित दी जाती है , जो चरण- I म
होने की अनम
सफल रहते ह। इसका िववरण िनमनान
् ुसार है :-

(क) चरण- I के अंतगर्त अिधकारी बिु द्धमता रे िटंग (ओआईआर) परीक्षण िचत्र बोध (िपक् चर
परसेपशन)
् *
िववरण परीक्षण (पीपी एवं डीटी) शािमल होते ह। उममीदवार
् को ओआईआर
परीक्षण तथा पीपी एवं डीटी म उनके संयुक्त प म कायर् िनषपादन
् के आधार पर सूचीबद्ध
िकया जाएगा।

(ख) चरण-II के अंतगर्त साक्षातकार,


् ग्रप
ु टे सिटं
् ग अिधकारी टासक,
् मनोिवज्ञान परीक्षण तथा
सममे
् लन (कांफ्रस) शािमल होता है । ये परीक्षण चरणबद्ध होते ह। इन परीक्षण का िववरण वेबसाइट
www.joinindianrmy.nic.in पर मौजूद है ।

िकसी उममीदवार
् के वयक्
् िततव् का आकलन तीन िविभनन
् आकलनकतार्ओ,ं नाम: साक्षातकार

अिधकारी (आईओ), ग्रुप टे ि टं ग अिधकारी (जीटीओ) तथा मनोवैज्ञािनक वारा िकया जाएगा।
् क परीक्षण के िलए अलग-अलग अंक (वेटेज) नहीं ह । आकलनकतार्ओं वारा उममीदवार
प्रतये ् को
अंक का आबंटन सभी परीक्षण म उनके समग्र कायर्िनषपादन
् पर िवचार करने के पशचात
् ही िकया
जाता है । इसके अितिरक् त, कांफ्रस हे तु अंक का आबटं न भी तीन तकनीक म उममीदवार
् के
आरं िभक कायर्िनषपादन
् तथा बोडर् के िनणर्य के आधार पर िकया जाता है । इन सभी के अंक (वेटेज)
समान ह।

आईओ, जीटीओ तथा मनोिवज्ञान के िविभनन


् परीक्षण इस प्रकार तैयार िकए जाते ह िजससे
उममीदवार
् म अिधकारीसममत
् गुण (आिफसर लाइक क् वािलटीज) के होने/नहीं होने तथा प्रिशिक्षत
् हो सके। तदनस
िकए जाने की उसकी क्षमता के बारे म जानकारी प्रापत ु ार, एसएसबी म उममीदवार

की अनश
ु ंसा की अथवा नहीं की जाती है ।

27 

 
पिरिशषट् – II

ऑनलाइन आवेदन के िलए अनद


ु े श 

उ मीदवार को www.upsconline.nic.in का उपयोग कर ऑनलाइन आवेदन करना अपेिक्षत


होगा। ऑनलाइन आवेदन प्रपत्र की प्रणाली की प्रमख
ु िवशेषताएं िन नानुसार ह:-
ऑनलाइन आवेदन को भरने के िलए िव तत
ृ अनद
ु े श उपयक्
ुर् त वेबसाइट पर उपल ध ह।

उ मीदवार को ड्रॉप डाउन मेनय


् ू के माधयम
् से उपयक्
ुर् त साइट पर उपल ध अनद
ु े श के अनस
ु ार दो
चरण अथार्त ् भाग-I और भाग-II म िनिहत ऑनलाइन आवेदन प्रपत्र को परू ा करना अपेिक्षत होगा।
उ मीदवार को 200/- . के शु क (मिहला, अजा और अजजा उममीदवार
् , िजनह् शु क के
भग
ु तान से छूट प्रापत
् है , को छोड़कर) को या तो भारतीय टे ट बक की िकसी शाखा म नकद जमा
करके या भारतीय टे ट बक/ टे ट बक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर/ टे ट बक ऑफ है दराबाद/ टे ट बक
ऑफ मैसरू / टे ट बक ऑफ पिटयाला/ टे ट बक ऑफ त्रावणकोर की नेट बिकंग सिु वधा का उपयोग
करके या वीजा/मा टर/ पे क्रेिडट/डेिबट काडर् का उपयोग करके भुगतान करना अपेिक्षत है ।
ऑनलाइन आवेदन भरना आरं भ करने से पहले उ मीदवार को अपना फोटोग्राफ और ह ताक्षर
जेपीजी प्रा प म िविधवत प से इस प्रकार कैन करना है िक प्र येक 40 केबी से अिधक नहीं ह ।
लेिकन आकार म 3 केबी से कम न हो ।
ऑनलाइन आवेदन (भाग-I और भाग-II) को िदनांक 08 नव बर, 2017 से 04 िदस बर, 2017 तक
भरा जा सकता है ।

आवेदक को एक से अिधक आवेदन पत्र नहीं भेजने चािहए। तथािप यिद िकसी अपिरहायर्
पिरि थितवश कोई आवेदक एक से अिधक आवेदन पत्र भेजता/भेजती है तो वह यह सिु नि चत कर
ले िक उ च आरआईडी वाला आवेदन पत्र हर तरह से पूणर् है ।
एक से अिधक आवेदन पत्र के मामले म, आयोग वारा उ च आरआईडी वाले आवेदन पत्र पर ही
िवचार िकया जाएगा और एक आरआईडी के िलए अदा िकए गए शु क का समायोजन िकसी अ य
आरआईडी के िलए नहीं िकया जाएगा।
आवेदक अपना आवेदन प्रपत्र भरते समय यह सिु नि चत कर िक वे अपना वैध और सिक्रय ई-मेल
आईडी प्र तुत कर रहे ह क्य िक आयोग परीक्षा प्रिक्रया के िविभ न चरण म उनसे संपकर् करने के
िलए इलेक्ट्रॉिनक मा यम का इ तेमाल कर सकता है ।
आवेदक को सलाह दी जाती है िक वे अपना ई-मेल लगातार दे खते रह तथा यह सिु नि चत कर िक
@nic.in से समापत
् होने वाले ई-मेल पते उनके इनबॉक्स फो डर की ओर िनदिशत ह तथा उनके
एसपीएएम (SPAM) फो डर या अ य िकसी फो डर की ओर नहीं।
उ मीदवार को सख्त सलाह दी जाती है िक ऑनलाइन आवेदन की अंितम तारीख का इंतजार िकए
िबना समय-सीमा के भीतर ऑनलाइन आवेदन कर।

पिरिशषट् – III
28 

 
वसत
् ुपरक परीक्षण हे तु उममीदवार
् के िलए िवशेष अनद
ु ेश

1. परीक्षा हाल म िनमनिलिखत


् वसत ु ं लाने की अनम
् ए ु ित होगी

क् िलप बोडर् या हाडर् बोडर् (िजस पर कुछ न िलखा हो) उततर


् पत्रक पर प्रतय
् ुततर
् को अंिकत
करने के िलए एक अचछी
् िकसम
् का काला बाल पेन, िलखने के िलए भी उनह् काले बाल
पेन का ही प्रयोग करना चािहए। उततर
् पत्रक िनरीक्षक वारा िदए जाएंगे।
2. परीक्षा हाल म िनमनिलिखत
् वसत
् ुएं लाने की अनुमित नहीं होगी
ऊपर दशार्ई गई वसत
् ुओं के अलावा अनय
् कोई वसत
् ु जैसे पुसतक
् , नो स, खुले कागज,
इलैक्ट्रािनक या अनय
् िकसी प्रकार के केलकुलेटर, गिणतीय तथा आरे ख उपकरण,
लघग
ु ुणक सारणी, मानिचत्र के सटिसल,
् सलाइड
् ल, पहले सत्र (सत्र ) से संबंिधत
परीक्षण पुसितका
् और कचचे
् कायर्पत्रक, आिद परीक्षा हाल म न लाएं।
मोबाइल फोन, पेजर, बल
् ू◌् ाटूथ एवं अनय
् संचार यंत्र उस पिरसर म जहां परीक्षा आयोिजत
की जा रही है , लाना मना है । इन िनदश का उ लंघन करने पर अनश
ु ासिनक कायर्वाही के
साथ-साथ भिवषय
् म आयोिजत की जाने वाली परीक्षाओं से प्रितबंिधत िकया जा सकता
है ।
उममीदवार
् को उनके सवयं
् के िहत म सलाह दी जाती है िक वे मोबाइल फोन/पेजर/बल
् ट
ू ूथ
सिहत कोई भी विजर्त वसत
् ु परीक्षा पिरसर म न लाएं क् य िक इनकी अिभरक्षा के िलए
वयवस
् था
् की गारं टी नहीं ली जा सकती।
उममीदवार
् को सलाह दी जाती है िक वे परीक्षा हॉल म कोई भी बहुमूलय् वसत ् ु न लाएं
क् य िक उनकी सरु क्षा सिु नशिचत
् नहीं की जा सकती। इस संबंध म िकसी भी नक
ु सान के
िलए आयोग िजममे
् दार नहीं होगा।
3. गलत उततर
् के िलए दं ड

वसत् िु नषठ् प्रशन


् -पत्र म उममीदवार
् वारा िदए गए गलत उततर
् के िलए दं ड (नेगेिटव
मािकर्ंग) िदया जाएगा।
(i) प्रतये
् क प्रशन
् के िलए चार वैकलिपक
् उततर
् ह। उममीदवार
् वारा प्रतये
् क प्रशन
् के
िलए िदए गए एक गलत उततर
् के िलए प्रशन
् हे तु िनयत िकए गए अंक का 1/3
(0.33) दं ड के प म काटा जाएगा।
(ii) यिद कोई उममीदवार
् एक से अिधक उततर
् दे ता है , तो इसे गलत उततर
् माना
जाएगा। य यिप िदए गए उततर
् म से एक उततर
् सही होता है , िफर भी उस प्रशन

ुर् ् तानस
के िलए उपयक ु ार ही उसी तरह का दं ड िदया जाएगा।
(iii) यिद उममीदवार
् वारा कोई प्रशन
् हल नहीं िकया जाता है अथार्त ् उममीदवार
् वारा
उततर
् नहीं िदया जाता है तो उस प्रशन
् के िलए कोई दं ड नहीं िदया जाएगा।
4. अनिु चत तरीक की सखती
् से मनाही
कोई भी उममीदवार
् िकसी भी अनय
् उममीदवार
् के पेपर से न तो नकल करे गा न ही अपने
29 

 
पेपर से नकल करवाएगा, न ही िकसी अनय
् तरह की अिनयिमत सहायता दे गा, न ही
सहायता दे ने का प्रयास करे गा, न ही सहायता प्रापत
् करे गा और न ही प्रापत
् करने का
प्रयास करे गा।
5. परीक्षा भवन म आचरण
कोई भी परीक्षाथीर् िकसी भी प्रकार का दव
ु र्यवहार
् न कर तथा परीक्षा हाल म अवयवस
् था
् न
फैलाएं तथा परीक्षा के संचालन हे तु आयोग वारा तैनात सटाफ
् को परे शान न कर। ऐसे
िकसी भी दरु ाचरण के िलए कठोर दं ड िदया जाएगा।
6. उततर
् पत्रक िववरण

(i) उततर
् पत्रक के ऊपरी िसरे के िनधार्िरत सथान
् पर आप अपना केनद्र् और िवषय,
परीक्षण पुसितका
् ख
ं ृ ला (कोषठक
् म) िवषय कोड और अनुक्रमांक काले बाल
पवां
् इट पेन से िलख।    उततर
् पत्रक म इस प्रयोजन के िलए िनधार्िरत वत
ृ त
् म
अपनी परीक्षण पुसितका
् ख
ंृ ला (ए.बी.सी.डी., यथासिथित),
् िवषय कोड तथा
अनक्र
ु मांक काले बाल पेन से कूटबद्ध कर। उपयक
ुर् ् त िववरण िलखने तथा उपयक
ुर् ् त
ु ंध म िदए गए ह। यिद परीक्षण
िववरण कूटबद्ध करने के िलए मागर्दशीर् िसद्धांत अनब
पुसितका
् पर ख
ंृ ला मिु द्रत न हुई हो अथवा उततर
् पत्रक िबना संखया
् के ह तो
कृपया िनरीक्षक को तुरंत िरपोटर् कर और परीक्षण पुसितका/उत
् तर
् पत्रक को बदल
ल।
(ii)  उममीदवार
् ् पत्रक म िववरण कूटबद्ध करने/भरने म
नोट कर िक ओएमआर उततर
िकसी प्रकार की चूक/त्रिु ट/िवसंगित, िवशेषकर अनुक्रमांक तथा परीक्षण पुि तका
ं ृ ला कोड के संदभर् म, होने पर उततर
ख ् पत्रक असवीक
् ृ त िकया जाएगा।
(iii) परीक्षा आरं भ होने के ततकाल
् बाद कृपया जांच कर ल िक आपको जो परीक्षण
पुि तका दी गई है उसम कोई पष ृ ठ् या मद आिद अमिु द्रत या फटा हुआ अथवा
गायब तो नहीं है । यिद ऐसा है तो उसे उसी ख ं ृ ला तथा िवषय की पूणर् परीक्षण
पुसितका
् से बदल लेना चािहए।
7. उततर
् पत्रक/परीक्षण पस
ु ितका
् म मांगी गई िविशषट् मद की सच
ू ना के अलावा कहीं पर
भी अपना नाम या अनय
् कुछ नहीं िलख।
8. उततर
् पत्रक को न मोड़ या न िवकृत कर अथवा न बबार्द कर अथवा उसम न ही कोई
् पत्रक के पीछे की ओर कुछ भी न िलख।
अवांिछत/असंगत िनशान लगाएं। उततर
9. चिूं क उततर
् पत्रक का मल
ू यां
् कन कंपय ू रीकृत मशीन पर होगा, अत: उममीदवार
् ट ् को
उततर
् पत्रक के रखरखाव तथा उनह् भरने म अित सावधानी बरतनी चािहए। उनह् वत
ृ त

को काला करने के िलए केवल काले बाल पेन का उपयोग करना चािहए। बॉक् स म िलखने
के िलए उनह् काले बाल पेन का इसते
् माल करना चािहए। चिंू क उममीदवार
् वारा वत
ृ त

को काला करके भरी गई प्रिवषिटय
् को कमप् य
् ट
ू रीकृत मशीन वारा उततर
् पत्रक का
ू यां
मल ् कन करते समय धयान
् म रखा जाएगा, अत: उनह् इन प्रिवषिटय
् को बड़ी सावधानी

30 

 
से तथा सही-सही भरना चािहए।
10. उततर
् अंिकत करने का तरीका

वसत
् ुपरक परीक्षा म आपको उततर
् िलखने नहीं ह गे। प्रतये
् क प्रशन
् (िजनह् आगे प्रशनां
् श
कहा जाएगा) के िलए कई सझ
ु ाए गए उततर
् (िजनह् आगे प्रतय
् ुततर
् कहा जाएगा) िदए
जाते ह उनम से प्रतये
् क प्रशनां
् श के िलए आपको एक प्रतय ु तर
् त ् चन
ु ना है ।
प्रशन
् पत्र परीक्षण पुसितका
् के प म होगा। इस पुसितका
् म क्रम संखया
् 1, 2, 3……
आिद के क्रम म प्रशनां
् श के नीचे (ए), (बी), (सी) और (डी) के प म प्रतय
् त
ु तर
् अंिकत
ह गे। आपका काम एक सही प्रतय
् त
ु तर
् ु ना है । यिद आपको एक से अिधक
को चन
प्रतय
् त
ु तर
् सही लग तो उनम से आपको सव ततम
् प्रतय
् त
ु तर
् का चन
ु ाव करना होगा। िकसी
भी सिथित
् म प्रतये
् क प्रशनां ् त
् श के िलए आपको एक ही प्रतय ु तर
् का चन
ु ाव करना होगा।
यिद आप एक से अिधक प्रतय ु तर
् त ् चुन लेते ह तो आपका प्रतय ु तर
् त ् गलत माना जाएगा।
उततर
् पत्रक म क्रम संखयाएं
् 1 से 160 छापे गए ह, प्रतये
् क प्रशनां
् श (संखया)
् के सामने
(ए), (बी), (सी) और (डी) िचनह् वाले वत
ृ त
् छपे होते ह। जब आप परीक्षण पुसितका
् के
प्रतये ् श को पढ़ ल और यह िनणर्य करने के बाद िक िदए गए प्रतय
् क प्रशनां ् त
ु तर
् म से कोन
सा एक प्रतय
् ुततर
् सही या सव ततम
् ह, आपको अपना प्रतय
् ुततर
् उस वत
ृ त
् को काले बाल
पेन से परू ी तरह से काला बनाकर अंिकत कर दे ना है ।
उदाहरण के तौर पर यिद प्रशनां
् श 1 का सही प्रतय ु तर
् त ् (बी) है तो अक्षर (बी) वाले वत
ृ त
् को
िनमनान
् स ु ार काले बाल पेन से पूरी तरह काला कर दे ना चािहए जैसा िक नीचे िदखाया गया
है ।
उदाहरण (a ) • (c) (d )

11. उममीदवार
् अपने उततर
् को अपने ही हाथ से िलख। उनह् िकसी भी हालत म उततर

िलखने के िलए िकसी वयिक्त
् की सहायता लेने की अनम
ु ित नहीं दी जाएगी।
12. सक
् ै नेबल उपसिथित
् सूची म एंट्री कैसे कर :

उममीदवार
् को सक
् ै नेबल उपसिथित
् सच
ू ी म, जैसा नीचे िदया गया है , अपने कॉलम के
सामने केवल काले बाल पेन से संगत िववरण भरना है ।
(i) उपसिथित/अन
् प
ु सिथित
् कॉलम म, [P] वाले गोले को काला करना है ।

(ii) समुिचत परीक्षण पुसितका


् सीरीज के संगत गोले को काला कर।

(iii) समुिचत परीक्षण पुसितका


् क्रम संखया
् िलख।

(iv) समुिचत उततर


् पत्रक क्रम संखया
् िलख और प्रतये
् क अंक के नीचे िदए गए गोले को
भी काला कर।
(v) िदए गए सथान
् पर अपना हसताक्षर
् कर।

31 

 
13. कृपया परीक्षण पुसितका
् के आवरण पर िदए गए अनद
ु े श को पढ़ और उनका पालन कर।
यिद कोई उममीदवार
् अवयवस
् िथत
् अथवा अनिु चत आचरण म शािमल होता है तो वह
अनश
ु ासिनक कारर् वाई और/या आयोग वारा उिचत समझे जाने वाले दं ड का भागी बन
सकता है ।
अनब
ु ंध
परीक्षा भवन म व तुपरक परीक्षण के उ तर पत्रक कैसे भर
कृपया इन अनद
ु े श का अ यंत सावधानीपव
ू क
र् पालन कर। आप यह नोट कर ल िक चिंू क उ तर-पत्रक
का अंकन मशीन वारा िकया जाएगा, इन अनद
ु े श का िकसी भी प्रकार का उ लंघन आपके
प्रापतां
् क को कम कर सकता है , िजसके िलए आप वयं उ तरदायी ह गे।

उ तर पत्रक पर अपना प्र यु तर अंिकत करने से पहले आपको इसम कई तरह के िववरण िलखने
ह गे। उ मीदवार को उ तर पत्रक प्रापत
् होते ही यह जांच कर लेनी चािहए िक इसम नीचे संख्या दी
गई है । यिद इसम संख्या न दी गई हो तो उ मीदवार को उस पत्रक को िकसी संख्या वाले पत्रक के
साथ त काल बदल लेना चािहए।
आप उ तर-पत्रक म दे खगे िक आपको सबसे ऊपर की पंिक्त म इस प्रकार िलखना होगा।

केनद्र् िवषय िवषय कोड अनक्र


ु मांक

मान लो यिद आप अंग्रेजी के प्रशन-पत्र


् के वासते
् परीक्षा म िद ली के द्र पर उपि थत हो रहे ह और
आपका अनुक्रमांक 081276 है तथा आपकी परीक्षण पुि तका ख
ं ृ ला ‘ए’ है तो आपको काले बाल
पेन से इस प्रकार भरना चािहए।

केनद्र् िवषय िवषय कोड अनक्र


ु मांक

िदलली
् अंग्रेजी(ए) 0 1 0 8 1 2 7 6

आप के द्र का नाम अंग्रेजी या िह दी म काले बाल पेन से िलख।

परीक्षण पिु तका ं ृ ला कोड पिु तका के सबसे ऊपर दाय हाथ के कोने पर ए बी सी अथवा डी के

अनुक्रमांक के अनस
ु ार िनिदर् ट ह।
आप काले बाल पेन से अपना ठीक वही अनक्र
ु मांक िलख जो आपके प्रवेश प्रमाण पत्र म है । यिद
अनुक्रमांक म कहीं शूनय
् हो तो उसे भी िलखना न भूल।

32 

 
आपको अगली कारर् वाई यह करनी है िक आप नोिटस म से समुिचत िवषय कोड ढूढ़। जब आप
परीक्षण पुि तका ख
ं ृ ला, िवषय कोड तथा अनुक्रमांक को इस प्रयोजन के िलए िनधार्िरत व ृ त म
कूटबद्ध करने का कायर् काले बाल पेन से कर। के द्र का नाम कूटबद्ध करने की आव यकता नहीं है ।
परीक्षण पुि तका ख
ं ृ ला को िलखने और कूटबद्ध करने का कायर् परीक्षण पुि तका प्रापत
् होने तथा
उसम से पुि तका ख
ंृ ला की पुि ट करने के पशचात
् ् ही करना चािहए। ‘ए’ परीक्षण पुि तका ख
ं ृ ला
के अंग्रेजी प्रशन
् पत्र के िलए आपको िवषय कोड सं. 01 िलखनी है , इसे इस प्रकार िलख।

पुि तका क्रम (ए) िवषय

0 1
A

0 0

B
1 1

2 2

C
3 3

4 4
D
5 5

6 6

7 7

8 8

9 9

अनक्र
ु मांक
बस इतना भर करना है िक परीक्षण पिु तका ख
ंृ ला के नीचे िदए
गए अंिकत व ृ त ‘ए’ को पूरी तरह से काला कर द और िवषय कोड 0 8 1 2 7 6
के नीचे‘0’के िलए (पहले उ वार्धर कॉलम म) और 1 के िलए
(दस
ू रे उ वार्धर कॉलम म) व ृ त को पूरी तरह काला कर द। आप
0 0  0  0  0  0

व ृ त को परू ी तरह उसी प्रकार काला कर िजस तरह आप उ तर


1 1  1  1  1  1

पत्रक म िविभनन
् प्रशनां
् श के प्रतय
् त ् अंिकत करते समय करगे,
ु तर
2 2  2  2  2  2

तब आप अनुक्रमांक 081276 को कूटबद्ध कर। इसे उसी के अनु प


3 3  3  3  3  3

इस प्रकार करगे।
4 4  4  4  4  4

5 5  5  5  5  5

मह वपूणर् : कृपया यह सुिनशिचत


् कर ल िक आपने अपना 6 6  6  6  6  6

िवषय, परीक्षण पुि तका क्रम तथा अनुक्रमांक ठीक से 7 7  7  7  7  7

कूटबद्ध िकया है । 8 8  8  8  8  8

9 9  9  9  9  9

* यह एक उदाहरण मात्र है तथा आपकी संबंिधत परीक्षा से इसका कोई संबंध नहीं है ।

33 

 
34 

 
पिरिशषट् - IV
समिमिलत
् रक्षा सेवा परीक्षा के िलए उममीदवार
् के शारीिरक मानक संबध
ं ी िदशा-िनदश
िटपपणी
् I : उममीदवार
् को िनधार्िरत मानक के अनुसार शारीिरक प से सवस
् थ् होना आवशयक
् है । सवस
् थता
् संबध
ं ी
मानक और ततसं
् बंधी िदशा-िनदश नीचे िदए गए ह।
बहुत से अहर्ता प्रापत
् उममीदवार
् बाद म सवास
् थ ् य
् के आधार पर असवीक् ृ त कर िदए जाते ह। अत: उममीदवार

को उनके अपने िहत म सलाह दी जाती है िक वे अंितम अवसथा ् पर िनराशा से बचने के िलए आवेदन प्रपत्र भेजने से पहले
अपने सवास
् थ ् य
् की जांच करा ल।
िटपपणी
् II : केवल हाथ के भीतर की तरफ अथार्त ् कुहनी के भीतर से कलाई तक और हथेली के ऊपरी भाग/हाथ के िपछले
िहससे
् की तरफ शरीर पर सथायी
् टै टू की अनुमित है । शरीर के िकसी अनय
् िहससे
् पर सथायी
् टै टू सवीकायर्
् नहीं है और
उममीदवार
् को आगे के चयन से िवविजर्त कर िदया जाएगा। जनजाितय को उनके मौजद
ू ा रीित िरवाज एवं परं परा के
अनुसार मामला दर मामला के आधार पर उनके चेहरे या शरीर पर टै टू के िनशान की अनुमित होगी।
1. सेवा चयन बोडर् वारा अनश
ु िं सत उममीदवार
् को सेना के िचिकतसा ् अिधकािरय के बोडर् वारा सवास
् थ ् य

परीक्षा करानी होगी। मिहला उममीदवार
् का पु ष/मिहला िचिकतसक
् /िवशेषज्ञ /सत्री
् रोग िवशेषज्ञ से
गिठत एक िचिकतसक
् बोडर् वारा िचिकतसीय
् परीक्षण िकया जाएगा। एक मिहला िचिकतसक
् बोडर् की
सदसया
् होगी। अकादमी या प्रिशक्षणालय म केवल उनहीं
् उममीदवार
् को प्रवेश िदया जाएगा जो िचिकतसा

बोडर् वारा सवस
् थ् घोिषत कर िदए जाते ह। तथािप, जो उममीदवार
् अनुपयक
ु ् त/अयोगय
् घोिषत िकए जाएंगे
उनह् मेिडकल बोडर् के अधयक्ष
् वारा सूिचत िकया जाएगा और अपील मेिडकल बोडर् को अनरु ोध िकए जाने
की प्रिक्रया भी उममीदवार
् को सिू चत की जाएगी ।
ु ् त/अयोगय
अनुपयक ् उममीदवार
् अपील मेिडकल बोडर् के (ए॰एम॰बी॰) को आवेदन कर सकते ह, िजसे सेवा
मेिडकल बोडर् (एस॰एम॰बी॰) के 42 िदन के भीतर ही पूरा िकया जाना है तथा वे अपील मेिडकल बोडर् के एक
िदन पूरा होने के भीतर ही िरवय
् ू मेिडकल बोडर् के िलए अनुरोध कर सकते ह।

एएमबी वारा अयोगय


् घोिषत िकए उममीदवार
् को ए॰एम॰बी॰ की जांच पिरणाम को चुनौती दे ने की प्रिक्रया
के संबंध म एएमबी अधयक्ष
् वारा सूिचत िकया जाएगा िक पुनरीक्षण िचिकतसा
् बोडर् (आर॰एम॰बी॰) का
आयोजन, मामले के गण
ु ावगण
ु के आधार पर डी॰जी॰ए॰एफ॰एम॰एस॰ के िववेक से सवीक
् ृ त िकया जाएगा तथा
पुनरीक्षण िचिकतसा
् बोडर् का आयोजन अिधकार का िवषय नहीं है । यिद अभयथीर्
् आर॰एम॰बी॰ म प्राथर्ना
करना चाहता है तो उसे डी॰जी॰आर॰टी॰जी॰ (सीडीएसई) आमीर् है ड-क् वा., वेसट् बलॉक-III,
् आर.के. परु म, नई
िदलली-110066
् और डीएमएस (एमबी)/डी॰जी॰एम॰एस॰ (वाय)ु , वायु सेना मुखयालय,
् आर.के. परु म, यिद
उममीदवार
् वायु सेना का हो, को संबोिधत करना चािहए तथा इसकी एक प्रित ए॰एम॰बी॰ अधयक्ष
् को
् िरत करनी चािहए। डी॰जी॰ए॰एफ॰एम॰एस॰ का ऑिफस, ितिथ एवं सथान
हसतां ् (केवल िदलली
् एवं पुणे), जहां
अभयथीर्
् आर॰एम॰बी॰ के िलए प्रसत
् त
ु होगा, को सूिचत करे गा। उममीदवार
् के िलए नीचे संिक्षपत
् प म िदए
् थ
गए िनधार्िरत शारीिरक मानक के अनुसार सवस ् होना आवशयक
् है :

(क) उममीदवार
् का शारीिरक तथा मानिसक सवास
् थ ् य
् ठीक होना चािहए तथा उनह् ऐसी
बीमारी/अशक् तता से मुक्त होना चािहए िजससे उनके कुशलतापूवक
र् कायर् करने म बाधा पड़ सकती
हो।
(ख) उनम कमजोर शारीिरक गठन, दै िहक दोष की सथ
् ूलता नहीं होनी चािहए।

35 

 
(ग) पु ष के िलए कद कम से कम 157.5 समी. (नौसेना के िलए 157 समी तथा वायु सेना के िलए 162.5
समी.) का हो। मिहलाओं के िलए कद कम से कम 152 समी हो। गोरखा और भारत के उततर
् पव
ू र् के
पवर्तीय प्रदे श , गढ़वाल तथा कुमायूं के वयक्
् ितय का 5 समी. कम कद सवीकायर्
् होगा। लक्ष वीप के
उममीदवार
् के मामले म नय
् ूनतम कद म 2 समी. की कमी भी सवीकायर्
् की जा सकती है ।
यह छूट वायु सेना के मामले म लागू नहीं होगी। केवल थल सेना और नौसेना के िलए कद और वजन
मानक नीचे िदए गए ह। लंबाई के सापेक्ष भार िनिदर् ट नहीं िकए गए मामल म अंतवशन संभव है ।

कद और वजन के मानक (पु ष)


सटीमीटर म कद वजन िकलोग्राम म
(जूत के िबना) 18 वषर् 20 वषर् 22 वषर्
152 44* 46 47
155 46 48@ 49
157 47 49 50
160 48 50 51
162 50 52 53
165 52 53 55
168 53 55 57
170 55 57 58
173 57 59 60
175 59 61 62
178 61 62 63
180 63 64 65
183 65 67 67
185 67 69 70
188 70 71 72
190 72 73 74
193 74 76 77
195 77 78 79
* नौसेना के िलए 45
@ नौसेना के िलए 47
ुर् ् त सारणी म िदए गए औसत वजन का + 10 प्रितशत (नौसेना के िलए) वजन सामानय
उपयक ् सीमा के अंदर माना जाएगा।
िकंतु भारी ह िडय वाले लंबे चौड़े वयक्
् ितय तथा पतली दे हयषिट
् पर अनयथा
् सवस
् थ् वयक्
् ितय के मामले म गण
ु वतता

के आधार पर इसम कुछ छूट दी जा सकती है ।
कद और वजन के मानक (मिहलाएं)
सटीमीटर म कद वजन िकलोग्राम म
(जूत के िबना) 20 वषर् 25 वषर् 30 वषर्
148 39 41 43
150 40 42 43.5
153 42 43.5 45
155 43 44 46
36 

 
158 45 46 48
160 46 47 49
163 47 49 51
165 49 51 53
168 50 52 54
वायु सेना के उममीदवार
् के सवीकायर्
् वजन नीचे िदए औसत वजन का + 10 प्रितशत होगा।
पु ष के िविभनन
् आयव
ु गर् और कद के िलए िकलोग्राम म आदशर् वजन सामानय
् वयक्
् ितय के िलए वसा प्रितशत (<
20)
वायु सेना के िलए
कद आयु रज
िम.मी.म 15-17 18-22 23-27 28-32 33-37 38-42 43-47 >48
1520 46 47 50 54 54 54 55 54
1530 47 47 51 55 55 54 56 54
1540 47 48 51 56 55 55 57 55
1550 48 49 52 56 56 56 57 56
1560 48 49 53 57 57 56 58 56
1570 49 50 54 58 58 57 58 57
1580 49 50 54 58 58 58 59 58
1590 50 51 55 59 59 59 60 58
1600 51 52 56 59 60 59 60 59
1610 51 52 56 60 60 60 61 60
1620 52 53 57 61 61 61 62 60
1630 52 54 58 61 62 61 62 61
1640 53 54 59 62 63 62 63 62
1650 53 55 59 63 63 63 64 62
1660 54 56 60 63 64 64 64 63
1670 54 56 61 64 65 64 65 64
1680 55 57 61 65 65 65 65 65
1690 55 57 62 65 66 66 66 65
1700 56 58 63 66 67 67 67 66
1710 56 59 64 66 68 67 67 67
1720 57 59 64 67 68 66 68 67
1730 58 60 65 68 69 69 69 68

1740 58 61 66 68 70 69 69 69
1750 59 61 66 69 71 70 70 69
1760 59 62 67 70 71 71 71 70
1770 60 62 68 70 72 72 71 71
1780 60 63 69 71 73 72 72 71
1790 61 64 69 72 73 73 73 72
1800 61 64 70 72 74 74 73 73
1810 62 65 71 73 75 75 74 73

37 

 
1820 62 66 72 74 76 75 74 74
1830 63 66 72 74 76 76 75 75
1840 64 67 73 75 77 77 76 75
1850 64 68 74 75 78 77 76 76
1860 65 68 74 76 78 78 77 77
1870 65 69 75 77 79 79 78 77
1880 66 69 76 77 80 80 78 78
1890 66 70 77 78 81 80 79 79
1900 67 71 77 79 81 81 80 79
1910 67 71 78 79 82 82 80 80
1920 68 72 79 80 83 82 81 81
1930 68 73 79 81 83 83 81 82
एस डी 6.0 6.3 7.1 6.6 6.9 6.8 5.8 7.26

(घ) आपके अपने िहत म आपको यह सलाह दी जाती है िक सेवा चयन बोडर् के साक्षातकार
् हे तु िरपोटर्
करने से पहले आप कान की मैल, आंख के अपवतर्न दोष, तवचा
् आिद के कवकी संक्रमण के िलए
प्रारं िभक जांच करवा ल ।
(ड़) िकसी और होगा गज
ु रना से प्रिशक्षण सै य किठन को उ मीदवार सभी चयिनत (भभाग
ू -,
मौसम और कठोर पिरि थितय म सै य यट
ू ी के िलए तैनात िकया जाएगा। ऐसी पिरि थितय
म टीम के िकसी भी सद य की बीमारी,पूरी तरह से सै य अिभयान को खतरे म डाल सकती है
या पूरी टीम खतरे म पड़ सकती है , इसिलए उन अ यिथर्य का चयन करने के िलए िचिक सा
जांच की जाती है , जो भी िकसी"भभाग
ू -, मौसम और कठोर पिरि थितय म सै य कतर् य का
पालन करने के िलए िचिक सा की ि ट से उपयुक्त ह"। उ मीदवार को - :

(i) प्रिशक्षण और सश त्र बल के सै य कतर् य को करनेके िलए शारीिरक और मानिसक


दबाबको बकदा त करने म सक्षम हो।

(ii) भौगोिलक क्षेत्र की सीमाओं की आव यकता के िबना और िवशेष सै य पिरवेश के


अनुकूल होने िचिक सा दे खभाल के िबना सै य कायर् म सक्षम होने के िलए िचिक सयिफट।

(iii) बीमािरय या शारीिरक दोष से मुक्त हो तािक उपचार और अ पताल म भतीर् के


कारण कायर्समय की क्षित से बचा जाए।

(iv)संक्रामक रोग से मक्


ु त हो,जो अ य किमर्य के वा य को खतरे म डाल सकता है ।

(च ( सभी उ मीदवार की जांच िचिक सा अिधकािरय वारा की जाएगी, जो मूल सै य


प्रिशक्षण से गुजर रहे ह और सै य तैनाती और कामकाजी पिरि थितय के काम करने की
ि थित म अ छी तरह से उ मख
ु ह। िचिक साबोडर्,नािमत सै य अ पताल म िचिक सा और
सै य िवज्ञान म ऊपर िदए गए िसद्धांत और नवीनतम ज्ञान के आधार पर आयोिजत िकए जाते
ह। पूरे शरीर को सामा य ज मजात िवकृित और अ य आसानी से पता लगाने योग्य
िवकलांगता को प्रदिशर्त करने के िलए संभवतः हद तक जांच की जाती है । िचिक सा परीक्षा का
िनदान नैदािनक प्रकृित के िलए नहीं है , इसिलए केवल जहां तक संकेत िदया गया है क्रीिनंग के
उ े य के िलए सीिमत जांच की जाती है । यहां बताई गई िचिक सा िफटनेस के मानदं ड केवल
एक परे खा ह, और उ मीदवार के सामा य मागर्दशर्न के िलए ही इसका उ े य है । िचिक सा

38 

 
अिधकािरय का बोडर् सश त्र बल म भतीर् अिधक और िलए के आयोग / यापक िचिक सा
मानक को लागू करता है ।

(छ( िन निलिखत िचिक साबोडर् के दौरान अिनवायर् प से जांच की जाती है ,हालांिक, िकसी
भी उ मीदवार का िनरीक्षण करने वाले िचिक सा अिधकारी /िचिक साबोडर् आव यक अ य
संकेत के िलए पूछ सकते ह या संकेत दे सकते ह- :

(i) पूरा हामोग्राम


(ii) मूत्र आरई एमई /
(iii) एक्स रे छातीपीए यू
(iv) यए
ू सजी पेट और ोिण
(ज) िन निलिखत अ वीकृित के िलए सामा य कारण ह, सच
ू ी संपण
ू र् नहीं है और मेिडकल
बोडर् िफटनेस पर अंितम प्रािधकरण है ।
(iसाइनस भी कहीं पर शरीर (, िफ टुला और हिनर्या, पुटी, हाइपर पैच वणर्क हाइपो /, सूजन,
नायवेस, संवहनी िवकृितयां िनशान।
(ii) िसर और गदर् न :म कुलो केलेटल- केलटे ल िवकृितयां जो सुरक्षा िगयर, ग्रीवा िरब का
उपयोग करने म ह तक्षेप कर सकते ह।
(iii) छाती- म कुलो केलेटल िवकृितयां जैसे एक् ट्रावैटम, िपंजन छाती, िरक्की मासरु , फु फुस
उगाना, फेफड़े के पैरेि चमल घाव, तपेिदक के सिक्रय या अविश ट घाव ।
(iv)पेट और प्रजनन प्रणालीहिनर्या :, ऑन मेगाली, नाड़ी िवकृित गद
ु की िवकृित, िप त प थर ,
गद
ु के टोन आिद प्रजनन प्रणाली की िवकृित।
(v) ऊपरी अंग, िनचले अंग और रीढ़जोड़ :, क्यिू बटस वा गस
ु , क्यिू बटस वाजस, जीनू
िरकरावटाम, हाथ और पैर की िवकृित, िकफोिसस, कोिलयोिसस, ज मजात िवकृित जैसे
पाइना िबिफडा आिद की हाइपर लचीला या प्रितबंिधत गित।
(vi) वचािविटिलगो :, िनशान, संवहनी िव पता परु ानी वचा रोग।
(झ) आंख और िवजन मानक :
(i) मेरे पास होना चािहए था -:
(कक यह अिभसरण उ े य (≤ 10 सेमी होना चािहए
(कख)िनवास। यह ≤ 12 सेमी होना चािहए
(कग-ग्रेड कम-से-कम यह (बीएसवी) िवजन एकल िवनेत्री (3 होना चािहए)
(कघ(िवजन य फ़ी ड पण
ू र् होना चािहए
(कड:िवजन

मानक

िवजन अनकोरटे ड वीए 6/60 और 6/60

बीसीवीए 6/6 और 6/6

माईिपया ≤ -3.50 डी पाई सिहत ि टवैष य,


हाइपरमेट्रोिपया ≤ +3.50 डी पाई सिहत
ि टवैष य

39 

 
रं ग धारणा सीपी-II

(ii) िन निलिखत नेत्र रोग एक उ मीदवार को अयोग्य बना दे गा:


(कक (पटोिसस
(कखअ प टता कॉिनर्यल (
(कग (टे रीिगयम
(कघ(लिसकुलर अ प टता
(कड़) यव
ू ाइिटस।
(कच(अिक्षदोलन।
(कछ)इनट्रोिपयन/ बिहवर् मर्ता।
(कजभगापन। (
(कझअंधापन रात (
(कञघाव रे िटना (
(कटअवरोधन लैक्रमेल-नासो (
(iii) िवजन सुधार- रे िडयल केराटोटमी वीकायर् नहीं है । य दोष के सुधार के िलए लेजर सजर्री
ऑपरे शन की तारीख म 20 वषर् की आयु से पहले नहीं िकया जाना चािहए था, और एक वषीर्य
िचिक सा परीक्षा के िलए िरपोिटर्ं ग की अविध के भीतर भी नहीं होना चािहए।
(ञ (कान और िहयिरंगमानक:
(i) अ वीकृित के कारण- :
(कक (ऑिरकल और मा टोइड क्षेत्र- पीना को कुल िवकृित के िलए मू यांकन िकया जाएगा
जो वदीर् डालगे बाधा म पहनने उपकरण सुरक्षा मक / िकट यिक्तगत /, या जो सै य असर पर
असर डालता है ।
(कख (बाहरी ोता मीटस- मोम की उपि थित, िवदे शी शरीर, एक्सपो टोस, िवकास,
ओटोमोक्कोिसस या िनवर्हन।
(कग (टाइमपैनीक िझ ली-िछद्रण, िनशान, टाइ नो क्लोरोिटक सजीले टुकड़े या िझ ली का
याग। और ि थर या आंिशक प से मोबाइल टाइ पेिनक िझ ली
ु ने का मानक - अ यथीर् को प्र येक कंस म 610 सेमी से मजबरू फुसफुसाल और
(ii) सन
संवादा मक आवाज सुनने म सक्षम होना चािहए, जो अलग पर पीठ अपनी को परीक्षक अलग-
ह गे। खड़े
(ट (मिहला उ मीदवार की मेिडकल परीक्षा - मिहला उ मीदवार की
िचिक सापरीक्षासामा यत: पु ष उ मीदवार के तरह समान ह गे। हालांिक, मिहला
उ मीदवार की िचिक सा परीक्षा से संबंिधत िवशेष अंक अनुवतीर् पैराग्राफ म िदए गए ह।
एक प्र नावली के प म एक िव तत
ृ मािसक धमर् और त्री उ मीदवार इितहास के िवज्ञान-
की से उ मीदवार परीक्षा प्रणालीगत और भौितक िव तत
ृ एक है । जाना िकया प्रा त से
जाएग◌ी और उसे मिहला िचिक सा अिधकारी या त्री त्री रोग िवशेषज्ञ वारा जांच की
जानी चािहए।
(i) परीक्षा म िन निलिखत िनरीक्षण शािमल ह गे
(ककजननांगता बाहरी (
(कख हिनर्यल (orifices और perineum
(कगक के कोलाहल जननांग बाहर के इंट्रोिडटस या असंयम मूत्र तनाव (◌ोई भी सबूत
(ii) सभी िववािहत उ मीदवार को गभार्शय ग्रीवा या योिन के िकसी भी फैलाव या विृ द्ध के
िलए पाकुलमपरीक्षा के अधीन िकया जाएगा। सभी अिववािहत मिहला उ मीदवार म,

40 

 
पाकुलम या प्रित योिन परीक्षा के िलए नहीं िकया जाएगा।
(iii) प्रारं िभक िचिक सा परीक्षा के दौरान सभी मिहला उ मीदवार म िनचले
पेट और ोिण के अ ट्रासाउं ड कैन अिनवायर् है ।
(कक पर गण
ु के मामले प्र येक को असामा यता भी िकसी के जननांग बाहरी (
बालशोषण मह वपूणर् जाएगा। माना, िवशेष प से बाल िवकास के नर पैटनर् के
साथ पीसीओ के रे िडयोलॉिजकल सा य अ वीकृित का एक कारण होगा।
(कख िकया घोिषत अयोग्य को उ मीदवार मिहला म शत िन निलिखत (
जाएगा।
(कककअमानोरोहोआ मा यिमक या प्राथिमक (
(ककखिड मानोरोहाया गंभीर और / या मे नेरहािगया गंभीर (
(ककगअसंयम मूत्र तनाव (
(ककड़ज मजा की वाग्री गभार्शय (त विृ द्ध या फैली हुई है जो सुधारा मक सजर्री
के बाद भी इंट्रोइटस के बाहर आता है ।
(ककचपुटी। िड बग्रंिथ जिटल के आकार भी िकसी (
(ककछ अिधक से पुटी िड बग्रंिथ साधारण (06 सेमी
(ककजएडेनोमोिसस और एंडोमेिट्रयोिसस (
(ककझररे शद
े ा शक्र
ु ाणु के आकार भी िकसी (
(ककञिकस (◌ी भी आकार के ब्रॉड अि थबंधन या ग्रीवा रे शब
े ाइवर के कारण
ureter पर दबाव।
(ककटगभार्शय फाइबॉयड िसंगल (> 3 सटीमीटर यास या फाइब्रॉएड> 2
संख्या,> 15 िममी यास या फाइब्रॉएड के कारण एंडोमेिट्रयल गह
ु ा का िव पण
होता है ।
(ककठज मजात ड़करछो को गभार्शय आकर्ु एट ( गभार्शय िवसंगितय
(ककडसंक्रमण पेि वक पुरानी या ती (
(ककढिवकार की भेदभाव यौन (
(ककण शतर् अ य भी िकसी पर गण
ु के मामले प्र येक वारा िवशेषज्ञ रोग त्री (
जाएगा िकया िवचार पर
(ककत अ य भी सीिक पर गण
ु के मामले प्र येक वारा िवशेषज्ञ रोग त्री (शतर्
पर िवचार िकया जाएगा
-गभार्व था (ट) गभार्व था अ थायी अ वीकृित का कारण होगा। िकसी यिक्त
को िबना सोची योिन िडलीवरी के 24 स ताह बाद अ पताल म िफर से िरपोटर् करने की
सलाह दी जाएगी। एमटीपी और स ताह चार यन
ू तम समीक्षा म मामले के गभर्पात /
12 स ताह तक की जाएगी। हालांिक, सीजेिरयन सेक्शन िडलीवरी के मामले म,
उ मीदवार 52 स ताह की अविध के िलए अयोग्य रहे गा। उस यिक्त को
गैनोकोलॉिज ट वारा जांच की जाएगी और उसकी िफटनेस के बारे म मू यांकन िकया
जाएगा। िजन मामल म, छह महीने से अिधक समय की अविध समा त हो गई है ,
उनकी प्रारं िभक िचिक सा परीक्षा के बाद, मौजद
ू ा िनयम के अनस
ु ार उ ह पूरी िचिक सा
परीक्षा दोहराने का अिधकार िदया जाएगा।
2. केवल वायु सेना के उममीदवार
् के िलए उपयक
ुर् ् त के साथ िनमनिलिखत
् िचिकतसा
् मानक भी लागू ह गे

(क) वायु सेना के िलए सवीकायर्
् मानव दे ह संबंधी माप िनमन
् प्रकार है :
ऊँचाई : 162.5 से.मी.

41 

 
टांग की लंबाई : यन
ु तम 99 से.मी. और अिधकतम 120 से.मी.
जांघ की लंबाई : अिधकतम 64 से.मी.
बैठ कर ऊँचाई : यन
ु तम 81.5 से.मी. और अिधकतम 96 से.मी.
(ख) छाती का एक् स-रे ज री है
(ग) वायुसेना हे तु षिट
् मानक
ऐनक पहनने के अभयस
् त् हो चुके उममीदवार
् वायु सेना हे तु पात्र नहीं ह। नय ू तम दरू षिट
् न ् एक
आंख म 6/6 और दस
ू री म 6/9, हाइपरमेट्रोिपया के िलए केवल 6/6 तक शोिधत कलर िवजन सीपी-1.
हाइपरमेट्रोिपया + 2.0 डीएसपीएच
मेिनफेसट् मायोिपया – शूनय

रे िटनोसकोिपक
् मायोिपया - िकसी भी अनुमत मेिरिडयन म -0.5
षिटवै
् षमय् (एसिटग
् मे् िटजम)
् : +0.75 डीसीवाईएल (+2.0 डी अिधकतम के अंतगर्त)
मेडोक् स रॉड टे सट्
(i) 6 मीटर पर – एक् सो - 6 िप्रजम
् डी
एसो - 6 िप्रजम
् डी
हाइपर - 1 िप्रजम
् डी
हाइपो - 1 िप्रजम
् डी
(ii) 33 समी. पर - एक् सो - 16 िप्रजम
् डी
एसो - 6 िप्रजम
् डी
हाइपर - 1 िप्रजम
् डी
हाइपो - 1 िप्रजम
् डी
हसतधािरत
् ित्रिवमदशीर् – बीएसवी के सभी ग्रेड
अिभसरण – 10 समी. तक
(i) िरफ्रैिक्टव सजर्री : िजन उममीदवार
् का पीआरके(फोटो िरफ्रैिक्टव केराटोटॉमी/लेिसक लेजर इन
सीटू केराटोिमलय् िू सस) हुआ है , उनह् वायु सेना की सभी शाखाओं म कमीशन प्रदान करने के
प्रयोजन से िफट माना जा सकता है ।
(ii) पीआरके/लेिसक के बाद उममीदवार
् के िलए शाखा के मामले म पैरा 3.12.5.2 म
यथाउि लिखत ि ट संबंधी मानदं ड को पूरा करना अिनवायर् होगा।
(iii) पीआरके/लेिसक करवा चुके उममीदवार
् को, वायु सेना िचिकतसा
् परीक्षण के समय, चयन हे तु
िनमनिलिखत
् शत को पूरा करना अिनवायर् है :
(कक) पीआरके/लेिसक सजर्री, 20 वषर् की आयु से पहले न हुई हो।
(कख) आईओएल मासटर
् के माप के अनुसार, नेत्र की एिक्सयल लंबाई 25.5 एमएम से अिधक नहीं
होनी चािहए।
(कग) िबना िकसी जिटलता के सटे् बल पीआरके/लेिसक करवाए कम से कम 12 महीने बीत चुके ह ,
और इस बीच िकसी िकसम
् की कोई िचिकतसा
् संबंधी परे शानी (कॉि लकेशन) न हुई हो।
(कघ) पीआरके/लेिसक के बाद, कॉिनर्यल पेकाईमीटर की माप के अनुसार, कॉिनर्या की मोटाई 450
माइक्रॉन से कम नहीं होनी चािहए।
(कड.) पीआरके/लेिसक से पहले उचच
् िरफ्रैिक्टव एरर(>6डी) वाले उममीदवार
् को शािमल नहीं
िकया जाएगा।
(कच) वायु सेना से जुड़े िकसी भी कायर् के प्रयोजनाथर्, िरफ्रैिक्टव एरर को दरू करने के िलए रे िडयल
केराटोटॉमी (आरके) और फोटो िरफ्रैिक्टव केराटोटॉमी (पीआरके) सजर्री की अनम
ु ित नहीं है ।
आईओएल इंपलां
् ट के साथ अथवा इसके िबना केटे रेक्ट सजर्री करवाने वाले उममीदवार
् को भी
अनिफट घोिषत कर िदया जाएगा।

42 

 
िवनेत्री षिट
् – अचछी
् िवनेत्री षिट
् होनी चािहए।
(उततम
् िवसतार
् और गहराई सिहत यज
ू न और सटीिरयोप
् िसस)

िजन उममीदवार
् ु ी हो, उनह् भारतीय वायु सेना की
की लेिसक सजर्री हो चक लाइंग शाखा म
सथायी
् कमीशन हे तु उपयुक्त नहीं माना गया है ।
(घ) वण शक् ित मानक
(i) वाक परीक्षण : प्रतये
् क कान से 610 समी से कानाफूसी सुनाई दे ।
(ii) वयतािमितक
् : 250 एचजैड तथा 8000 एचजैड के बीच की आवितर्य म वयि
् मत कमी
20 डीबी से अिधक न हो।
(ड.) टीन ईसीजी सामानय
् सीमा म हो।
3) एक् स-रे जांच के उपरांत िनमनिलिखत
् सिथितय
् का पाया जाना थल सेना और नौ सेना म प्रवेश के िलए
अपात्रता होगा :
(क) मे दं ड का किणकागल
ु मीय
् रोग।
(ख) आथर्राइिटस/सप् डेलेिसस।
(ग) कॉब पद्धित से मापा गया 10 िडग्री से अिधक सकोिलओिसस

(घ) मंद से अपेक्षाकृत अिधक कायफोिसस/लाड िसस।
(ड.) सप् डीलोिसथैिसस/सप् िडलेिसस।
(च) हिनर्एिटड नय ू िलय पलपोसस।
् क
(छ) कशे का का समपीडन
् असिथभं
् ग।
(ज) सेक्रेलाइजेशन रोग।
(झ) प्रदशर्नीय तंित्रकीय या पिरसंचरणीय अभाव के साथ ग्रेव पशक
ुर् ा।
(ञ) पद से अिधक सतर
् पर सकिलमोलर्
् नोड की उपसिथित।

(ट) शीषर् घरानक
ु पाल (ऐंटलांटो-आकसीपोटल) तथा ऐटलांटो अक्षीय असंगितयां।
(ठ) अपण
ू र् सेक्रेलाइजेशन एक पक्षीय अथवा िवपक्षीय।
(ड) एसवी-1 तथा एलवी-5 से इतर सवाईनाबाईिफडा।

(ढ) िवशेषज्ञ वारा मानी गई कोई अनय
् असामानयता।

वायु सेना हे तु मे दं ड की ि थित
मे या सेक्रो इिलयक संिध संबध ् वत
ं ी रोग या चोट का पूवर् िचिकतसा ृ त
् होने के कारण उन वासतिवक
् लक्षण
के साथ या िबना, िजनके कारण उममीदवार
् शारीिरक प से सिक्रय जीवन शैली सफल तरीके से न वयतीत

कर रहा हो, भारतीय वायुसेना म कमीशन हे तु िनरसतीकरण
् का मामला है । पूवर् म मे असिथभं
् ग/भ्रंश
कशे की िडसक ् तथा इन सिथितय
् म हुई शलय् िचिकतसा
् भी िनरसतीकरण
् का आधार होगा। िचिकतसा

परीक्षा के समय िनमनिलिखत
् सिथितय
् का पता लगने पर वायु सेना सेवा के िलए उममीदवार
् को अयोगय ्
ठहराया जाएगा।
(क) मे दणड् का किणका गल
ु मीय
् रोग
(ख) संिधशोध सं प/कशे कासंिधग्रह
(i) मेटॉइड सनिधशोध
् तथा संबद्ध िवकार
(ii) संिध सायज
ु यक
् कशे कासंिधशोध
(iii) असिथसं
् िध िवकृित, कशे कासंिधग्रह तथा वयपजनन
् संिध रोग
(iv) गैर संिध आमवात (यथा घण
ू र् कफ की िवक्षित, टे िनस कूपर्र, प्रतयावतीर्
् किटवेदना)
(v) एसएलई, तवक् ् पेशी शोथ, बहुपेशीशोथ, वािहकाशोथ सिहत िविवध िवकार
(ग) कशे काग्रसपर्ण/सपां
् डलोलाइिसस/कशे कासंिधग्रह
ि
(घ) कशे का का समपीड़न
् असिथभं
् ग
(ड.) शअ
ु रमैनस
् रोग (कौमार कुबजता)

43 

 
(च) ग्रीवा मे की नैदािनक प्रितबंिधत गित से संबंध ग्रीवा अग्रकुबजता
् की क्षित
(छ) सपष
् ट् तंित्रका िवज्ञानी या पिरसंचरण ास सिहत एकपाशवी/
र् ् िवपाशवी
र् ् ग्रैव पशक
ुर् ा
(ज) कोब पद्धित वारा मापे जाने पर 15 िडग्री से अिधक पाशवक
र् ् ु बजता

(झ) डीजेनरे िटव िडसक
् रोग
(ञ) एक से अिधक सतर
् पर शमोलर्
् नो स का पाया जाना
(ट) शीषर्धर-पशचकपाल
् और शीषर्धर-अक्षक असंगितयां
(ठ) ग्रीवा, अिभपष
ृ ठ् या किट मे दणड् म िकसी भी सतर
् पर अधर् कशे का तथा/अथवा अपूणर् अव द्ध
( यज
ू ड)
् कशे का तथा ग्रीवा या अिभपष
ृ ठ् मे दणड् म एक से अिधक सतर
् पर पूणत
र् या अव द्ध
कशे का
(ड) सभी सतर
् पर एकपाशवी
र् ् ित्रकासिथभवन
् या किट कशे काभवन (पूणर् या अपूण)र् तथा िवपाशर्वी

अपूणर् ित्रकासिथभवन
् या किट कशे काभवन
(ढ) िवशेषज्ञ वारा िवचार की गई कोई अनय
् अपसामानयता

4. नौसेना उड़ान (एिवएशन) शाखा के उ मीदवार के िलए सवार्िधक प्रभािवत आंख म िनकट ि ट दोष -
0.75 डी तथा दोन आख म दरू ि ट दोष +1.5 डी की सीमा को छोड़कर शेष िचिकतसा
् मानक वायु सेना के
समान ही ह गे।
5. िकसी एक सेवा के िलए िनधार्िरत िवशेष परीक्षण िकए जाने के दौरान यिद अक्षमता का पता चलता है तो
मेिडकल बोडर् वारा अनहर्क ठहराए जाने की सिथित
् म वह अक्षमता उममीदवार
् को अनय
् सेवा (सेवाओं) के
िलए भी अयोगय
् ठहरा सकती है ।
6. शारीिरक अवसथा
् : संभािवत उममीदवार
् को सलाह दी जाती है िक वे अधोउलिलिखत
् िदनचयार् का पालन
करके सवयं
् को अचछी
् शारीिरक अवसथा
् म रख:
(क) धावन/दौड़ : 15 िमनट म 2 से 4 िकमी
(ख) ् कूद
रससी

44 

 
(ग) पश
ु अप एवं िसट अप : प्रतये
् क नय
् न
ू तम 20
(घ) िचन अप : नय
् न
ू तम 08
:
(ड.) रससी
् पर चढ़ना/आरोहण 3 से 4 मीटर

पिरिश ट - V
(सेवा का संिक्ष त िववरण आिद)
सेना के अिधकािरय के वेतनमान और वायु सेना और नौसेना म बराबर रक
(i) वेतन
रक लेवल (वेतन, पये म)
लेि टनट लेवल 10 56,100 – 1,77,500
क तान लेवल 10बी 6,13,00-1,93,900
मेजर लेवल 11 6,94,00 – 2,07,200
लेि टनट कनर्ल लेवल 12ए 1,21,200 – 2,12400
कनर्ल लेवल 13 1,30,600-2, 15,900
िब्रगेिडयर लेवल 13ए 1,39,600-2,17,600
मेजर जनरल लेवल 14 1,44,200-2,18,200
लेि टनट जनरल एचएजी केल लेवल 15 1,82,200 - 2,24,100
एचएजी + केल लेवल 16 2,05,400 – 2,24,400
वाइस थलसेना यक्ष / सेना कमांडर / लेि टनट जनरल लेवल 17 2,25,000/-( िनयत)
(एनएफएसजी)
थलसेना यक्ष लेवल 18 2,50,000/-( िनयत)

अिधकारी को दे य सै य सेवा वेतन िन नानस


ु ार है

लेि टनट से िब्रगेिडयर रक के अिधकािरय को दे य सै य सेवा वेतन (एमएसपी) .15500प्रितमाह िनयत

कैडेट प्रिशक्षण के िलए िनयतवजीफा: -

सेवा अकादमी यानी आईएमए और ओटीए म प्रिशक्षण की संपूणर् अविध के .56,100/- प्रितमाह*
दौरान पु षया मिहला कैडेट को प्रिशक्षण अविध के दौरान वजीफा

* सफलतापव
ू क
र् कमीशन प्रापित
् पर, कमीशन प्रापत
् अिधकारी का वेतन, वेतन मैिट्रक्स म लेवल 10 के प्रथम सेल म तय
िकया जाएगा और प्रिशक्षण की अविध को कमीशन प्रा त सेवा के प म नहीं माना जाएगा तथा प्रिशक्षण अविध के िलए
कैडेट को यथाअनम
ु ेय भ त के बकाया का भुगतान िकया जाएगा।

(ii) योग्यता वेतन और अनुदान

(i) योग्यता अनद


ु ान
इस मु े पर सरकार वारा अंितम आदे श अभी तक जारी नहीं िकया गया है । इसिलए इस मु े पर सरकार के आदे श िमलने
के बाद जानकारी दी जाएगी।

(ii) योग्यता वेतन: -

45 

 
भारतीय वायु सेना से संबंिधत
(iii) लाइंग भ ता: -

आमीर् एिवएशन कोर म सेवारत सेना िवमानवाहक (पायल स) को उड़ान प्रदान करने के हकदार ह:-

लेि टनट और इससे ऊपर लेवल 10 और इससे ऊपर . 25,000/- प्रितमाह िनयत

(iii) अ य भ ते:-

(a) महं गाई भ ता समय समय पर असैिनक कमर्चािरय को यथाअनम


ु ेय दर तथा पिरि थितय
के समान
(b) िकट रखरखाव भ ता नव प्र तािवत ड्रेस भ तेम शािमल अथार्त . 20,000/- प्रित वषर्

रक और पोि टं ग के क्षेत्र के आधार पर, फी ड क्षेत्र म तैनात अिधकारी िन न क्षेत्र क्षेत्र के िलए पात्र ह गे:-

रक तर एचएफए फीलड् एिरया भतता


् संशोिधत फीलड् एिरया भतता

लेि टनट और ऊपर तर 10 और ऊपर 16900 10500 6300

हाई आ टी यूड भ ता

रक   तर  ेणी-I ेणी -II ेणी -III


(प्रित माह) (प्रित माह) (प्रित माह)
लेि टनट और ऊपर तर 10 और ऊपर 3400 5300 25000

िसयािचन भ ता
िसयािचन भ ता .42,500/- प्रित माह होगा।

वदीर् भ ता
नव प्र तािवत वदीर् भ ते म शािमल अथार्त ् .20,000/-प्रित वषर्

पिरवहन भ ता(टीपीटीए)

वेतन लेवल उ च टीपीटीए शहर अ य थान


( पये प्रित माह) ( पये प्रित माह)
9 और ऊपर .7200+ उस पर दे य महं गाई भ ता .3600+ उस पर दे य महंगाई भ ता

नोट: -
(क) उ चतर पिरवहन भतता
् शहर (य.ू ए.):-
है दराबाद, पटना, िद ली, अहमदाबाद, सूरत, बगलु , कोि च, कोिझकोड, इंदौर, ग्रेटर मब
ुं ई, नागपुर, पुणे,
जयपरु , चे नई, कोय बटूर, गािजयाबाद, कानपरु , लखनऊ, कोलकाता।

(ख) सरकारी पिरवहन की सिु वधा प्रदान िकए गए सेवा किमर्य के िलए भ ता वीकायर् नहीं होगा।

46 

 
(ग) वेतनमान तर 14 और उससे अिधक के अिधकारी, जो आिधकािरक कार का उपयोग करने के हकदार ह, को अिधकृत
कार सिु वधा का लाभ उठाने या पये 15,750प्रित माह की दर से टीपीटीए + सिहत आहिरतकरने का िवक प होगा।
(घ) पूरे कैलडर माह (माह ) म छुट्टी पर रहने पर यह भ ता वीकायर् नहीं होगा।
(ई) शारीिरक प से िवकलांग सेवा किमर्य को दोगन
ु ी दर पर भुगतान करना जारी रखा जाएगा, जो यन
ू तम .2250 +
उस पर दे य महंगाई भ ता होगा।

बालक-िशक्षण भ ता:-

केवल पये 2250/- प्रित माह,प्रित ब चा की दर सेदो ब च के िलए नसर्री से 12 वीं कक्षा तकबालक-िशक्षण
भ ता वीकायर् है ।

(i) िव तीय वषर् पूरा होने के बाद वषर् म प्रितपूितर् केवल एक बार िकया जाना चािहए (जो िक अिधकांश िव यालय के िलए
शैक्षिणक वषर् के साथ मेल खाता है )।

(ii) सरकारी कमर्चारी के बालक जहां अ ययनरत ह उससं थान के प्रमुख से इस उ े य काप्रमाण पत्र पयार् त होना चािहए।
प्रमाण पत्र वारा यह पुि ट होनी चािहए िक िपछले शैक्षिणक वषर् के दौरान ब चे िव यालय म पढ़े थे।

रक्षा बल के िलए िविश ट भ त के मामले म, प्र येक बार संशोिधत वेतनबड पर दे य महागाई भ ता 50% तक बढ जाने पर
इन भ त की दर वत: 25% बढ़ जाएंगी(भारत सरकार िदनांक 18 िसतंबर 2017 का पत्र संख्या 1/(16)/2017/ डी (वेतन/
सेवाएं))।

िसक् िकम राजय


् सरकार ने सभी अिधकारी प्रवेश योजनाओं के िलए िसक् िकम के सफल उममीदवार
् हे तु 1.5
लाख . (डेढ़ लाख पए मात्र) की नकद प्रोतसाहन
् रािश अनुमोिदत की है ।

47 

 
(क) भारतीय सैिनक अकादमी दे हरादन
ू म प्रवेश लेने वाले उममीदवार
् के िलए :
1. भारतीय सैिनक अकादमी म भतीर् करने से पूवर् :
(क) इस आशय का प्रमाण पत्र दे ना होगा िक वह यह समझता है िक िकसी प्रिशक्षण के दौरान या
उसके पिरणामसव् प यिद कोई चोट लग जाए, ऊपर िनिदर् षट् िकसी कारण से या अनयथा

आवशयक
् िकसी सिजर्कल ऑपरे शन या संवेदनाहरण दवाओं के पिरणामसव् प उसम कोई
शारीिरक अशक् तता आ जाने या उसकी मत
ृ य
् ु हो जाने पर उसे या उसके वैध उततरािधकारी
् को
सरकार के िव द्ध िकसी मुआवजे या अनय
् प्रकार की राहत का दावा करने का हक न होगा।
(ख) उसके माता-िपता या संरक्षक को इस आशय के बंधपत्र पर हसताक्षर
् करने ह गे िक यिद िकसी
ऐसे कारण से जो उसके िनयंत्रण म समझे जाते ह, उममीदवार
् पा यक्रम परू ा होने से पहले
वािपस आना चाहता है , या कमीशन असवीकार
् कर दे ता है तो उस पर िशक्षा शुलक,
् भोजन,
वसत्र् और िकए गए वयय
् तथा िदए गए वेतन और भतते
् की कुल रािश या उतनी रािश जो
सरकार िनशिचत
् करे उसे वािपस करनी होगी।
2. अंितम प से चन
ु े गए उ मीदवार को लगभग 18 महीन का प्रिशक्षण िदया जाएगा। इन उ मीदवार के
नाम सेना अिधिनयम के अधीन “जेनटलमैन कैडेट” के प म दजर् िकए जायगे। “जेनटलमैन कैडेट” पर
साधारण अनश
ु ासना मक प्रयोजन के िलए “भारतीय सै य अकादमी, दे हरादन
ू के िनयम और िविनयम
लागू ह गे।“
3. य यिप आवास, पुसतक
् , वदीर्, बोिडर्ंग और िचिकतसा
् सिहत प्रिशक्षण के खचर् को सरकार वहन करे गी,
तथािप यह आशा की जाती है िक उममीदवार
् अपना जेब खचर् खुद बदार्शत करगे। भारतीय सैिनक अकादमी
म (उममीदवार
् का नय
् न ् 200.00 . से अिधक होने की संभावना नहीं है ) यिद िकसी कैडेट
ू तम मािसक वयय
के माता-िपता या संरक्षक इस खचर् को भी पूरा या आंिशक प से बदार्शत करने म असमथर् ह तो सरकार
वारा उनह् िवततीय
् सहायता दी जाती है । भारतीय सैिनक अकादमी, अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी और नौ
सेना या वायु सेना म सथािपत
् स श प्रिशक्षण संसथान
् म प्रिशक्षण ले रहे ऐसे पु ष/मिहला कैडेट, िजनके
माता-िपता/अिभभावक की प्रित माह आय 1500/- . (संशोधन िवचाराधीन) प्रितमाह से अिधक नहीं है
िवततीय
् सहायता लेने के हकदार ह। िजन माता-िपता/अिभभावक की प्रित माह आय 1500/- . (संशोधन
िवचाराधीन) प्रितमाह से अिधक लेिकन 2000/- . (संशोधन िवचाराधीन) से अिधक नहीं है । यिद उनका एक
् म एक ही समय प्रिशक्षण ले रहे ह तो उनके
लड़का/आि त उक् त एक या एक से अिधक संसथा
बचच
् /आि त को भी वही िवततीय
् सहायता दी जाएगी। इस प्रिशक्षण म इस बात पर धयान
् नहीं िदया
जाएगा िक संसथाएं
् एक ही सेवा के अधीन ह या नहीं।
िवततीय
् सहायता की पात्रता िनधार्िरत करने के िलए अचल संपि तय और सभी साधन से होने वाली आय
का भी धयान
् रखा जाएगा।
यिद उममीदवार
् के माता-िपता या संरक्षक िकसी प्रकार की िवततीय
् सहायता प्रापत
् करने के इचछ
् ु क ह तो
उनह् अपने पुत्र/संरिक्षत के भारतीय सैिनक अकादमी म प्रिशक्षण के िलए अंितम प से चुने जाने के तरु ं त
बाद अपने िजले के मिजसट्रे् ट के माधयम
् से एक आवेदन पत्र दे ना चािहए। िजसे िजला मिजसट्रे् ट अपनी
अनश
ु स
ं ा सिहत भारतीय सैिनक अकादमी, दे हरादन
ू के कमांडट को अग्रेिषत कर दे गा िजसे िजला मिजसट्रे् ट
अपनी अनश ं ा सिहत भारतीय सैिनक अकादमी, दे हरादन
ु स ू के कमांडट को अग्रेिषत कर दे गा।
4. भारतीय सैिनक अकादमी म प्रिशक्षण के िलए अंितम प से चन
ु े गए उममीदवार
् को आने पर कमांडट के
पास िनमनिलिखत
् रािश जमा करनी होगी।
(क) प्रितमाह . 200.00 के िहसाब से 5 महीने का जेब खचर् 1000.00 .
(ख) वसत्र् तथा उपसकर
् की मद के िलए 2750.00 .
योग 3750.00 .
उममीदवार
् को िवततीय
् सहायता मंजरू हो जाने पर उपयक
ुर् ् त रािश म नीचे िलखी रािश वापस कर दी
जाएगी।
48 

 
200.00 . प्रितमाह के िहसाब से पांच महीने के जेब खचर् 1000.00 पए
5. भारतीय सैिनक अकादमी म िनमनिलिखत
् छात्रवत
ृ ितयां
् उपलबध् ह:
(1) परशरु ाम भाऊ पटवधर्न छात्रवत
ृ ित
् : यह छात्रवतृ ित
् महाराषट्र् तथा कनार्टक के कैडट को दी
जाती है । छात्रवत
ृ ित
् की रािश अिधक से अिधक 500.00 पए प्रित वषर् है जो कैडेट को
भारतीय सैिनक अकादमी म रहने की अविध के दौरान दी जाती है बशत िक उसकी प्रगित
संतोषजनक हो। िजन उममीदवार
् को यह छात्रवत
ृ ित
् िमलती है वे िकसी अनय
् सरकारी
िवततीय
् सहायता के हकदार न ह गे।
(2) कनर्ल किडल फ्रक मेमोिरयल छात्रवत
ृ ित
् : इस छात्रवत
ृ ित
् की रािश 360/- पए प्रित वषर् है
और यह िकसी ऐसे पात्र मराठा कैडेट को दी जाती है जो िकसी भूतपूवर् सैिनक का पुत्र है । यह
छात्रवत
ृ ित
् सरकार से प्रापत
् होने वाली िकसी िवततीय
् सहायता से अितिरक् त होती है ।
6. भारतीय सैिनक अकादमी के प्रतये
् क कैडेट के िलए सामानय
् शत के अंतगर्त समय-समय पर लागू होने
वाली दर के अनुसार पिरधान भतता
् अकादमी के कमांडट को स प िदया जाएगा। इस भतते
् की जो रकम
खचर् होती वह :
(क) कैडेट को कमीशन दे िदए जाने पर दे दी जाएगी।
(ख) यिद कैडेट को कमीशन नहीं िदया गया तो भतते
् की यह रकम राजय
् को वािपस कर दी
जाएगी।
कमीशन प्रदान िकए जाने पर इस भतते
् से खरीदे गए वसत्र् तथा अनय
् आवशयक
् चीज कैडेट
की वयक्
् ितगत संपतित
् बन जाएगी। िकं तु यिद प्रिशक्षणाधीन कैडेट तयाग
् पत्र दे ता है या
कमीशन से पूवर् उसे िनकाल िदया जाए या वापस बुला िलया जाए तो उपयक
ुर् ् त वसत
् ओ
ु ं को
उससे वापस ले िलया जाएगा। इन वसत
् ओ
ु ं का सरकार के सव ततम
् िहत को षिटगत
् रखते
हुए िनपटान कर िदया जाएगा।
7. सामानयत:
् िकसी उममीदवार
् को प्रिशक्षण के दौरान तयाग-पत्र
् दे ने की अनुमित नहीं दी जाएगी। लेिकन
प्रिशक्षण के दौरान तयाग-पत्र
् दे ने वाले जटलमैन कैडेट को थल सेना मुखयालय
् वारा उनका तयागपत्र

सवीकार
् होने तक घर जाने की आज्ञा दी जा सकती है । उनके प्रसथान
् से पूवर् उनके प्रिशक्षण, भोजन तथा
संबद्ध सेवाओं पर होने वाले खचर् उनसे वसूल िलए जाएंगे। भारतीय सैिनक अकादमी म उममीदवार
् को
भतीर् िकए जाने से पूवर् उनके माता-िपता/अिभभावक को इस आशय के एक बांड पर हसताक्षर
् करने
ह गे।िजस कैडेट को प्रिशक्षण का संपूणर् कोसर् परू ा करने के योगय
् नहीं समझा जाएगा उसे सेना मुखयालय

की अनुमित से प्रिशक्षण से हटाया जा सकता है । इन पिरसिथितय
् म सैिनक उममीदवार
् को अपनी यिू नट
म वापस भेज िदया जाएगा।
8. कमीशन, प्रिशक्षण को सफलतापूवक
र् करने पर ही िदया जाएगा। कमीशन दे ने की तारीख प्रिशक्षण को
सफलतापूवक
र् पूरा करने की तारीख से अगले िदन से शु होगी। यह कमीशन सथायी
् होगा।
9. ् , पशन और छुट्टी दी जाएगी
कमीशन दे ने के बाद उनह् सेवा के िनयिमत अफसर के समान वेतन और भतते
तथा सेवा की अनय
् शत भी वही ह गी जो सेना के िनयिमत अफसर पर समय-समय पर लागू ह गी।
10. प्रिशक्षण
भारतीय सैिनक अकादमी म आमीर् कैडेट को ‘जेनटलमै
् न कैडेट’ का नाम िदया जाता है । उनह् 18 मास के
िलए कड़ा सैिनक प्रिशक्षण िदया जाता है तािक वे इंफट्री के उप-यिू नट का नेतत
ृ व् करने के योगय
् बन सक।
प्रिशक्षण को सफलतापव
ू क
र् परू ा करने के उपरांत जेनटलमै
् न कैडेट को लेि टनट के प म कमीशन प्रदान
िकया जाता है बशत िक एसएचएपीई म शारीिरक प से सवस
् थ् हो।
11. बीमा
भारतीय सैिनक अकादमी/अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी के वजीफा (सटाइपड)
् प्रापत
् कर रहे
जटलमैन/मिहला कैडेट का 01 अक् तब
ू र, 2016 से 75 लाख . के िलए बीमा िकया जाता है । िवकलांगता के
कारण िजनह् िचिकतसीय
् आधार पर अकादमी से बाहर कर िदया जाता है , उन मामल म 100 प्रितशत
49 

 
िवकलांगता के िलए 25 लाख . के िलए बीमा िकया जाएगा जो 20 प्रितशत िवकलांगता के िलए 5 लाख .
तक आनप
ु ाितक प से कम हो जाता है । तथािप, 20 प्रितशत से कम िवकलांगता के िलए िकसी प्रकार का
िवकलांगता लाभ दे य नहीं है लेिकन 50,000/- . का अनुग्रह अनुदान का भुगतान िकया जाएगा।
मिदरापान, नशे की लत तथा भतीर् से पहले हुए रोग से उतपन
् न् िवकलांगता के िलए िवकलांगता लाभ और
अनुग्रह अनुदान दे य नहीं ह गे। इसके अितिरक् त, अनुशासिनक आधार अथवा अवांछनीय माने जाने अथवा
् से अकादमी छोड़ने वाले जटलमैन/मिहला कैडेट भी िवकलांगता लाभ और अनुग्रह के िलए पात्र
सवे् चछा
नहीं ह गे। वजीफा (सटाइपड)
् प्रापत
् कर रहे जटलमैन/मिहला कैडेट को मािसक आधार पर अंशदान के प
म 5,000/- . की दर से अिग्रम भुगतान करना होगा और िनयिमत सैिनक अिधकािरय पर यथा लागू
मुखय
् सेना सामूिहक बीमा योजना के सदसय
् बन जाएंगे।
12. सेवा की शत :
(1) तैनाती :

थलसेना अिधकारी को भारत म या िवदे श म कहीं भी तैनात िकए जा सकते ह।


(2) पदोननित

सथायी
् पदोननित

उचचतर
् रै क पर सथायी
् पदोननित
् के िलए िनमनिलिखत
् सेवा सीमाएं ह :
समयमान वारा:
लेि टनट (प्रिशक्षण पूणर् होने पर)
कैपटन
् 2 वष की गणनीय कमीशन प्रापत
् सेवा
मेजर 6 वष की गणनीय कमीशन प्रापत
् सेवा
लेि टनट कनर्ल 13 वष की गणनीय कमीशन प्रापत
् सेवा
कनर्ल (टीएस) 26 वष की गणनीय कमीशन प्रापत
् सेवा
चयन वारा पदो नित के िलए िवचार िकए जाने हे तु अहर्क सेवा िन नानुसार है :
िब्रगेिडयर 23 वष की गणनीय कमीशन प्रापत
् सेवा
मेजर जनरल 25 वष की गणनीय कमीशन प्रापत
् सेवा
लेि टनट जनरल 28 वष की गणनीय कमीशन प्रापत
् सेवा
जनरल कोई प्रितबंध नहीं
(ख) भारतीय नौसेना अकादमी, इझीमाला, केरल म पदभार ग्रहण करने वाले उममीदवार
् के िलए
(i) भारतीय नौसेना अकादमी म प्रिशक्षण के िलए चयिनत उममीदवार
् की िनयक ु ् ित,
सनातक
् कैडेट िवशेष प्रवेश योजना (जीएसईएस) कोसर् के अंतगर्त कैडेट के प म की
जाएगी। कैडेट का चयन, समिमिलत
् रक्षा सेवा परीक्षा (सीडीएसई) म उनके अहर्क
होने के उपरांत एसएसबी साक्षातकार
् तथा िचिकतसा
् जांच के आधार पर िकया
जाएगा। मेधावी उममीदवार
् जो िचिकतसकीय
् प म उपयक
ु ् त ह, को योगयता
् सच
ू ी
के क्रम म, 45 िरक् ितय के प्रित िनयुक्त िकया जाएगा। इन 45 िरक् ितय म से छह
िरक् ितय , एनसीसी िवशेष प्रवेश योजना के अंतगर्त नौसेना एनसीसी ‘सी’ प्रमाण पत्र
धारक उममीदवार
् के िलए आरिक्षत ह।
(ii) राषट्रीय
् कैडेट कोर म से उममीदवार
् का चयन एनसीसी िवशेष प्रवेश योजना के
अंतगर्त आवेदन करने वाले उममीदवार
् के िलए पात्रता, आयु सीमा तथा शैक्षिणक
योगयताएं
् , िनमनिलिखत
् को छोड़कर वही ह गी, जो जी एस ई एस उ मीदवार के
मामले म ह:-
(क) एनसीसी कैडेट ने राषट्रीय
् कैडेट कोर की नौसेना िवंग के सीिनयर िडवीजन म
नय
् न
ू तम दो शैक्षिणक वष के िलए सेवा अवशय
् की हो और उसके पास प्रमाण पत्र

50 

 
‘सी’ (नौसेना) अवशय
् हो। वे उममीदवार
् भी आवेदन करने के िलए पात्र ह, िजनह् ने
प्रमाण पत्र ‘सी’ परीक्षा दी है , अथवा दे ने के इचछ
् ु क ह। परनत
् ,ु ऐसे उममीदवार
् का
अंितम चयन, कोसर् प्रारं भ होने से पहले उनके वारा उक् त प्रमाण पत्र प्रसत
् त
ु करने की
शतर् पर होगा।
(ख) एनसीसी कैडेट के पास उसके िवशविव
् यालय अथवा उसके कालेज के प्राचायर्
वारा जारी उततम
् आचरण तथा चिरत्र संबध
ं ी प्रमाण पत्र होना चािहए।
(ग) एनसीसी कैडेट, राषट्रीय
् कैडेट कोर की नौसेना िवंग का सीिनयर िडवीजन छोड़ने
के बारह महीन के उपरांत आवेदन करने के पात्र नहीं रहगे।
(घ) आवेदन करने के िलए कैडेट, अपने आवेदन पत्र अपने कमान अिधकारी, एनसीसी
यिू नट, नौसेना िवंग के समक्ष प्रसत
् त
ु करगे। कमान अिधकारी, इन आवेदन पत्र को
संबंिधत सिकर्ल कमांडर के माधयम
् से एनसीसी िनदे शालय, रक्षा मंत्रालय, नई
् को अग्रेिषत करगे। एनसीसी िनदे शालय, इन आवेदन पत्र को नौसेना प्रमुख
िदलली
को अग्रेिषत करगे। ये आवेदन, िनधार्िरत प्रपत्र म जमा िकए जाएंगे। ये प्रपत्र सभी
एनसीसी इकाइय म उपलबध
् ह गे।
(ड.) प्रथम ष ् या उपयक
ु ् त पाए जाने वाले उममीदवार
् को सेवा चयन बोडर् के समक्ष
साक्षातकार
् तथा अनय
् परीक्षण के िलए उपसिथत
् होना होगा।
(च) अंितम प से चयिनत उममीदवार
् को सेवा चयन बोडर् की प्रिक्रया म कम से कम
नय
् न
ू तम अहर्क अंक प्रापत
् करने ह गे। इस शतर् तथा उममीदवार
् के िचिकतसकीय

प से िफट होने की शतर् के अधयधीन,
् सफल उममीदवार
् को िलिखत परीक्षा तथा
सेवा चयन बोडर् म प्रापत
् कुल अंक के आधार पर योगयता
् क्रम म सूचीबद्ध िकया
जाएगा। अंितम चयन, योगयता
् क्रम के आधार पर उपलबध
् िरक् ितय के अनुसार
िकया जाएगा।
(iii) अकादमी म प्रिशक्षण के िलए अंितम प से चयिनत उममीदवार
् नौसेना की कायर्कारी
शाखा म कडे स के प म िनयुक्त िकए जाएंगे। 35000/- . की रािश उनके वारा दी
जाएगी और बक एकाउं ट म जमा की जाएगी िजसे वे आने पर भारतीय सटे् ट बक,
इझीमाला शाखा म खुलवाएंगे। क् य िक यह बड़ी रािश है , यह सलाह दी जाती है िक वे
सवयं
् का दे य िडमांड ड्रा ट लाएं। जमा की गई रािश िनमनिलिखत
् वयय
् के िलए
उपयोग म लाई जाएगी:
(क) पाकेट/िनजी वयय
् 5000/- . @ 1000 . प्रितमाह
की दर से
(ख) धुलाई, िसिविलयन िबयरर, िसनेमा, बाल कटाई और 4,250/- . @ 850 . प्रितमाह
अनय
् िविवध सेवाएं की दर से
(ग) अकादमी बले
् जर, अकादमी टाई, अकादमी मु ती, 20,000/- .
अकादमी खेल के कपड़े, जोिगंग शज
ू , जंगल बू स,
सिविमं
् ग ट्रै क/सट
ू और बसता
् की सिटिचं
् ग/खरीद पर
वयय

(घ) अविध के अंत म वापसी यात्रा, नौ सेना ओिरयंटेशन 2,000/- .
पा यक्रम की समापित
् पर अवकाश यट
ू ी सटे् शन/होम
सटे् शन पर जाने के िलए यात्रा वयय

(ड.) बीमा : नौसेना अकादमी म 6 माह की प्रिशक्षण अविध के दौरान, प्रितवेतन के समय, उममीदवार

को 8 लाख पए के बीमा आवरण हे तु 780/- पए की रािश के प्रीिमयम का भुगतान करना होगा, जो
िक वापस नहीं होगा। प्रतये
् क पदावनित अविध के िलए पए 780/- के एक अितिरक् त प्रीिमयम का
51 

 
भुगतान करना होगा।
(iv) प्रिशक्षण चयिनत उममीदवार
् को भारतीय नौसेना अकादमी म प्रवेश के बाद कैडेट के प म
िनयुक्त िकया जाएगा। आरं िभक प्रिशक्षण, िजसका िववरण िनमनान
् स ु ार है, पूरा होने तक
उममीदवार,
् पिरवीक्षाधीन रहगे।
क) आईएनए, इझीमला का नौसेना अिभिवनयास
् पा यक्रम 44 सपताह

ख) प्रिशक्षण पोत पर अिधकारी समद्र
ु ी प्रिशक्षण 06 माह
ग) सब-लेि टनट ए लोट प्रिशक्षण 06 माह
घ) सब-लेि टनट (तकनीकी पा यक्रम) प्रदान िकए जाने हे तु 32 सपताह

ए लोट अटै चमट
ड.) संपूणर् नौसेना अिभरक्षा प्रमाण-पत्र 06-09 माह
(v) िनयुक्ित तथा अनय
् िहतलाभ : लगभग 18 माह का प्रिशक्षण सफलतापूवक
र् पूरा करने के
उपरांत, कैडेट , को सब- लेि टनट के रक म िनयुक्त िकया जाएगा। कैिरयर की संभावनाएं,
अवकाश िहतलाभ, अवकाश तथा यात्रा िरयायत, पशन/सेवािनवत
ृ ित
् िहतलाभ तथा नौसेना म
् ऐसी समसत
अिधकािरय को प्रदतत ् अनल
ु बिधयां
् तथा िवशेष सिु वधाएं उसी प्रकार की ह गी,
जो दो अनय
् सेनाओं वारा प्रदान की जा रही ह।
(vi) भारतीय नौसेना अकादमी के कैडेट के आवास एवं संबद्ध सेवाओं, पस
ु तक
् , वदीर्, भोजन और
िचिकतसा
् उपचार सिहत प्रिशक्षण लागत का वहन सरकार वारा िकया जाएगा। तथािप, तब
तक वे कैडेट रहते ह, उनके पॉकेट तथा अनय
् िनजी खच का भार उसके माता-िपता अथवा
संरक्षक उठाएग। यिद कैडेट के माता-िपता/अिभभावक की मािसक आय 1500 . से कम हो
और वह कैडेट का जेब खचर् पण
ू त
र् या अथवा आंिशक प से पूरा न कर सकते ह तो सरकार कैडेट
के िलए 140 . प्रितमाह िवततीय
् सहायता सवीकार
् कर सकती है । िवततीय
् सहायता लेने के
इचछ
् ु क उममीदवार
् अपने चुने जाने के बाद शीघ्र ही अपने िजला मिजसट्रे् ट के माधयम
् से
आवेदन पत्र दे सकता है । िजला मिजसट्रे् ट इस आवेदन पत्र को अपनी अनुशस
ं ा के साथ प्रधान
िनदे शक, मानव संसाधन एवं भतीर्, नौसेना मुखयालय,
् नई िदलली-110011
् के पास भेज दे गा।
िटपपणी
् : यिद िकसी सूचना की आवशयकता
् हो तो वह मानव संसाधन एवं भतीर् िनदे शालय, नौसेना मख
ु यालय
् नई
िदलली-110011
् से प्रापत
् की जा सकती है ।
(ग) वायु सेना अकादमी म प्रवेश लेने वाले उममीदवार
् के िलए :
1. एफ (पी) पा यक्रम मे तीन प्रकार से प्रवेश िलया जा सकता है अथार्त सीडीएसई/एनसीसी/एयरमैन।
एक से अिधक माधयम
् से वायु सेना के िलए आवेदन करने वाले उममीदवार
् का वायु सेना के साथ-
् सशसत्र् सेनाओं के िलए वायु सेना चयन बोडर् के समक्ष केवल एक बार
साथ अनय
परीक्षण/साक्षातकार
् िलया जाएगा। एनसीसी अथवा एयरमैन के तौर पर कमप् य
् ट
ू र पायलट चयन
प्रणाली (सीपीएसएस) और/अथवा पायलट एपटी
् यड
ू बैटरी “परीक्षण म िवफल रहने वाले समान
उममीदवार
् को सेना/नौसेना/ओटीए के िलए ओएलक् यू परीक्षण के िलए तभी पुन: बुलाया जाएगा
जब यह पाया जाता है िक उनह् ने सीडीएस परीक्षा के माधयम
् से भी आवेदन िकया है ।”
2. प्रिशक्षण पर भेजना :
वायु सेना चयन बोडर् वारा अनश
ु िं सत और उपयक
ु ् त िचिकतसा
् प्रािधकरण वारा शारीिरक प से
सवस
् थ् पाए जाने वाले उममीदवार
् को वरीयता तथा उपलबध
् िरक् ितय की संखया
् के आधार पर
प्रिशक्षण के िलए भेजा जाता है । डाइरे क्ट एंट्री उममीदवार
् की वरीयता सूची संघ लोक सेवा आयोग
वारा तैयार की जाती है और एनसीसी उममीदवार
् की वरीयता सूची अलग से तैयार की जाती है ।
डायरे क्ट एंट्री उड़ान (पायलट) उममीदवार
् की वरीयता सूची सं.लो.से.आ. वारा िलिखत परीक्षण म
उममीदवार
् के प्रापतां
् क तथा वायु सेना चयन बोडर् म प्रापत
् अंक को जोड़कर तैयार की जाती है ।
राषट्रीय
् कैडेट कोर के उममीदवार
् की वरीयता सूची उनके वारा वायु सेना चयन बोडर् म प्रापत
् अंक
52 

 
के आधार पर तैयार की जाती है ।
3. प्रिशक्षण: वायु सेना अकादमी म उड़ानशाखा (पायलट) के िलए प्रिशक्षण की अविध लगभग 74
सपताह
् होगी।
उड़ान प्रिशक्षण के दौरान बीमा सुरक्षा (दर पिरशोधन के अधीन ह)
वायु सेना ग्रप
ु बीमा सोसाइटी दघ
ु ट
र् ना की सिथित
् म उस लाइट कैडेट के िनकटतम संबंधी को .
800/- प्रितमाह के मािसक अंशदान के िलए 1,00,000/- पए अनुग्रह रािश के प म अदा करे गी जो
िसिवल क्षेत्र से आया हो और उड़ान प्रिशक्षण पा रहा हो। उड़ान प्रिशक्षण पा रहा कोई लाइट कैडेट
यिद सवास
् थ ् य
् की षिट
् से अक्षम हो जाता है और प्रिशक्षण मुक्त कर िदया जाता है तो उसे शत-
प्रितशत अक्षमता के िलए 20,000/- पए अनुग्रह रािश के प म अदा िकए जायगे तथा यह रािश इस
अनुपात म घटकर 20% रह जाती है ।
प्रिशक्षण के दौरान कैडेट ॰ 21,000/- प्रितमाह ( . 15600/- पे बड म और . 5400/- ग्रेड पे) की
िनयत वत
ृ ितका
् प्रापत
् करने के अिधकारी ह। “सफलतापूवक
र् प्रिशक्षण समापत
् करने के पशचात
् दी
जाने वाली वत
ृ ितका
् को सभी प्रयोजन के िलए वेतन म पिरवितर्त कर िदया जाएगा। तथािप,
प्रिशक्षण की अविध को कमीशंड सेवा नहीं माना जाएगा।“
सरकार वारा लाइट कैडेट को एक बार वेतन तथा भतते
् सवीक
् ृ त कर िलए जाने पर मत
ृ य
् ु सरु क्षा
50,000/- पए होगी और शत-प्रितशत अक्षमता सरु क्षा 25000/- पए होगी। वायु सेना ग्रप
ु बीमा
सोसाइटी वारा एक सुरक्षा उड़ान प्रिशक्षण पा रहे प्रतये
् क लाइट कैडेट वारा 76/- पए के मािसक
अप्रितदे य अंशदान के भुगतान करने पर दी जाएगी िजसके िलए सदसयता
् अिनवायर् होगी।
िवततीय
् सहायता पर लागू होने वाली शत :
(i) य यिप आवास, पुसतक,
् वदीर्, ठहराने और िचिकतसा
् उपचार सिहत, प्रिशक्षण का खचर् सरकार
वारा वहन िकया जाएगा तो भी उममीदवार
् से आशा की जाती है िक वे अपना जेब खचर् सवयं
् वहन
कर। वायु सेना अकादमी म प्रितमास कम से कम 14,000/- पए (पिरशोधन के अधीन) से अिधक
खचर् होने की संभावना नहीं है । यिद िकसी कैडेट के अिभभावक या संरक्षक उस खचर् को भी पूणर् प से
या आंिशक प से वहन करने म असमथर् ह तो उसे सरकार वारा िवततीय
् सहायता प्रदान की जा
सकती है । िजस कैडेट के अिभभावक या संरक्षक की मािसक आय 750/- पए या इससे अिधक है वह
िवततीय
् सहायता पाने का हकदार नहीं है । िवततीय
् सहायता के पात्रता िनधार्िरत करने के िलए
अचल संपतित
् तथा अनय
् पिरलबिधयां
् और सभी ोत से होने वाली आय को भी धयान
् म रखा
जाता है । िवततीय
् सहायता प्रापत
् करने के इचछ
् ु क उममीदवार
् के अिभभावक/संरक्षक को अपने
् के वायु सेना अकादमी म प्रिशक्षण हे तु अंितम प से चुन िलए जाने के तरु ं त बाद अपना
पुत्र/बचचे
आवेदन अपने िजले के िजलाधीश के माधयम
् से प्रसत
् त
ु कर दे ना चािहए। िजलाधीश उस आवेदन को
अपनी अनश ं ा सिहत कमांडट, उड़ान पूवर् प्रिशक्षण कोसर्, बेगमपेट को अग्रेिषत कर दे गा।
ु स
(ii) वायु सेना अकादमी म प्रिशक्षण हे तु अंितम प से चुने गए उममीदवार
् को आने पर िनमनिलिखत

रकम (पिरशोधन अधीन) कमांडट के पास जमा करनी है ।
(क) 140 पए प्रितमाह की दर से 6 माह के िलए जेब भतता
् 840 पए
(ख) वसत्र् और उपसकर
् मद के िलए 1500 पए
योग 2340 पए
ुर् ् त रकम म से िनमनिलिखत
उपयक ् रकम कैडेट को िवततीय
् सहायता प्रदान िकए जाने की सिथित
् म
वापस दे य है ।
140 पए प्रितमास की दर से 6 मास के िलए पॉकेट भतता
् - 840 पए।
4. भिवषय
् म पदोननित
् की संभावनाएं :
प्रिशक्षण को सफलतापूवक
र् परू ा करने के बाद उममीदवार
् लाइंग अफसर के रक पर पास आउट होते ह तथा
रक के वेतनमान तथा भतत
् के हकदार हो जाते ह। लाईट लेिपिटनट, सक्
् वाड्रन लीडर, िवंग कमांडर तथा
53 

 
ग्रप
ु कै टन के पद पर समयबद्ध पदोननित
् उड़ान (पाइलट) शाखा की क्रमश: 02 वषर्, 06 वषर्, 13 वषर् तथा
26 वषर् की सफलतापूवक
र् सेवा पूरी करने पर दी जाती है । ग्रप
ु कै टन और उचचतर
् पद म पदोननित
् िसफर्
चयन के आधार पर की जाती है । उदीयमान अिधकािरय के िलए एयर कोमोडोर, एयर वाइस माशर्ल तथा
एयर माशर्ल के पद पर पदोननित
् के अचछे
् अवसर होते है ।
5. छुट्टी और अवकाश यात्रा िरयायत :
वािषर्क अवकाश वषर् म 60 िदन
आकसिमक
् अवकाश वषर् म 20 िदन।
एक बार म अिधकारी परू ी सेवा अविध के दौरान कुल 60 िदन तक की यात्रा म होने वाले प्रासंिगक वयय
् की
पूितर् हे तु अवकाश यात्रा िरयायत (एलटीसी) के साथ 10 िदन तक के वािषर्क अवकाश के िलए नकद भुगतान
प्रापत
् करने हे तु प्रािधकृत है ।
जब भी कोई अिधकारी अपनी सेवा के दस
ू रे वषर् म पहली बार वािषर्क/आकसिमक
् अवकाश लेता है , तो वह
अपने कायर् करने के सथान
् (यिू नट) से गह
ृ नगर तक और वापस अपने कायर् करने के सथान
् तक आने के िलए
िन:शल
ु क ् पाने का हकदार होगा चाहे उसके अवकाश की अविध कुछ भी क् य न हो, और
् वाहन भतता
ततपश
् चात
् प्रतये
् क दस
ू रे वषर् िबना िकसी दरू ी पर प्रितबंध के गह
ृ नगर के बदले म भारत म िकसी भी सथान

के िलए या चयन िकए गए िनवास सथान
् के िलए।
इसके अितिरक् त उड़ान शाखा के अिधकािरय को, जो प्रािधकृत सथापना
् म िरक् ितय को भरने के िलए
ू ी पर तैनात होते ह, अवकाश लेने पर वषर् म एक बार वारं ट पर आने और जाने दोन ओर
िनयिमत उड़ान यट
की 1600 िकलोमीटर की यात्रा तय करने के िलए रे ल वारा उपयक
ुर् ् त क् लास म मु त यात्रा करने की सुिवधा
होगी।
् ु क ह वे कैलडर वषर् म 6 एक तरफा यात्रा फामर् ‘डी’
जो अिधकारी छुट्टी लेकर अपने खचर् से यात्रा करने के इचछ
पर पतनी
् तथा बचच
् के साथ पात्र ेणी अथवा िनमन
् ेणी वारा यात्रा के िकराए का 60 प्रितशत भुगतान
करके यात्रा करने के हकदार ह गे। इसम दो उक् त फामर् ‘डी’ पूरे पिरवार के साथ यात्रा की सुिवधा दी जाएगी।
पिरवार म पतनी
् तथा बचच
् के अलावा अिधकारी पर पूणत
र् या आि त माता-िपता, बहन और नाबािलग भाई
शािमल ह गे।
6. अनय
् सुिवधाएं :
अिधकारीगण तथा उनके पिरवार के सदसय
् िन:शुलक
् िचिकतसा
् सहायता, िरयायती िकराए पर आवास, ग्रप

बीमा योजना, ग्रुप-आवास योजना, पिरवार सहायता योजना, कटीन सुिवधाएं आिद के हकदार ह।
(घ) अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी, चेनने
् म कायर्ग्रहण करने वाले उममीदवार
् के िलए :
1. इससे पूवर् िक उममीदवार
् अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी, चेननई
् म कायर्ग्रहण कर :
(क) उसे उस आशय के प्रमाण पत्र पर हसताक्षर
् करने ह गे िक वह भली-भांित समझता है िक
उसे या उसके वैध वािरस को सरकार से मुआवजा या अनय
् िकसी सहायता के दावे का
कोई हक नहीं होगा, यिद उसे प्रिशक्षण के दौरान कोई चोट या शारीिरक दब
ु ल
र् ता हो जाए
या मत
ृ य
् ु हो जाए या उपयक
ुर् ् त कारण से चोट लगने पर िकए गए ऑपरे शन या ऑपरे शन
के दौरान मिू छर्त करने की औषिध के प्रयोग के फलसव् प ऐसा हो जाए।
(ख) उसके माता-िपता या अिभभावक को एक बॉणड् पर हसताक्षर
् करने ह गे िक िकसी
कारण से जो उसके िनयंत्रण के अधीन मान िलया जाए यिद उममीदवार
् कोसर् परू ा करने
के पव
ू र् वापस जाना चाहे या यिद िदए जाने पर कमीशन सवीकार
् न करे या अिधकारी
प्रिशक्षण अकादमी म प्रिशक्षण प्रापत
् करते हुए शादी कर ले तो िशक्षा, खाना, वसत्र् और
वेतन तथा भतते
् जो उसने प्रापत
् िकए ह, उनकी लागत या उनका वह अंश जो सरकार
िनशिचत
् करे , चुकाने के िजममे
् दार ह गे।
2. जो उममीदवार
् अंितम प से चुने जाएंगे उनह् अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी म लगभग 49 स ताह
का प्रिशक्षण कोसर् पूरा करना होगा। उन उममीदवार
् को जटलमैन/मिहला कैडेट के प म नामांिकत
54 

 
िकया जाएगा। सामानय ् से जटलमैन कैडेट अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी म
् अनुशासन की षिट
िनयम तथा िविनयम के अंतगर्त रहगे।
3. प्रिशक्षण की लागत िजसम आवास, पुसतक
् , वदीर् व भोजन तथा िचिकतसा
् सुिवधा, शािमल है
सरकार वहन करे गी और उममीदवार
् को अपना जेब खचर् सवयं
् वहन करना होगा।
कमीशन पूवर् प्रिशक्षण के दौरान नय
् न
ू तम . 200/- प्रितमास से अिधक होने की संभावना नहीं है ,
िकनत
् ु यिद उममीदवार
् कोई फोटोग्राफी, िशकार खेलना, सैर-सपाटा इतयािद
् का शौक रखता हो तो
उसे अितिरक् त धन की आवशयकता
् होगी। यिद कोई कैडेट यह नय
् न
ू तम वयय
् भी पूणर् या आंिशक
प से वहन नहीं कर सके तो उसे समय-समय पर पिरवतर्नीय दर पर इस हे तु िवततीय
् सहायता दी
जा सकती है । बशत िक कैडेट और उसके माता-िपता/अिभभावक की आय 1500/- . प्रितमास से कम
हो। जो उममीदवार
् िवततीय
् ् करने का इचछ
सहायता प्रापत ् ु क है उसे प्रिशक्षण के िलए अंितम प से
चुने जाने के बाद िनधार्िरत प्रपत्र पर एक आवेदन पत्र िजले के िजला मिजसट्रे् ट को भेजना होगा जो
अपनी सतयापन
् िरपोटर् के साथ आवेदन पत्र को कमांडट, अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी, चैनने
् को
भेज दे गा।
4. अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी म अंितम प से प्रिशक्षण के िलए चन
ु े गए उममीदवार
् को वहां पहुंचने
पर कमांडट के पास िनमनिलिखत
् धनरािश जमा करनी होगी।
(क) 1000/- . प्रितमाह की दर से तीन महीने के िलए जेब खचर् 3,000/- .
भतता

(ख) वसत्र् तथा उपसकर
् की मद के िलए 5,000/- .
(ग) 2 माह के िलए समूह बीमा रािश (एजीआईएफ) 2,000/- .
कुल 10,000/- .
यिद कैडट की िवततीय
् सहायता सवीक
् ृ त हो जाती है तो उपयक
ुर् ् त रािश म से (ख) के सामने दी गई
रािश वापस कर दी जाएगी।
5. समय-समय पर जारी िकए गए आदे श के अंतगर्त पिरधान भतता
् िमलेगा। कमीशन िमल जाने पर
इस भतते
् से खरीदे गए वसत्र् तथा अनय
् आवशयक
् चीज कैडेट की वयक्
् ितगत संपतित
् बन जाएगी।
यिद कैडेट प्रिशक्षणाधीन अविध म तयाग-पत्र
् दे दे या उसे िनकाल िदया जाए या कमीशन से पूवर्
वापस बुला िलया जाए तो इन वसत
् ओ
ु ं को उससे वािपस ले िलया जाएगा। इन वसत
् ओ
ु ं को सरकार के
सव ततम
् िहत को षिटगत
् रखते हुए िनपटान कर िदया जाएगा।
6. सामानयत:
् िकसी उममीदवार
् को प्रिशक्षण के दौरान तयाग-पत्र
् दे ने की अनुमित नहीं दी जाएगी,
लेिकन प्रिशक्षण प्रारं भ होने के बाद तयाग-पत्र
् दे ने वाले जटलमैन/मिहला कैडेट का थल सेना
मुखयालय
् वारा तयाग-पत्र
् सवीकार
् होने तक घर जाने की आज्ञा दी जा सकती है । प्रसथान
् से पूवर्
प्रिशक्षण, भोजन तथा संबद्ध सेवाओं पर होने वाले खचर् उनसे वसूल िकया जाएगा। अिधकारी
प्रिशक्षण अकादमी से उममीदवार
् को भतीर् िकए जाने से पूवर् उनह् तथा उनके माता-िपता/अिभभावक
को इस आशय का एक बांड भरना होगा।
7. अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी म प्रवेश लेने के बाद उममीदवार
् को अकादमी से तयाग-पत्र
् िदए िबना
और प्रिशक्षण के खचर् का भग
ु तान िकए िबना सशसत्र् सेना, नौ-सेना और वायु सेना अथवा िकसी
अनय
् रोज़गार म प्रवेश/आयोग की िकसी प्रकार की परीक्षा/साक्षातकार
् म बैठने की अनम
ु ित नहीं दी
जाएगी। िकनत
् ु उन जटलमैन कैडेट से, जो चयन हो जाने के बाद नौ सेना और वायु सेना म स श
कैडेट प्रिशक्षण संगठन अथवा भारतीय सैिनक अकादमी, दे हरादन
ू म कमीशन पूवर् प्रिशक्षण लेने के
िलए अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी, चे नई से तयाग-पत्र
् दगे उनसे मेस के खचर् सिहत प्रिशक्षण का
कोई खचर् वसूल नहीं िकया जाएगा।
8. िजस जटलमैन/मिहला कैडेट को प्रिशक्षण का संपूणर् कोसर् करने के योगय
् नहीं समझा जाएगा उसे
भारत सरकार वारा िनधार्िरत की गई प्रिशक्षण अविध की लागत अदा करने के बाद सरकार की
55 

 
अनुमित से प्रिशक्षण से हटाया जा सकता है । इन पिरसिथितय
् म सैिनक उममीदवार
् को उनकी
रे िजमट कोर म वािपस भेज िदया जाएगा।
9. प्रिशक्षण :
चुने गए उममीदवार
् को जटलमैन/मिहला कैडेट के प म नामांिकत िकया जाएगा तथा वे अिधकारी
प्रिशक्षण अकादमी म लगभग 49 सपताह
् तक प्रिशक्षण कोसर् पूरा करगे। प्रिशक्षण सफलतापूवक
र्
करने के उपरांत जटलमैन /मिहला कैडेट को प्रिशक्षण के सफलतापूवक
र् पूरा करने की तारीख से
लेि टनट के पद पर अलपकािलक
् सेवा कमीशन प्रदान िकया जाता है । अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी,
चेननई
् म कमीशन पूवर् प्रिशक्षण को सफलतापूवक
र् पूरा करने वाले सभी कैडेट को मद्रास
िवशविव
् यालय रक्षा प्रबंधन और सामिरक अधययन
् म पोसट् ग्रेजुएट िडपलोमा
् प्रदान करे गा।
10. सेवा की शत :
(क) पिरवीक्षा की अविध
कमीशन प्रापत
् करने की तारीख से अिधकारी 6 मास की अविध तक पिरवीक्षाधीन
रहे गा। यिद उसे पिरवीक्षा की अविध के दौरान कमीशन धारण करने के अनप
ु यक
ु ् त पाया
गया तो उसकी पिरवीक्षा अविध के समापत
् होने से पव
ू र् या उसके बाद िकसी भी समय
उसका कमीशन समापत
् िकया जा सकता है । अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी से
अनश
ु ासिनक कारर् वाई के आधार पर वापस िकए जाने वाले उममीदवार
् आवेदन करने के
पात्र नहीं ह गे।
(ख) तैनाती :
अलपकािलक
् सेवा कमीशन प्रापत
् करने पर समय-समय पर आई.एच.क् य.ू /एम.ओ.डी.
वारा यथा िनधार्िरत चुिनंदा िनयुक्ितय पर उनह् भारत या िवदे श म कहीं भी नौकरी पर
तैनात िकया जा सकता है ।
(ग) िनयुक्ित की अविध:
अलपकािलक
् सेवा कमीशन (पु ष एवं मिहला) 14 वषर् की अविध के िलए प्रदान िकया
जाएगा अथार्त प्रारं भ म 10 वषर् जो 4 वषर् की अविध के िलए बढ़ा िदया जाएगा। िनयिमत
थल सेना म अलपकािलक
् सेवा कमीशन पांच वषर् की अविध के िलए प्रदान िकया
जाएगा। जो पु ष अिधकारी सेना म दस वषर् के अलपकािलक
् सेवा कमीशन की अविध के
बाद सेना म सेवा करने के इचछ
् ु क ह गे, यिद हर प्रकार से पात्र तथा उपयक
ु ् त पाए गए तो
संबंिधत िनयम के अनुसार उनके अलपकािलक
् सेवा कमीशन के अंितम वषर् म उनको
सथायी
् कमीशन प्रदान िकए जाने पर िवचार िकया जाएगा।
वे अलपकािलक
् कमीशन प्रापत
् अिधकारी जो कमीशन पूवर् अनुदान के िलए चयिनत
नहीं हुए ह लेिकन वे अनयथा
् योगय
् एवं उपयुक्त माने जाते ह, उनह् 14 वष की कुल
अविध के िलए (10 वषर् की प्रारं िभक अविध सिहत) अलपकािलक
् कमीशन प्रापत

अिधकारी के प म बने रहने का िवकलप् िदया जाएगा। इस अविध की समापित
् पर
उनह् सेवा िनमक
ुर् ् त िकया जाएगा। मिहला अिधकारी सथायी
् कमीशन के पात्र नहीं है ,
तथािप वे 14 वषर् की अविध तक विृ द्ध के िलए अपना िवकलप् दे सकते ह।
(घ) सेवा का पांचवां वषर् परू ा होने पर अलपकािलक
् कमीशन प्रदान करने हे तु िवशेष प्रावधान
:
वे अलपकािलक
् सेवा कमीशन प्रापत ् (गैर-तकनीकी) पु ष व मिहला अिधकारी िजनह् ने
िडग्री इंजीिनयरी कोसर् अथवा इसी प्रकार का कोई अनय
् िवशेषज्ञ कोसर् नहीं िकया हो
अथवा न ही कर रहे ह , जो पांच वषर् पूरा होने पर सेवा छोड़ना चाहते ह उनह् सेवा के 5व
वषर् म सेना मुखयालय
् को सेवा छोड़ने हे तु आवेदन करना होगा। ततपश
् चात
् सेना
मुखयालय
् योगयता
् के आधार पर आवेदन पत्र पर िवचार करे गा और इस संबंध म सेना

56 

 
मुखयालय
् का िनणर्य अंितम तथा अपिरवतर्नीय होगा। अनुमोदन उपरांत इन
अिधकािरय को सेवा के पांच वषर् पूरा होने पर सेवा मुक्त कर िदया जाएगा। लेिकन वे
अलप् सेवा कमीशन प्रापत
् (गैर-तकनीकी) पु ष व मिहला अिधकारी, जो िडग्री
इंजीिनयरी कोसर् या ऐसा ही कोई अनय
् िवशेषज्ञ कोसर् कर रहे ह, वे 14 वषर् की पूरी अविध
समापत
् होने के पहले तब तक कमीशन नहीं छोड़ सकते जब तक िक उनसे ऐसे कोसर्
करने की यथा िनधार्िरत लागत वसूल नहीं कर ली जाती। िवमान चालक के िलए
प्रितरोधक िवमानन कोसर् अिनवायर् है , जो अ पकािलक सेवा अिधकािरय के िलए
िवशेषज्ञ कोसर् है । उनह् िडग्री इंजीिनयरी कोसर् या ऐसे अनय
् िवशेषज्ञ कोस के िलए
नामांिकत होने पर इस आशय का एक बॉणड् भरना होगा।
(ड.) बढ़ाई गई अविध के िलए िवशेष प्रावधान :
बढ़ाई गई अविध के दौरान उनह् िनमनिलिखत
् आधार पर सेना से सेवामक
ु ् त होने की
अनम ु ित दी जाएगी :
(i) िसिवल पद प्रापत
् करने पर
(ii) उचच
् िशक्षा ग्रहण करने पर
(iii) अपना वयवसाय
् आरं भ करने पर/फैिमली वयवसाय
् अपनाने पर
(च) सथायी
् पदोननित
् :
अलपकािलक
् सेवा कमीशन प्रापत
् अिधकारी तथा इन िनयम के तहत अलपकािलक

सेवा कमीशन प्रापत ् मिहला अिधकारी िनमन
् प्रकार से सथायी
् पदोननित
् के पात्र ह गे।
(i) दो वषर् की संगिणत कमीशन सेवा अविध परू ी होने पर कैपटन
् के रक म।
(ii) छ: वषर् की संगिणत कमीशन सेवा अविध परू ी होने पर मेजर के रक म।
(iii) तेरह वषर् की संगिणत कमीशन सेवा अविध परू ी होने पर लेि टनट कनर्ल के रक
म।
(छ) अिनवायर् शत :
सथायी
् कमीशन प्रापत
् अिधकािरय के िलए िनधार्िरत उपयक
ुर् ् त वासतिवक
् रक प्रदान
करने हे तु अिनवायर् शत तथा साथ ही सथायी
् कमीशन प्रापत
् अिधकािरय को यथा
सवीकायर्
् पदोननित
् परीक्षा भाग ख तथा घ हे तु पात्रता, समय सीमा और शाि तयां
अलपकािलक
् सेवा कमीशन प्रापत
् पु ष अिधकािरय तथा अलपकािलक
् सेवा कमीशन
प्रापत
् मिहलाओं पर भी लागू ह गी।
(ज) विरषठता
् का समायोजन :
एस॰एस॰सी॰ पु ष तथा मिहला अिधकािरय और साथ ही सथायी
् कमीशन प्रापत

अिधकािरय के िलए अलपाविध
् प्रिशक्षण को समायोिजत करने के िलए एस॰एस॰सी॰
पु ष व मिहला अिधकािरय की विर ठता के िलये, िवचाराधीन एस॰एस॰सी॰ कोसर् तथा
इसके समतल
ु य
् सथायी
् कमीशन कोसर् की प्रिशक्षण अविध के बीच के अंतर की स श
(कोरे सप िडंग) अविध वारा कम कर िदया जाएगा। इस विरषठता
् के समायोजन को
कैपटन
् का पहला वासतिवक
् रक प्रदान करते समय धयान
् म रखा जाएगा। संशोिधत,
विरषठता
् क्रम से कैपटन,
् मेजर तथा लेि टनट कनर्ल के रक म िदए जाने वाले वेतन
और भतते
् प्रभािवत नहीं ह गे।
(झ) गणना योग्य (रे कनेबल) कमीशन सेवा :
उपयुक
र् ् त पैरा 10(ज) के अंतगर्त िकए गए प्रावधान के अधयधीन,
् इस आदे श के
प्रयोजनाथर्, गणना योगय
् कमीशन सेवा अविध की िगनती, िकसी अिधकारी को
अलपकालीन
् सेवा कमीशन प्रदान करने की ितिथ से की जाएगी। कोटर् माशर्ल अथवा
सेना अिधिनयम के अंतगर्त िकसी दं ड के कारण सेवाकाल म से घटाई गई अविध और
57 

 
िबना अवकाश वाली अनप
ु ि थित की अविध, गणना योगय
् नहीं होगी। फल दर पर
प्रापत
् वेतन वाली अविध और वह अविध गणना योगय
् होगी, जो युद्धबंिदय
(पीओडबल
् य
् )ू के मामले म लागू वेतन दर पर यद्ध
ु बंदी के प म िबताई गई हो। वेतन
रिहत अवकाश प्रदान िकए जाने के पिरणामसव् प िकसी अिधकारी के मामले म सेवा
अविध घटा िदए जाने के कारण उसकी पदोननित
् के प्रयोजनाथर् आवशयक
् सेवा अविध
के कम पड़ने की ि थित म भी घटाई गई उक् त अविध को गणना योगय
् माना जाएगा।
हालांिक, ऐसे अिधकारी, उक् त अविध को गणना म शािमल िकए जाने के
पिरणामसव् प प्रदान िकए गए मूल उचचतर
् रक का वेतन और भतते
् पाने के हकदार
उस तारीख से ह गे, िजस तारीख से उनह् अहर्क सेवा अविध के आधार पर पदोननित

प्रदान की गई होती यिद उक् त अविध को गणना म शािमल नहीं िकया गया होता, न िक
उस तारीख से, िजस तारीख से उनह् मूल रक प्रदान िकया गया है ।
(ञ) अवकाश: समय-समय पर यथासंशोिधत, सेवा अवकाश िनयमावली खंड-I सेना, के
अनस
ु ार अवकाश दे य ह गे।
छुट्टी के संबंध म ये अिधकारी अलपकािलक
् सेवा कमीशन अिधकािरय के िलए लागू
िनयम से शािसत ह गे जो सेना अवकाश िनयमावली खंड-I थल सेना के अधयाय
् पांच म
उलिलिखत
् ह, वे अिधकारी प्रिशक्षण अकादमी के पािसंग आउट करने पर तथा यट
ू ी
ग्रहण करने से पूवर् िनयम 69 म दी गई वयवस
् थाओं
् के अनुसार शािसत ह गे।
एस॰एस॰सी॰ मिहला अिधकारी एस.ए.एल. I/एस/92-एस के अनुसार प्रसूित अवकाश के
िलए पात्र ह गी।
(ट) कमीशन की समापित
् :
िकसी भी अिधकारी के कमीशन को भारत सरकार वारा िनमनिलिखत
् कारण से िकसी
भी समय समापत् िकया जा सकता है :-
(i) कदाचार करने या संतोषजनक प से सेवा न करने पर, या
(ii) सवास
् थ ् य
् की षिट
् से अयोगय
् होने पर, या
(iii) उसकी सेवाओं की और अिधक आवशयकता
् न होने पर, या
(iv) उसके िकसी िनधार्िरत परीक्षा या कोसर् म अहर्ता प्रा त करने म असफल रहने
पर।
तीन महीने के नोिटस दे ने पर िकसी अफसर को क णाज य कारण के आधार
पर कमीशन से याग-पत्र दे ने की अनुमित दी जा सकती है । िक तु इसकी
पूणत
र् : िनणार्यक भारत सरकार होगी। क णाज य कारण के आधार पर
कमीशन से याग-पत्र दे ने की अनुमित प्रा त कर लेने पर कोई अफसर सेवांत
उपदान पाने का पात्र नहीं होगा।
(ठ) सेवांत उपदान :
िसिवल पक्ष से भतीर् िकए गए एस॰एस॰सी॰ओ॰ सेवा की परू ी की गई प्रतये
् क छमाही के
िलए ½ माह की पिरलबिधय
् की दर से सेवांत उपदान के हकदार ह गे।
(ड) िरजवर् के रहने का दाियतव् :
पांच/दस वषर् की अलपकािलक
् कमीशन सेवा या बढ़ाई गई कमीशन सेवा (जैसा भी
मामला हो) पूणर् करने के बाद िनमक
ुर् ् त होने पर पांच वषर् की अविध तक अथवा पु ष
अिधकािरय के मामले म 40 वषर् की आयु तक तथा मिहला अिधकािरय के मामले म 37
वषर् की आयु तक, जो भी पहले हो, िरजवर् म रहगे।
(ढ) िविवध :
सेवा संबंधी अनय
् सभी शत जब तक उनका उपयुक्त उपबंध के साथ भेद नहीं होता है
58 

 
वही ह गी जो िनयिमत अफसर के िलए लागू ह।
*****
 
 
 

59